fbpx Press "Enter" to skip to content

वर्क फ्रॉम होम अब समाप्ति की तरफ वशर्ते संक्रमण ना बढ़े

वर्क फ्रॉम होम अब निकट भविष्य में समाप्त होने वाला है। कोरोना संकट के बाद जब

लॉक डाउन लगा तो प्रारंभिक अवस्था में बड़ी कंपनियों के बड़े लोग और बाद में हर कंपनी

ने अपना काम काज किसी तरीके से जारी रखने के लिए अपने अधिकारियों और

कर्मचारियों को इस वर्क फ्रॉम होम के दायरे में शामिल किया था। प्रारंभ में तो हर किसी

को इसका बहुत मजा आया क्योंकि घर पर बैठे बैठे काम करने का आनंद था। जैसे जैसे

दिन बीतने लगे कर्मचारियों को यह बात समझ में आयी कि जिसे वे सुविधा समझ रहे थे,

वह दरअसल गले की फांस थी क्योंकि उनका बॉस अपने बॉस के निर्देश पर अपने

अधीनस्थों को कभी भी काम पर लगा देता था। घर से काम करने वालों को सुबह के आठ

नौ बजे से लेकर रात से नौ से दस बजे तक कार्यालय का काम काज निपटाना पड़ रहा था।

इससे लोग उब भी गये थे। अब संकेत मिल रहे हैं कि कारोबार के गति पकड़ने के कारण

सभी ऐसी कंपनियां फिर से वर्क फ्रॉम होम को बंद कर अपने कर्मचारियों को दफ्तर वापस

लाने की तैयारियों में जुटी हैं। कोविड टीका आने से भी उनका भरोसा थोड़ा बढ़ा है।

हालांकि उद्योग जगत इससे वाकिफ है कि कोरोना का खतरा अभी पूरी तरह टला नहीं है,

इसलिए वे कर्मचारियों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए धीरे-धीरे उन्हें दफ्तर आने के

लिए प्रोत्साहित कर रही हैं। अन्य कंपनियों की तरह टाटा मोटर्स भी सहयोग का रुख

अपना रही है। कंपनी ने 1 फरवरी से अपने कर्मचारियों को बारी-बारी से हफ्ते में एक दिन

कार्यालय आने को कहा था।

वर्क फ्रॉम होम अनुमति देने पर विचार कर रही है

कंपनी के एक कर्मचारी ने कहा, हमें दफ्तर आने से पहले ऐप

के जरिये अपनी सीट बुक करानी पड़ती थी ताकि कार्यस्थल पर शारीरिक दूरी (सोशल

डिस्टेंसिंग) सुनिश्चित हो सके और प्रत्येक मंजिल पर कर्मचारियों की तय संख्या हो।

दक्षिण मुंबई मुख्यालय वाले महिंद्रा समूह ने कर्मचारियों को दफ्तर आने के लिए अभी

नहीं कहा है। वहां कर्मचारियों के लिए कार्यालय आना पूरी तरह से स्वैच्छिक है। कई

कंपनियां हाइब्रिड मॉडल (घर तथा कार्यालय से काम करना) को अपनाने पर ध्यान दे रही

हैं। किसी अन्य बीमारी से पीडि़त या सार्वजनिक परिवहन से यात्रा करने वालों को

फिलहाल कार्यालय नहीं बुलाया जा रहा है।

जेनपैक्ट मध्यम अवधि में 90 फीसदी कर्मचारियों को घरों से काम करने की अनुमति देने

पर विचार कर रही है। कर्मचारियों को प्रशिक्षण, टीम-बिल्डिंग और रणनीतिक बैठकों के

लिए ही कार्यालय आने की जरूरत होगी। टीसीएस ने जून 2021 तक कर्मचारियों को घर

से काम करने की अनुमति दी है। कंपनी के टैलेंट ट्रांसफॉर्मेशन एवं पॉलिसी के वैश्विक

प्रमुख सत्य नारायण मेहता ने कहा, हम अपने कर्मचारियों को टीकाकरण के लिए

प्रोत्साहित कर रहे हैं। नोएडा की कंपनी एचसीएल टेक्नोलॉजिज कोविड-19 से बचाव के

लिए कई स्तरीय उपाय अपना रही है, इनमें टीकाकरण प्रमुख है। एचसीएल के मुख्य

मानव संसाधन अधिकारी अप्पाराव वीवी ने कहा कि टीकाकरण पूरी तरह से स्वैच्छिक

निर्णय होगा। इन्फोसिस भी पात्र कर्मचारियों को टीकाकरण के लिए पंजीकरण कराने के

लिए प्रोत्साहित कर रही है।

कर्मचारियों के बीच आपसी संपर्क कम से कम हो

कंपनी संपर्क रहित कार्यस्थल बनाने के लिए बुक माई सीट

ऐप्लिकेशन और चेहरे की पहचान से उपस्थिति दर्ज करने के लिए डिजिटल तकनीक का

सहारा ले रही है। निजी विमानन कंपनी विस्तारा ने फरवरी के अंतिम हफ्ते से दफ्तर में

कर्मचारियों की संख्या 33 फीसदी से बढ़ाकर 50 फीसदी कर दी है। मेक माई ट्रिप के समूह

मुख्य मानव संसाधन अधिकारी युवराज श्रीवास्तव ने कहा कि कर्मचारियों का मनोबल

बढ़ाने के लिए सुरक्षा के तमाम इंतजाम किए गए हैं। इसके लिए कंपनी डिजिटल

कॉन्फ्रेंसिंग सुविधा का उपयोग करने के लिए प्रोत्साहित कर रही है। कई बहुराष्ट्रीय दवा

कंपनी के कर्मचारी प्रबंधन की अनुमति के  बाद ही दफ्तर आ सकते हैं। कुछेक कंपनियां

अब अपने कर्मचारियों, उनके परिवारों  और परिसर में आने वालों को ऐप के जरिये

स्वास्थ्य जांच करती है। लाइफ इंश्योरेंस  कंपनियों  में क्यूआर कोड आधारित रोस्टर बना

हुआ है। कंपनी अपने सभी कर्मचारियों के टीकाकरण का खर्च वहन करेगी। कंपनी अपने

50 फीसदी कर्मचारियों को कहीं से भी काम करने की अनुमति दे सकती है। कुल मिलाकर

जिन कर्मचारियों की दफ्तर आने की आदत ही चली गयी थी, उसे फिर से एक साल पहले

की दिनचर्या में वापस लाने की तैयारियां चल रही हैं। वैसे इसके बीच देश के कुछ हिस्सों में

नये सिरे से सर उठाते कोरोना संक्रमण का खतरा भी है। मसलन महाराष्ट्र के कई इलाकों

में फिर से लॉक डाउन लगाना पड़ा है।कोरोना संक्रमण को बढ़ने का खतरा मोल लेते हुए

कोई कंपनी इस वर्क फ्रॉम होम से चल रहे काम काज को बिगाड़ना नहीं चाहेंगी।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from कोरोनाMore posts in कोरोना »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »

Be First to Comment

... ... ...
%d bloggers like this: