कुलभूषण जाधव मामले का असर भारत-पाक संबंधों पर, रद्द हुई द्विपक्षीय वार्ता

भारतीय कोस्‍ट गार्ड के डायरेक्‍ट जनरल और पाकिस्‍तान की मैरिटाइम सिक्‍योरिटी एजेंसी के बीच सोमवार से यह वार्ता

0 1,842

नई दिल्ली :  भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव मामले का असर अब भारत एवं पाक के द्विपक्षीय संबंधों पर भी पड़ने लगा है। सूत्रों के मुताबिक भारत ने शनिवार को पाकिस्तान के साथ द्विपक्षीय वार्ता को रद्द कर दिया है। मालूम हो कि कुलभूषण को पाकिस्तान के सैन्य अदालत ने गत 10 अप्रैल को मौत की सजा सुनाई थी।

इससे पहले पाकिस्‍तान ने दावा किया है कि भारतीय नागरिक जाधव भारत की इंटेलीजेंस एजेंसी रॉ का जासूस था। वही भारत ने पाक के इन आरोपों को सिरे से खारिज करते हुए कहा है कि जाधव के रिटायर होने के बाद इंटेलीजेंस से उसका कोई लेना-देना नहीं है। इस मुद्दे की वजह से भारत और पाकिस्‍तान के रिश्‍तों में फिर से खटास आ गई है। हालांकि जाधव को मुक्त करवाने के लिए भारत की तरफ से कई कूटनीतिक प्रयास किए गए हैं लेकिन इनमें कोई सफलता हाथ नहीं लग सकी है। इसी कड़ी में शनिवार को फिर से दोनों देशों के बीच संबंधों के सामान्‍य होने की कोशिशें पटरी से उतरी गई। भारत ने पाकिस्‍तान के साथ होने वाली द्विपक्षीय वार्ता को रद्द कर दिया। यह वार्ता भारतीय कोस्‍ट गार्ड के डायरेक्‍ट जनरल और पाकिस्‍तान की मैरिटाइम सिक्‍योरिटी एजेंसी के बीच सोमवार से यह वार्ता शुरू होनी थी। लेकिन सरकार ने इसे रद्द करने का फैसला किया।

सूत्रों के माने तो इस वार्ता के लिए पाकिस्तानी एजेंसी के रियर एडमिरल जमील अख्‍तर चार दिनों के दौरे पर भारत आने वाले थे। वह यहां पर 16 से 19 अप्रैल तक वार्ता में शिरकत करने वाले थे। वहीं दोनों देशों के बीच जल सचिव स्‍तर की वार्ता को भी रोक दिया गया है। पाक की तरफ से उनके क्षेत्र में भारतीय जासूसों को पकड़ने का दावा शनिवार को किया गया है। पाकिस्तान सरकार के मुताबिक उसकी सेना ने भारत की इंटेलीजेंस एजेंसी रिसर्च एंड एनालिसिस विंग (रॉ) के तीन एजेंट्स को पाकिस्‍तान अधिकृत कश्‍मीर (पीओके) में पकड़ा है। पाक का कहना है कि उसने यह गिरफ्तारियां कुछ दिनों पहले की हैं। वहीं भारतीय अधिकारियों की ओर से कहा गया है कि उन्‍हें इस बारे में कोई जानकारी नहीं है। उन्‍होंने कहा कि अभी वे, पाकिस्‍तान के दावों की जांच कर रहे हैं। पाकिस्‍तान का यह दावा उस समय किया गया है जब भारत और पाकिस्‍तान के बीच कुलभूषण जाधव के मुद्दे पर पहले ही काफी तनाव है।

You might also like More from author

Comments

Loading...