Press "Enter" to skip to content

पानी का बहाव तेज होने के बाद तेनुघाट डैम के दो फाटक खोले गये देखें वीडियो

गोमिया : पानी का बहाव तेज हो रहा है। इसी वजह से तेनुघाट डैम में भी पानी तेजी से भर

रहा है। डैम के जलस्तर को देखते हुए इस डैम के दो फाटक एक एक कर खोले गये हैं।

पहले तो एक फाटक ही खोला गया था लेकिन उसके बाद भी पानी का स्तर ऊपर आने की

वजह से दूसरा फाटक भी खोला गया। डैम के दोनों फाटक खोले जाने के बाद अब नदी में

लगभग 35000 हजार क्यूसेक प्रति सेकेंड के हिसाब से पानी बहाव हो रहा।

डैम खोले जाने के बाद देखें वहां का नजारा

वहीं प्रशासन ने नदी के किनारे बसे लोगो को नदी में जाने से मना कर दिया है। साथ ही

वहीं सूचना जारी कर दिया है कि अपने अपने मवेशियों को भी बांध कर रखे। डैम डिवीज़न

के कार्यपालक अभियंता श्याम किशोर प्रसाद सिंह ने फोन पर बताया कि डैम में पानी

रखने की क्षमता 852 फीट की है लेकिन मानसून को देखते हुए हम लोग पहले से सतर्क है

फाटक खोलने से अभी पानी का लेबल 842 फीट हो गया है अभी डैम में पानी का जल स्तर

बढ़ रहा है रात तक पानी का स्तर सामान्य होने की संभावना है। तेनुघाट बांध प्रमंडल,

बाढ़ नियंत्रण कोषांग के नोडल पदाधिकारी पंकज कुमार ने बताया कि तेनुघाट बांध पर

एक अतिरिक्त गेट खोला गया। बुधवार को अपराह्न् 2 बजे तेनुघाट बांध का एक

अतिरिक्त गेट खोला गया, जिससे दामोदर नदी का जलस्तर बढ़कर लगभग 3500/99.19

क्यूसेक/क्यूबिक मीटर प्रति सेकंड हो गया। कुल 2 गेट खुले रहेंगे।

पानी का बहाव तेज हुआ तो और गेट खोले जाएंगे

आवश्यकता पड़ने पर और गेट खोला जा सकता है। प्रिंसिपल सेक्रेटरी इरिगेशन एंड वाटर

वेस डिपार्टमेंट गवर्नमेंट ऑफ वेस्ट बंगाल, कार्यपालक अभियंता तेनुघाट बांध प्रमंडल,

अधीक्षण अभियंता तेनुघाट बांध अंचल, मुख्य अभियंता जल संसाधन विभाग

हजारीबाग, मुख्य अभियंता योजना एवं मॉनिटरिंग आयोजन, जल संसाधन विभाग रांची,

उपायुक्त बोकारो, पुलिस अधीक्षक बोकारो, उपायुक्त धनबाद, पुलिस अधीक्षक धनबाद,

अनुमंडल पदाधिकारी बेरमो, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी बेरमो, डी डी एम ए बोकारो,

एमआरओ डी भी सी, अधीक्षण अभियंता सीडब्ल्यूसी मैथन, बीडीओ गोमिया, बीडीओ

पेटरवार, बीडीओ चंद्रपुरा, बीडीओ बेरमो, बीडीओ जरीडीह आदि पदाधिकारियों को सूचित

कर अलर्ट किया गया। नदी के किनारे रहने वाले लोगों को सचेत किया गया है कि वह नदी

किनारे नही जाए क्योंकि नदी के तेज बहाव के चपेट में आ सकते हैं। पानी बढ़ने पर और

गेट खोला जा सकता है।

Spread the love
More from HomeMore posts in Home »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from बोकारोMore posts in बोकारो »
More from मौसमMore posts in मौसम »
More from वीडियोMore posts in वीडियो »

Be First to Comment

... ... ...
error: Content is protected !!
Exit mobile version