fbpx Press "Enter" to skip to content

जैविक उद्यान में बाघिन ने बाड़े में आये युवक को मार डाला

  • ओरमांझी के पार्क को एहतियात के तौर पर बंद किया गया

  • सामने युवक को देख बाघिन ने कर दिया था हमला

  • बाड़े में वह कैसे गया इस पर दो किस्म की चर्चा

ओरमांझी: जैविक उद्यान में बाघिन ने एक युवक को मार डाला। बिरसा जूलॉजिकल पार्क

में बुधवार को यह घटना तब घटी जब एक युवक बाघ के बाड़े में गिर गया। युवक को कोई

बचा पाता, इससे पहले ही सिर्फ 5 मिनट में बाघिन ने उस पर हमला कर दिया। युवक की

उम्र 25 वर्ष बतायी जा रही है। उसकी पहचान वसीम अंसारी उर्फ बबलू के रूप में हुई है।

वह रांची के सदर थाना क्षेत्र के खिजुरटोला इलाके का रहने वाला था। घटना की सूचना

मिलते ही मौके पर बिरसा जैविक उद्यान के कर्मचारी और अधिकारी सहित पुलिस

पहुंची। युवक के शव को बाघिन के बाड़े से निकलवा लिया गया है। बाघिन ने युवक के

गर्दन पर पंजे से वारकर उसे मार डाला। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को बाड़े से बाहर

निकाला। वसीम बाड़े में कैसे गिरा? इसे लेकर दो बातें सामने आ रही हैं।

पार्क के कर्मचारी ने बताया कि वसीम बाघिन के बाड़े के पास पेड़ पर झूल रहा था।

इसी दौरान उसका संतुलन बिगड़ गया और वह बाड़े में गिर गया।

वसीम के गिरने के बाद  बाघिन उसके पास पहुंची और पंजा मारकर उसे मार डाला।

वहीं, वहां मौजूद कुछ लोगों का कहना है कि वसीम खुद बाड़े में कूदा है। इसके बाद बाघिन

के पास आने पर उसने उसे प्रणाम भी किया। वसीम अकेले आया था या उसके साथ कोई

था, इसका भी पता लगाया जा रहा है। पुलिस ने पार्क को बंद करवा दिया है।

जैविक उद्यान में तमाम सूचनाओं पर हो रही जांच

युवक शेरनी के बाड़े मैं कैसे गिरा, इसकी जांच कई बिंदुओं को ध्यान में रखकर की जा रही

है। पुलिस को शक है कि युवक ने आत्महत्या करने के मकसद से शेरनी के बाड़े में छलांग

लगायी होगी। हालांकि इस बात की अब तक कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं हो पायी है। वहीं

युवक को बाघिन के बाड़े में छलांग लगाते किसी ने नहीं देखा।

वसीम गैराज में काम करता था। छह माह पूर्व उसकी शादी हुई थी। इसके बाद उसका

तलाक भी हो चुका था। वसीम के परिचितों के अनुसार, वो बिल्कुल स्वस्थ था और सुबह

अपने पिता से 200 रुपए लेकर बिरसा जूलॉजिकल पार्क घूमने आया था।

नवंबर 2018 में हाथी ने महावत को मार डाला था

बिरसा पार्क में नवंबर 2018 में एक हाथी ने महावत महेंद्र को पटक कर मार डाला था।

महावत ने 12 साल तक हाथी की देखभाल की थी। पार्क में जानवरों के बाड़े में सीसीटीवी

कैमरा नहीं है। सिर्फ एंट्री गेट पर ही कैमरा लगा हुआ है।

मार्च 2016 में हैदराबाद से लाई गई थी बाघिन

जिस बाघिन ने बाड़े में गिरे युवक पर हमला करके उसे मार डाला उसे मार्च 2016 में

हैदराबाद के नेहरू ज्यूलॉजिकल पार्क से लाया गया था। अनुष्का नाम की यह बाघिन उस

वक्त चार साल और तीन माह की थी। बाघिन अनुष्का ने मई 2018 में तीन शावकों को

जन्म दिया था।

जैविक उद्यान के बाड़े में कूदा था युवक – पीके वर्मा

वहीं इस मामले पर प्रिंसिपल चीफ कंजरवेटर वाइल्ड लाइफ ने बातचीत में कहा कि मौके

पर मौजूद लोगों के अनुसार, युवक बाड़े में कूद गया था। जिसके बाद शेरनी ने उसे अपना

शिकार बना डाला। उसके बारे में लोगों ने बताया है कि वह अपने पिता से 200 रुपए लेकर

घूमने आया था पार्क।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from अजब गजबMore posts in अजब गजब »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from पर्यावरणMore posts in पर्यावरण »
More from रांचीMore posts in रांची »
More from हादसाMore posts in हादसा »

3 Comments

Leave a Reply

error: Content is protected !!