fbpx Press "Enter" to skip to content

महिलाएं अब अर्ध्य और कढ़ाई चढ़ा रही है कोरोना से बचाव के लिए

पिपरासी, बगहाः महिलाएं अब दैवी शक्ति की मदद से कोरोना संकट से मुक्ति का मार्ग

तलाश रही हैं। वैश्विक महामारी कोरोना के बचाव के लिए जहां पूरा विश्व वैक्सिनेशन,

मास्क, सेनिटाइजर के प्रयोग के साथ शोशल डिस्टेंस व लॉक डाउन जैसे वैज्ञानिक प्रयोग

पर लगे हुए है वही पिपरासी प्रखंड के अलग अलग गांवों में महिलाएं अपने परिवार को

बचाने के लिए दैविक प्रक्रिया अपना रही है। इसके तहत महिलाएं आदि शक्ति से इस

महामारी से निजात पाने के लिए प्रति दिन सुबह व शाम को जल दे रही है वही कई स्थानों

पर कढ़ाई चढ़ा कर देवी माँ को खुश करने में लगी हुई है। प्रखंड के कतकी, बहरिस्थान,

सिसकारी सहित दर्जनों गांव की महिलाएं रोजाना इस कार्य को पूरे श्रद्धा भाव से कर रही

है।

महिलाओं ने बताया कि बच्चों को धार्मिक पुस्तकों को पढ़ने व सुनाने के लिए भी प्रेरित किया जा रहा है

महिलाएं ने बताया कि सरकार द्वारा बताए गए गाइड लाइन जैसे बेवजह घर से न

निकलना, निकलते वक्त मास्क का प्रयोग करना, नियमित अंतराल पर साबुन से हाथ

घोना, शोशल डिस्टेंस का पालन करना, भीड़ से बचना को तो पूर्ण रूप से मनना ही है

लेकिन पूजा अर्चना से भी दैविक शक्तियों को खुश करना आवश्यक है। महिलाएं ने

बताया कि हम लोगों के इस अभियान में वैज्ञानिक कारण भी सम्लित है। जैसे कि रोजाना

सुबह शाम पूरे परिवार को स्नान आधी करते है, साफसफाई से खुद रहते है और आसपास

भी साफसफाई रखते है। पूजा स्थल गांव के आसपास ही होता है इस लिए उक्त स्थान भी

साफ रहते है। इस तरह वैज्ञानिक रूप से भी सफाई को बढ़ावा दिया जा रहा है वही पूजा

पाठ कर बच्चों को धार्मिक रूप से भी सुदृढ़ किया जा रहा है। महिलाओं ने बताया कि लॉक

डाउन के दौरान विद्यालय बन्द होने के कारण बच्चों को पूजा विधि बताने के साथ

धार्मिक पुस्तकों को पढ़ने व सुनाने के लिए भी प्रेरित किया जा रहा है। समाजसेवी दिनेश

पांडेय ने बताया कि लॉक डाउन के दौरान पिछले बार धार्मिक धारावाहिकों का प्रसार हुआ

था जिसमें लोगों को काफी फायदा हुआ था इस बार यह सब प्रसारण नही हो रहे है इसको

देखते हुए घर पर परिवार के साथ बैठ कर धार्मिक पुस्तकों का पाठ करने से आत्म

विश्वास बढ़ता है। इस लिए इस समय सभी लोगों को लॉक डाउन के दौरान बच्चों में

धार्मिक भावना को बढ़ावा देकर आत्म विश्वास बढ़ाना चाहिए।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from धर्मMore posts in धर्म »
More from बिहारMore posts in बिहार »
More from महिलाMore posts in महिला »

Be First to Comment

... ... ...
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: