Press "Enter" to skip to content

कोरोना के फैलने की फिर से जांच करेगा विश्व स्वास्थ्य संगठन




जेनेवाः कोरोना के फैलने की फिर से गहन जांच होगी। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने फिर से यह जांच करने की बात कही है।




दरअसल पूर्व की जांच के प्रति दुनिया के अनेक वैज्ञानिकों द्वारा संदेह व्यक्त किये जाने तथा जांच दल में शामिल एक सदस्य के वुहान की प्रयोगशाला से जुड़े होने की वजह से फिर से कोरोना के फैलने के असली कारणों का पता लगाने का यह काम किया जा रहा है।

अब तक यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि चमगादड़ों का यह वायरस आखिर स्वाभाविक तौर पर इंसानों तक पहुंचा है अथवा वुहान की प्रयोगशाला से यह वायरल लीक किया गया है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने दुनिया भर से आये सात सौ आवेदनों में से 26 नामों का चयन किया है, जो इस काम को अंजाम देंगे। कोरोना की फैलने की दोबारा होने वाली जांच में जिन्हें शामिल किया जा रहा है, उनमें से सभी इस विधा के विशेषज्ञ हैं।

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने बताया कि इस जांच दल में नेदरलैंड के एरामूस मेडिकल सेंटर के मैरियोन कूपमैंस, बर्लिन के इंस्टिट्यूट ऑफ वायरोलॉजी के क्रिस्टियन ड्रोस्टन तथा बीजिंग इंस्टिट्यूट ऑफ जिनोमिस्क के यूंगुई यांग हैं।

यह दल नये सिरे से इस बात को समझने की कोशिश करेगा कि दरअसल यह वायरस इंसानों तक किस रास्ते से होकर पहुंचा और जानकारी नहीं होने के अभाव में पूरी दुनिया में फैल गया




विश्व स्वास्थ्य संगठन के इस एलान से यह भी स्पष्ट हो गया है कि इस जांच में भी चीन की सरकार का दखल रहेगा। चीन के प्रभाव का आरोप अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पहले ही इस डब्ल्यूएचओ पर लगाया था।

कोरोना के फैलने की पहली दलील खारिज हो चुकी है

दूसरी तरफ दुनिया के अनेक वैज्ञानिक यह आशंका व्यक्त कर रहे हैं कि कोरोना के फैलने की असली वजह उस प्रयोगशाल से ही कृत्रिम तौर पर विकसित वायरस हैं।

जो प्राकृतिक वायरस से भिन्न है। इसके अलावा भी वहां वायरस के फैलने के बारे में चीन की तरफ से जो सूचनाएं दी गयी थी, वे बाद की जांच में गलत प्रमाणित हुई हैं।

वैसे डब्ल्यूएचओ के इस एलान पर चीन के सरकार की प्रतिक्रिया नहीं आयी है, जिसमें पहले ही यह साफ कर दिया था कि वह अब किसी और जांच की इजाजत नहीं देगी।

चीन बार बार कोरोना के फैलने पर उसके प्रयोगशाला पर लगने वाले आरोपों का खंडन करता आ रहा है।



More from HomeMore posts in Home »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from विश्वMore posts in विश्व »

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.