Press "Enter" to skip to content

यमन की राजधानी साना एयरपोर्ट पर सउदी अरब का हवाई हमला




सानाः यमन की राजधानी के एयरपोर्ट पर सउदी अरब के नेतृत्व वाली सेना की तरफ से हवाई हमला किया गया। इस हवाई अड्डे पर विद्रोहियों का कई वर्षों से कब्जा है। हवाई हमले के बाद यह स्पष्टीकरण जारी किया गया है कि इस हवाई अड्डे का इस्तेमाल सरकारी सेना पर हमले के लिए किया जा रहा था।




यहां से इस्लामी आतंकवादियों का दस्ता सीमा पार भी हमले करने के लिए रॉकेट छोड़ रहा था। बता दें कि वर्ष 2014 से ही यमन में ऐसा युद्ध चल रहा है जिसमें यमन की सेना को सउदी अरब का समर्थन है जबकि आरोप है कि विद्रोही गुट को ईरान से सहायता मिल रही है।

इस हवाई अड्डे को विद्रोहियों ने काफी अरसा पहले ही अपने नियंत्रण में ले लिया था। वैसे यहां से संयुक्त राष्ट्र का सहायता अभियान भी चलाया जा रहा है। सउदी अरब की तरफ से हवाई हमला करने के पहले संयुक्त राष्ट्र के राहत दल को वहां से हट जाने की सूचना दी गयी थी।




हवाई हमला करने के बाद सउदी अरब की तरफ से बताया गया है कि वहां के कुछ खास इलाकों पर ही यह हमला किया गया। इन इलाकों की पहचान विद्रोहियों के पड़ाव के तौर पर पहले ही कर ली गयी थी। इसके बाद कुल छह स्थानवों पर निशाना साधे गये। सेना के प्रवक्ता ब्रिगेडीयर जनरल तुर्की अल मल्की ने कहा कि इन इलाकों से ही विद्रोही ड्रोन की मदद से सीमा पार भी हमला किया करते थे।

यमन की राजधानी के एयरपोर्ट पर विद्रोही पहले से काबिज

यहां पर विद्रोहियों की रसद और युद्ध सामग्री भी रखी गयी थी। जनरल ने स्पष्ट किया कि इन हवाई हमलों के बाद भी हवाई अड्डे पर विमान परिवहन पर कोई बाधा नहीं पहुंची है। सब कुछ पहले के जैसा ही है। वैसे विद्रोहियों की तरफ से इन हवाई हमलों में हुए नुकसान के बारे में कोई जानकारी नहीं दी गयी है। अरब के इलाके में इस लंबे गृहयुद्ध की वजह से अब यमन वहां का सबसे गरीब देश बन गया है। वहां गृहयुद्ध की वजह से भयानक त्रासदी भी है, जहां लोगों को दो वक्त का भोजन उपलब्ध कराने के लिए संयुक्त राष्ट्र की तरफ से राहत अभियान चलाया जा रहा है।



More from HomeMore posts in Home »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from सऊदी अरबMore posts in सऊदी अरब »

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.
%d bloggers like this: