fbpx Press "Enter" to skip to content

महाराष्ट्र से आये मजदूरों की जांच नहीं लोगों में भय

  • गोला बाजार में दुकानों को बंद कराया गया

  • एक दूसरे से दूरी बनाकर रहे हैं स्थानीय लोग

संवाददाता

गोलाः महाराष्ट्र से आये मजदूरों की वजह से गोला में भय का माहौल बना है। इनके

यहां लौट आने के बाद भी अब तक उनकी जांच नहीं हुई है। दूसरी तरफ महाराष्ट्र में

कोरोना का असर बढ़ते जाने की वजह से स्थानीय लोग आशंकित हो रहे हैं। आज लॉक

डाउन के दूसरे दिन गोला बाजार को पुलिस ने बंद करा दिया। कुछ दुकाने सुबह में खुली

साथ ही डेली मार्केट में किसान अपनी सब्जियाँ लाये, परन्तु प्रशासन ने दुकाने बंद करा

दी। डेली मार्केट में किसान भी अपनी ताजा सब्जियाँ बेचकर जल्दी ही घर लौट गए।

पुलिस अपने गस्ती वाहन से लोगों को कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के उपाय

में सहयोग की अपील की। प्रशासनिक अधिकारी लोगों से घरों में रहने की अपील की

और कहा कि वे बहुत ही जरुरत पड़ने पर ही अपने घरों से बाहर निकले। इधर कोरोना

वायरस के संक्रमण से बचाव के उपाय में ग्रामीणों में सतर्कता दिखाई दी। केनके,

तोयर, हेमतपुर, हरीबांध, पतरातू, कोराम्बे, पूरबडीह गांव में महाराष्ट्र, तमिलनाडु क्षेत्र

से काम कर लौटे मजदूरों से दूरियां बनाकर रह रहे है। साथ ही उन्हें जाँच कराने की

सलाह दे रहे हैं। सलाह नहीं मानने पर प्रशासन को सूचित कर रहे है। बताया जाता है

कि गोला प्रखंड के विभिन्न गांवों तोयर, केनके, हरिबांध, हेमतपुर, पतरातू से महाराष्ट्र

के पूणे और तमिलनाडु के मद्रास में काम करने गए दर्जनों मजदूर दो दिन के अंदर

अपने अपने गांव लौटे हैं। उनके गांव लौटने पर ग्रामीणों में डर का माहौल है। ग्रामीणों

ने गांवों में मजदूरों के वापस लौटने की सूचना जिला प्रशासन को दी है।

महाराष्ट्र से आये मजदूर अपने अपने गांव में हैं

सूचना पर कई मजदूरों को रिम्स भेजा गया, परंतु कई मजदूर बगैर जाँच कराये घर पर

रह रहे हैं। कई ग्रामीणों ने बताया कि हमारे कई रिश्तेदार भी मजदूरी करने के लिए

बाहर गए हुए हैं, जिन्हे हमलोगों ने जहां हो वहीं रहने की सलाह देते हुए उनको वहीं रोक

दिए। ग्रामीणों का यह भी कहना है कि जो बाहर से गांव आ रहे हैं वे पहले अपना जांच

करा ले तब ही वे गांव में आए, जिससे हमलोग भी उनपर किसी तरह का संदेह ना करें।

फैक्ट्री के खुले रहने पर आपत्ति 

गोला के कुसुमडीह स्थित कामेश्वर एलोएज के लॉक डाउन का उलंघन कर मंगलवार

को फैक्ट्री खुला रहने पर ग्रामीणों ने विरोध किया। कामेश्वर एलोएज के प्रबंधन ने

ग्रामीणों से कहा कि उन्हें फैक्ट्री बंद रखने की कोई सूचना नहीं है।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

One Comment

Leave a Reply

Open chat
Powered by