Press "Enter" to skip to content

चुनाव का एलान हो तब समर्थन और विरोध की सोचेंगेः टिकैत




कैरानाः चुनाव का एलान होने के बाद ही यह तय करेंगे कि किसका समर्थन करना है और किसका विरोध। वैसे यह राय व्यक्त करने के साथ साथ उन्होंने स्पष्ट कर दिया कि उनके पास सिर्फ उनका अपना एक ही वोट हैं। यह वोट वह किसे देंगे, यह नहीं बतायेंगे क्योंकि यह एक गोपनीय संवैधानिक प्रक्रिया है।




यहां किसान महापंचायत में भाग लेने आये राकेश टिकैत ने मौजूद किसानों को बहुत संभलकर और किसान से संबंधित मुद्दों पर हर पल सतर्क रहने की अपील की। उन्होंने कहा कि सरकारों ने जो आश्वासन दिया है, उस पर उन्हें काम करने का मौका दिया जाना चाहिए।

उन्होंने मंच से कहा कि सरकार ने सभी मुद्दों पर विचार के लिए कमेटी गठित कर किसानों के प्रतिनिधियों के साथ वार्ता कर अंतिम फैसला लेने की बात कही है। इसलिए सभी को अभी और सावधान रहने की जरूरत है।

इससे पहले गाजीपुर बॉर्डर पर अन्य किसानों के साथ बैठे श्री टिकैत ने कहा कि यह भी पूरे देश को देखना और समझना चाहिए कि आंदोलन स्थगित होने के बाद भी कितने किसान यहां मौजूद हैं।




यह सारे लोग क्रमवार तरीके से अपने अपने घर लौट रहे हैं क्योंकि संयुक्त किसान मोर्चा ने सारा कार्यक्रम बहुत सोच समझकर ही बनाया है। आंदोलन की समाप्ति के बाद तनावरहित अंदाज में उन्होंने पत्रकारों के सवालों का उत्तर तो दिया लेकिन उत्तरप्रदेश में किसे अपना समर्थन देंगे, इस सवाल को बड़ी चालाकी से टाल गये।

चुनाव का एलान होने के पहले किसानों को सतर्क किया

उनके मुताबिक उनके पास सिर्फ अपना वोट है। समर्थन या विरोध के सवाल पर उन्होंने कहा कि यह सारी भविष्य की बातें हैं क्योंकि अब तक को आदर्श आचार संहिता लागू भी नहीं हुआ है।

अगर सरकार ने अपना वादा पूरा नहीं किया तो आपलोग क्या करेंगे, के सवाल को भी श्री टिकैत टाल गये और कहा कि यह सब काल्पनिक बातें हैं। अभी तो संयुक्त किसान मोर्चा ने जो सर्वसम्मत फैसला लिया है, उसी का पालन हो रहा है।

वैसे उन्होंने कहा कि अपनी मांगों को दृढ़ता के साथ सरकार के समक्ष रखने का जो तरीका किसानों ने दिखाया है, वह पूरे देश के लिए एक संदेश है। लखीमपुर खीरी के मामले में पूछे गये एक सवाल पर श्री टिकैत ने कहा कि अभी यह मामला अदालत में विचाराधीन है। इसलिए उस पर कुछ कहना उचित नहीं होगा।



More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from बयानMore posts in बयान »

Be First to Comment

Leave a Reply

%d bloggers like this: