fbpx Press "Enter" to skip to content

सिर्फ गुप्तेश्वर पांडेय ही क्यों हर समझदार का चुनावी राजनीति में स्वागत है

  • भागलपुर के विधायक अजीत शर्मा से कई मुद्दों पर सीधी बात चीत

  • भोला पुल के मुद्दे पर भी सीधे सवाल का सीधा जबाव

  • अब जनता प्रत्याशी देखकर ही मतदान किया करती है

  • बेटा तो अमेरिका में नौकरी करता है जनता  कहेगी तो देखेंगे

  • अब तक भोला पुल का नहीं बनना भाजपा की राजनीति का हिस्सा है

दीपक नौरंगी

भागलपुरः सिर्फ गुप्तेश्वर पांडेय के नाम पर लोगों को एलर्जी क्यों है। एक समझदार और

व्यापक प्रशासनिक अनुभव वाला व्यक्ति अगर विधायक बनता है तो यह समाज के लिए

कुछ अच्छा ही करेगा। सेवानिवृत्ति के तुरंत बाद चुनाव लड़ने का एलान करने वाले बिहार

के पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय के सवाल पर भागलपुर के विधायक अजीत शर्मा ने यह

प्रतिक्रिया दी।

वीडियो में देखिये उन्हें हर विषय पर क्या कहा

 

श्री शर्मा ने कहा कि सिर्फ वह पुलिस अधिकारी हैं, इसलिए उनका चुनाव लड़ना अनुचित

है, यह कहना ही गलत है। इतने दिनों तक सरकारी सेवा में होने का अनुभव भी होता है।

इस अनुभव का लाभ अगर बिहार की जनता को किसी न किसी रुप में मिले तो यह राज्य

के फायदे की बात है। वैसे इससे संबंधित सवाल पर उन्होंने कहा कि वह व्यक्तिगत तौर

पर डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय से कभी नहीं मिले हैं। श्री शर्मा ने स्पष्ट किया कि बिना काम

के वह वैसे भी किसी अधिकारी से मिलते नहीं हैं। इसलिए दोनों के बीच कभी कोई ऐसा

संयोग नहीं रहा कि मुलाकात हो।

बिहार के चुनावी परिदृश्य पर श्री शर्मा ने कहा कि यह माहौल बहुत तेजी से बदलता जा

रहा है। अब मतदाता पार्टी कम और प्रत्याशी के निजी छवि पर अधिक ध्यान देते हैं।

इसलिए चुनाव में जीत हासिल करने के लिए प्रत्याशी का निजी योगदान क्या है, यह आज

के दिन में ज्यादा महत्वपूर्ण हो गया है। इसी विषय पर उन्होंने कहा कि भागलपुर की

जनता ने भी इससे पहले वर्तमान केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे का कार्यकाल देखा है। पिछले

दो चुनावों से यहां के मतदाता अजीत शर्मा को भी देख रहे हैं। इसलिए यह फैसला जनता

को करना है कि कौन प्रत्याशी बेहतर तरीके से उनकी सेवा कर सकता है।

एक सवाल के उत्तर में उन्होंन कहा कि उनका पुत्र फिलहाल अमेरिका में नौकरी कर रहा

है। इसलिए राजनीतिक विरासित पुत्र को सौंपने का कोई सवाल नहीं है। हां अगर क्षेत्र की

जनता की तरफ से मांग उठेगी तो इस पर पुत्र से विचार के उपरांत ही कोई फैसला लिया

जाएगा लेकिन फिलहाल ऐसी कोई संभावना नहीं है।

सिर्फ भोलापुर की आलोचना पर भी श्री शर्मा ने सफाई दी

भागलपुर के भोलापुल के मुद्दे पर भी उनसे सवाल पूछा गया था। उन्होंने खुद भी अपने पूर्व

के चुनाव में इसके बारे में चर्चा की थी। लेकिन यह काम अब तक पूरा नहीं हो पाया है।

काम नहीं होने के आरोप विधायक पर लगने का सवाल पर श्री शर्मा ने कहा कि

विधानसभा के अंदर और बाहर वह लगातार आवाज उठाते रहे हैं। काम नहीं होने के सवाल

पर श्री शर्मा ने कहा कि ऐसी चर्चा है कि भाजपा के लोग यह कहते फिरते हैं कि यह काम

होने पर इसका श्रेय अजीत शर्मा को मिल जाएगा, इसी वजह से इस काम को मुख्यमंत्री

नीतीश कुमार से कहकर लगातार रोका जा रहा है। लेकिन वह विधायक रहें अथवा ना रहें,

भोला पुल का काम पूरा कराना उनकी प्राथमिकता में शामिल विषय है।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from बयानMore posts in बयान »
More from बिहार विधानसभा चुनाव 2020More posts in बिहार विधानसभा चुनाव 2020 »
More from राज काजMore posts in राज काज »
More from राजनीतिMore posts in राजनीति »
More from वीडियोMore posts in वीडियो »

3 Comments

Leave a Reply

error: Content is protected !!