fbpx Press "Enter" to skip to content

घरेलू क्रिकेट के बेताज बादशाह वसीम जाफर ने लिया सन्यास

मुंबईः घरेलू क्रिकेट के बेताज बादशाह और रणजी ट्रॉफी के लीजेंड कहे जाने वाले मुंबई के

42 वर्षीय बल्लेबाज वसीम जाफर ने क्रिकेट के सभी प्रारूपों को शनिवार को अलविदा कह

दिया। जाफर ने प्रथम श्रेणी करियर में 260 मैचों में 50.67 के औसत से 19410 रन बनाये

जिसमें 57 अर्धशतक और 91 अर्धशतक शामिल हैं। उनका सर्वाधिक स्कोर नाबाद 314

रन रहा है और उन्होंने 299 कैच लिए हैं। जाफर ने लिस्ट ए में 118 मैचों में 4849 रन और

23 टी-20 मैचों में 616 रन बनाये। घरेलू क्रिकेट के इस दिग्गज बल्लेबाज ने भारत के लिए

31 टेस्ट और दो वनडे खेले जिसमें उन्होंने क्रमश: 1944 रन और 10 रन बनाये। जाफर ने

भारत के लिए अपना टेस्ट पदार्पण फरवरी 2000 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ मुंबई में

किया था और उनका आखिरी टेस्ट अप्रैल 2008 में कानपुर में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ

ही था। जाफर ने टेस्ट मैचों में पांच शतक और 11 अर्धशतक लगाए तथा उनका सर्वाधिक

स्कोर 212 रन था। इस सत्र में विदर्भ के लिए रणजी ट्रॉफी खेलने वाले जाफर ने इस सत्र में

भी अच्छी बल्लेबाजी की थी और उन्होंने केरल के खिलाफ अपने नागपुर में अपने आखिरी

रणजी मैच में 57 रन बनाये थे। जाफर ने इस सत्र में दिल्ली के खिलाफ 83 और 40 रन

तथा राजस्थान के खिलाफ 60 रन बनाये। उन्होंने सत्र शुरू होने से पहले ही संन्यास लेने

के संकेत दिए थे क्योंकि फिटनेस उनके लिए एक बड़ा चैलेंज था। 42 वर्ष की उम्र में भी

घरेलू क्रिकेट में निरंतर भाग लेना ही उनकी फिटनेस का सबसे अच्छा उदाहरण था।

अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से दूर होने केबाद भी क्रिकेट के प्रति उनका लगाव ही उन्हें भारतीय

घरेलू क्रिकेट के मैदान का बेताज बादशाह बनाये रखा।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Be First to Comment

Leave a Reply

Open chat
Powered by