Press "Enter" to skip to content

बड़े दिन के जश्न पर ओमीक्रॉन का मंडराता साया




बड़ दिन के जश्न यानी क्रिसमस और नये साल के त्योहारों पर फिर से पानी फिर सकता है। यूं तो नए साल और क्रिसमस के त्योहारी सीजन से पहले होटल जश्न की तैयारी कर रहे हैं और सज-धजकर तैयार हो रहे हैं मगर इस बार नए साल पर दो साल पहले तक होने वाला कोई भी बड़ा जश्न या कार्यक्रम नहीं किया जाएगा।




दुनिया के कई देशों में पहले से ही औपचारिक तौर पर इसका एलान कर दिया गया है। कई देशों को नये सिरे से अपने यहां कड़ी पाबंदियां भी लगानी पड़ी है। दरअसल इसकी वजह ओमीक्रोन का तेजी से गहराता साया है, जिससे घबराई सरकारें एक बार फिर भीड़भाड़ पर सख्ती करने लगी हैं।

देश में भी कई स्थानों पर इस कड़ाई के बारे में निर्देश जारी किये जा चुके हैं। मुंबई में चेतावनी जारी करते हुए मुंबईवासियों को क्रिसमस और 31 दिसंबर की रात भीड़भाड़ से दूर रहने की सलाह दी। साथ ही यह भी कहा गया कि बंद स्थानों (हॉल, रेस्तरां) में कुल क्षमता के केवल 50 फीसदी लोग रहेंगे और खुले स्थानों पर क्षमता के 25 फीसदी लोगों को ही जुटने की इजाजत होगी।

बीएमसी ने अपने प्रत्येक वार्ड में निगरानी दस्ते भी तैनात करने का फैसला किया ताकि यह देखा जाए कि निर्देशों का पालन हो रहा है या नहीं। हालांकि मुंबई के नजदीक इमेजिका थीम पार्क में 31 दिसंबर को बड़े जश्न की तैयारी है, जिसमें डीजे, देर रात की राइड्स, मनोरंजन कार्यक्रम और नाइट परेड शामिल है। मगर शहर के ज्यादातर होटल कम चहल-पहल रखेंगे। उनमें मेहमानों के लिए खास मेन्यू और बुफे ही होंगे।

बड़े दिन के जश्न पर भारी रहेगा कोरोना गाइड लाइन

कोरोना की वजह से लगातार नुकसान उठाने वाले होटल, रेस्त्रां और मनोरंजन उद्योग स्थिति में सुधार के बाद अपना घाटा पूरा करने की कोशिशों में जुटे हैं। कई पार्कों ने अब तक जश्न की तैयारी की है तथा खुले में भोजन का तथा राइड्स के लिए वर्चुअल कतारों का विकल्प रखा है ताकि भीड़ कम रहे।

हालांकि शहर के बड़े और मशहूर होटल ओमीक्रोन के खतरे को देखते हुए कोई जोखिम नहीं ले रहे हैं। होटल सहारा स्टार, मुंबई के कारोबार प्रमुख विजय सिंह का कहना है, ‘हम नए साल की पूर्व संध्या पर किसी भी बड़े समारोह का आयोजन नहीं कर रहे है ताकि आखिरी क्षणों में दिशानिर्देश बदलने से हमें परेशानी नहीं हो।

हम अपने रेस्तरां में विशेष रात्रिभोज रखेंगे और बैंक्वेट हॉल किराये पर देने में सरकारी दिशानिर्देशों का पालन करेंगे। वैसे अभी तक शहर के होटलों में नए साल की पूर्व संध्या पर बैंक्वेट कार्यक्रमों की बुकिंग नहीं आ रही है क्योंकि ज्यादातर लोग छुट्टियां मनाने जा रहे हैं।’




फेडरेशन ऑफ होटल ऐंड रेस्टोरेंट एसोसिएशन ऑफ इंडिया (एफएचआरएआई) के उपाध्यक्ष गुरबख्श सिंह कोहली ने अफसोस जताया कि कहा कि होटल और रेस्तरां कोविड-19 के नियमों का पालन सख्ती के साथ करते आए हैं फिर भी खमियाजा उन्हीं को भुगतना पड़ रहा है।

उन्होंने महाराष्ट्र में धारा 144 लागू किए जाने की ओर इशारा करते हुए कहा कि लगातार चेतावनी जारी होने और उसमें अस्पष्टता होने से डर पैदा हो रहा है। कोहली ने कहा कि ज्यादातर नियमों का मतलब आपको खुद समझना होगा, जबकि कायदे में एक जैसे और स्पष्ट नियम होने चाहिए।

संक्रमण और बढ़ गया तो सब कुछ रद्द भी हो सकता है

शनिवार को दिल्ली के जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) ने एयरोसिटी के अंदाज होटल में पंजाबी गायक एपी ढिल्लों का कार्यक्रम रद्द करने का आदेश दिया। इस कार्यक्रम में चार-पांच सौ मेहमान आने की उम्मीद थी मगर प्राधिकरण ने कोविड-19 प्रतिबंधों का हवाला देते हुए कार्यक्रम रद्द करने का आदेश दे दिया।

कर्नाटक की कोविड-19 तकनीकी सलाहकार समिति ने भी 30 दिसंबर से 2 जनवरी तक प्रतिबंध लगाने की सिफारिश की है। दरअसल ओमीक्रॉन संक्रमण के अत्यधिक तेज गति से फैलते जाने की वजह से इस बड़े दिन के आयोजन पर ऐसा खतरा मंडराता हुआ नजर आ रहा है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने पहले ही यह जानकारी दे दी है कि हर डेढ़ से तीन दिन के भीतर अब दुनिया में मरीजों की संख्या दोगुनी होती जा रही है। ऐसे में अगले एक सप्ताह में ओमीक्रॉन का पूरी दुनिया पर क्या प्रभाव होगा, यह अभी से तय कर पाना कठिन है।

लेकिन बड़े दिन के जश्न के आयोजनों से पैसा कमाने वाले सारे उद्योग पूर्व के अनुभवों की वजह से फिलहाल कोई खतरा अथवा अतिरिक्त पूंजीनिवेश नही करना चाह रहे हैं। कारोबार लगातार बंद रहने की वजह से इन लोगों को पहले ही इतना घाटा हो चुका है कि उसके पास अब खतरा उठाने के लिए अतिरिक्त पूंजा का अभाव है। ऐसे में बड़े दिन का जश्न भी भारतवर्ष में कोरोना के साये में कैसा गुजरेगा, इसे समझने के लिए एक सप्ताह और इंतजार तो करना ही पड़ेगा।



More from HomeMore posts in Home »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »

Be First to Comment

Leave a Reply

%d bloggers like this: