fbpx Press "Enter" to skip to content

घंटाघर भागलपुर के चर्च में प्रभु ईशा मसीह का जन्मदिन मनाया गया




  • सम्मिलित प्रार्थना में शामिल हुए स्थानीय श्रद्धालु

  • कड़ाके की ठंड के बावजूद उत्साह में कमी नहीं

  • नये साल तक चलता रहेगा उत्सव का कार्यक्रम

दीपक नौरंगी

भागलपुरः घंटाघर भागलपुर के चर्च में प्रभु ईशा मसीह का जन्मदिन पूरे धार्मिक श्रद्धा के

साथ मनाया गया। इस गिरजाघर में मध्य रात्रि के दौरान ही ईसाई समुदाय के लोग

एकत्रित होने लगे थे। इस दौरान समारोह का प्रारंभ करते हुए वहां सबसे पहले प्रार्थना

आयोजित की गयी। इस दौरान धर्मगुरु के साथ साथ उपस्थित समुदाय ने भी इसमें

शिरकत की।

वीडियो में देखिये कार्यक्रम का संक्षिप्त विवरण

भागलपुर के इस गिरजाघर को ईसाई समुदाय के इस सबसे प्रमुख समारोह के लिए काफी

भव्य तरीके से सजाया गया था। इस समुदाय के चर्चों में सामूहिक प्रार्थना को सुनना

अपने आप में अद्भूत अनुभूति देता है। यहां भी कुछ वैसा ही नजारा नजर आया। मध्यरात्रि

के बाद प्रभु के जन्म के वक्त जो धार्मिक अनुष्ठान आयोजित किये जाते हैं, उनका पूरी

श्रद्धापूर्वक पालन किया गया। इस दौरान उपस्थित लोगों ने बाइबल के हिस्सों का

सामूहिक पाठ भी किया। समारोह के दौरान वहां भजन भी प्रस्तुत हुए। अत्यंत सुंदर और

सुरीले तरीके से पेश किये गये भजनों ने वहां मौजूद सभी को भावमुग्ध कर दिया।

इस आयोजन के संबंध में वहां मौजूद एक श्रद्धालु जयेश कुमार झा ने इस पूरे आयोजन के

महत्व की जानकारी दी। उन्होंने बेथलहम में प्रभु यीशु से एक गौशाला में हुए जन्म के

घटनाक्रमों का भी संक्षिप्त विवरण देते हुए बताया कि कैसे सारे कार्यक्रमों का आयोजन

किया जा रहा है। श्री झा ने स्पष्ट किया कि वह कई पीढ़ियों से ईसाई धर्मावलंबी हैं और

पूरी श्रद्धा के साथ ऐसे त्योहार को कैसा मनाया जाता है।

घंटाघर के अलावा दूसरे इलाकों में भी एसएसपी का रात्रि दौरा

वैसे इस त्योहार के आयोजन के दौरान घंटाघर के आस पास विधि व्यवस्था की जांच

करते सीनियर एसपी आशीष भारती भी नजर आये। घंटाघर के इस क्षेत्र में आज होने वाले

धार्मिक समारोह को देखते हुए इलाके में पुलिस की भी अतिरिक्त तैनाती की गयी थी।

वैसे इस क्षेत्र के अलावा भी एसएसपी ने इसी दौरान शहर के अन्य इलाकों का भी दौरा

किया। पहले की तरह सभी इलाकों में मध्य रात्रि के बाद भी पुलिस की गश्त और

निगरानी की व्यवस्था दुरुस्त नजर आयी।



Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from इतिहासMore posts in इतिहास »
More from धर्मMore posts in धर्म »
More from भागलपुरMore posts in भागलपुर »
More from लाइफ स्टाइलMore posts in लाइफ स्टाइल »

Be First to Comment

... ... ...
%d bloggers like this: