fbpx Press "Enter" to skip to content

माणिक चौक के पास भी गंगा में दिख सकती है कोरोना मृत मरीजों की लाशें

  • हर लाश का अंतिम संस्कार करन का निर्देश जारी

  • सरकार के निर्देश के बाद पुलिस प्रशासन चौकस

  • नावों से भी पूरी गंगा में हो रही है नजरदारी

राष्ट्रीय खबर

मालदाः माणिक चौक के पास भी गंगा में बहकर आने वाली लाशें आने की संभावना

जतायी गयी है। इस सूचना के बाद स्थानीय पुलिस ने संबंधित इलाकों की गहन छानबीन

की। वैसे अब तक पूरे गंगा में ऐसी लाश नजर आने की कोई सूचना नहीं मिली है। कोरोना

से मरने वालों को आर्थिक और अन्य परेशानियों की वजह से उत्तर प्रदेश और बिहार मे

गंगा में बहाया जा रहा है। इस पर राजनीति भी गरमायी हुई है। गंगा में लाशों के बहने की

सूचना के बाद से राज्य सरकार ने सभी संबंधित जिलों को अतिरिक्त सतर्कता बरतने का

निर्देश दिया है। इसी वजह से अब मोटरबोट से भी इलाकों की नजरदारी हो रही है। रात को

भी मोटरबोट में सर्च लाइट लगाकर गश्ती जारी है।

सरकार ने स्पष्ट कर दिया है कि अगर कोई ऐसी लाश पुलिस बरामद करे तो कोरोना

गाइड लाइन के तहत लेकिन पूरे सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया जाए।

सरकारी सूचना के मुताबिक विभिन्न कारणों से अभी तीन राज्यों से कोरोना से मरने

वालों की लाशों को गंगा में बहाया जा रहा है। माणिक चौक के पास ही उनके नजर आने

की सबसे अधिक उम्मीद है। इसी वजह से गुरुवार की सुबह से पूरे इलाके में लाशों की

तलाश में कड़ी नजरदारी जारी है। इस काम के लिए मछुआरों के एक संगठन को भी

जिम्मेदारी सौंपी गयी है। जिलाधिकारी राजर्षि मित्र ने कहा कि यह निर्देश सीधे मुख्यमंत्री

सचिवालय से ही आया है। मिली जानकारी के मुताबिक माणिक चौक के अलावा कालिया

चौक के 2 और तीन नंबर ब्लॉक के अफसरों को खास हिदायत दी गयी है। इन्हीं इलाकों में

लाश पहले नजर आ सकते हैं।

माणिक चौक के पास ही सबसे पहले लाशें बहकर आयेंगी

इसके लिए अलग से दस से 12 नाव भी लगाये गये हैं, जो पूरी गंगा नदी के इलाकों की

छान बीन करते हुए घूम रहे हैं। जो मछुआरे नदी में जाते हैं, उन्हें भी यह हिदायत दी गयी

है कि अगर उन्हें भी कोई लाश नजर आये तो वह सबसे करीब के पुलिस को इसकी सूचना

दें। सभी लाशों का पूरे सम्मान के साथ संस्कार किया जाएगा। वैसे कल मगरमच्छ नजर

आने के बाद से ही स्थानीय लोग गंगा का जल इस्तेमाल में नहीं ला रहे हैं। अब चर्चा यह

फैल गयी है कि लाशों के आने की वजह से ही मगरमच्छ इस इलाके में आ गये ह । वैसे

पुलिस के डीएसपी प्रशांत देवनाथ ने कहा कि राज्य सरकार के निर्देश के मुताबिक पूरे

इलाके में गश्ती की जा रही है। निर्देश के मुताबिक लाश बरामद होते ही खाली स्थान पर

कोरोना गाइड लाइन का पालन करते हुए इन लाशों का अंतिम संस्कार कर दिया जाएगा।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from एक्सक्लूसिवMore posts in एक्सक्लूसिव »
More from कोरोनाMore posts in कोरोना »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from धर्मMore posts in धर्म »
More from राज काजMore posts in राज काज »

Be First to Comment

... ... ...
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: