fbpx Press "Enter" to skip to content

प्लाज्मा ट्रिटमेंट के नाम पर झारखंड में चल क्या रहा है

  • इटकी के चिकित्सक की अनुसंशा पर कोई काम नहीं

  • आइसीएमआर ने पांच राज्यों को दी अनुमति

  • दिल्ली में कुछ लाभ के बाद  प्रारंभ कर दिया है शोध

  • केरल पहले से ही इस चिकित्सा पद्धति के पक्ष में

संवाददाता

रांचीः प्लाज्मा ट्रिटमेंट से कोरोना के मरीजों के इलाज की बात जोर पकड़ रही है। इसके

लिए काफी कुछ पूरे देश में होने के दौरान यह बात दरकिनार हो चुकी है कि इटकी के एक

डाक्टर ने गत 30 मार्च को अपने शोध के आधार पर इस विधि को आजमाने की बात कही

थी।

इस बीच इंडियन काउंसिल फॉर मेडिकल रिसर्च ने पांच राज्यों को इस पर ईलाज परीक्षण करने की अनुमति दे दी है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और वहां के चिकित्सा प्रभारी ने इस बारे में एक पत्रकार सम्मेलन में इसके बारे में न सिर्फ बताया बल्कि कोरोना से ठीक हो चुके मरीजों से प्लाज्मा दान करने की अपील भी की है।

इटकी के डॉ रंजीत कुमार ने इस बारे में बताया कि उनके पास इस बारे में जो कुछ

जानकारी थी, उसी के आधार पर उन्होंने कोरोना के ईलाज में इस विधि को आजमाने की

वकालत करते हुए इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च को चिट्ठी भेजी थी। आज हुई

बात-चीत में उन्होंने कहा कि पत्र भेजने के बाद दूसरी तरफ से उन्हें कोई उत्तर नहीं मिला

है। लेकिन वह मानते हैं कि इस विधि को गहन तरीके से आजमाया और उसके हरेक गुण

दोष का विश्लेषण किये जाने की जरूरत है। ऐसा वह अपने पढ़ाई और अनुभव के आधार

पर राय व्यक्त कर रहे हैं।

प्लाज्मा ट्रिटमेंट के इस प्रस्ताव की जानकारी दूसरों को भी

उक्त डाक्टर की पेशकश की जानकारी रांची के अनेक डाक्टरों को पहले से थी। लेकिन अब

लगातार इस बात के संकेत मिल रहे हैं कि कुछ निजी अस्पताल इस प्लाज्मा विधि पर

होने वाले अनुसंधान को अपने कब्जे में लेने की साजिश रच रहे हैं। इस साजिश में कुछ

डाक्टर भी शामिल हैं, यह भी स्पष्ट होता जा रहा है। दूसरी तरफ केरल और दिल्ली मे

प्लाज्मा विधि से कोरोना के मरीजों का ईलाज का काम आगे चल रहा है। गत 30 मार्च की

अनुसंशा के बाद भी पिछले 23 दिनों से रांची के चिकित्सक के पत्र पर कार्रवाई क्यों नहीं

हुई, यह आज के दौर में महत्वपूर्ण सवाल बन चुका है।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from झारखंडMore posts in झारखंड »
More from रांचीMore posts in रांची »

4 Comments

Leave a Reply

error: Content is protected !!