fbpx Press "Enter" to skip to content

वोडाफोन आइडिया ने दो राज्यों के उपभोक्ताओं को दी कई किस्म की जानकारी


रांची : वोडाफोन आइडिया मोबाइल सेवा प्रदाता कंपनी ने कोराना महामारी के चलते मौजूदा लॉकडाउन के दौरान

लोगों के महत्वपूर्ण भूमिका अदा की है। इस दौर में जब लोगों के घर से निकलना बंद है तो लोगों के लिए नेटवर्क

बेहद महत्वपूर्ण है, जो उन्हें न केवल अपने प्रियजनों के साथ जोड़े हुए है, बल्कि घर से काम करने में भी मदद कर

रहा है। वोडाफोन आइडिया के इंजीनियर पिछले कुछ सप्ताहों से बिहार और झारखण्ड के उपभोक्ताओं के लिए

लगातार काम कर रहे हैं, ताकि ये लोग अपने घर पर सुरक्षित रह सकें और वोडाफोन आइडिया के 4 नेटवर्क का

लाभ उठा सकें। लॉकडाउन के दौरान कंपनी के रीटेल आउटलेट अपना संचालन नहीं कर रहे हैं, ऐसे में वोडाफोन

आइडिया फीचर फोन इस्तेमाल करने वाले 2ळ उपभोक्ताओं को एसएमएस और मिस्ड कॉल के जरिए क्विक

रीचार्ज की सुविधाएं दे रहा है। उपभोक्ता अपने नजदीकी बैंक एटीएम से भी अपना फोन रीचार्ज कर सकते हैं।

वोडाफोन आइडिया की कस्टमर सर्विस टीम उपभोक्ताओं को वीडियो लिंक, जीआईएफ, डॉकेट के माध्यम से

डिजिटल प्लेटफॉर्म्स के फायदों के बारे में जानकारी दे रही है, साथ ही उपभोक्ताओं को रीचार्ज एवं बिल भुगतान के

आसान तरीकों के बारे में बताया जा रहा है। माय वोडाफोन ऐप, माय आइडिया ऐप और डिजिटल वॉलेट के माध्यम

से भी रीचार्ज किया जा सकता है। वोडाफोन आइडिया अपने डिजिटल सैवी उपभोक्ताओं से अनुरोध कर रहा है कि

अपने दोस्तों, रिश्तेदारों एवं पड़ोसियों की मदद करें जो डिजिटल प्लेटफॉर्म्स के बारे में परिचित नहीं हैं। वोडाफोन

आइडिया लॉकडाउन के दौरान बिहार और झारखण्ड में अपने 15.4 मिलियन उपभोक्ताओं को एक दूसरे के साथ

जोड़े रखने के लिए प्रतिबद्ध है।

वोडाफोन आइडिया अपने उपभोक्ताओं के प्रति समर्पित है

यहां कुछ वास्तविक कहानियों के जरिए बताया गया है कि कैसे वीआईएल क्षेत्र में निर्बाध नेटवर्क को सुनिश्चित

कर रहा है। लॉकडाउन के बावजूद फील्ड इंजीनियरों ने लंबी दूरी तय कर शिकायतों का निवारण किया है और

कनेक्टिविटी बनाए रखने में मदद की है। वीआईएल के एक इंजीनियर प्रदीप कुमार ने जमशेदपुर से चक्रधरपुर तक

130 किलोमीटर की दूरी तय की, इसी तरह एक अन्य इंजीनियर सजगर आलम ने भागलपुर से खगारिया तक 95

किलोमीटर और एक अन्य इंजीनियर विवेक झा ने मुजफ्फरपुर से देवरिया जाकर कनेक्टिविटी को जारी रखने में

मदद की। एक इंजीनियर विवेक कुमार राव ने चकिया से पटाही तक 55 किलोमीटर की दूरी तय की और तुरंत

नेटवर्क अपग्रेडेशन के लिए रात भर वहां रूकना भी पड़ा। वीआईएल की एक फील्ड टीम पुंडग नगर पहुंची, जहां

फाइबर कट के कारण कनेक्टिविटी पर असर हुआ था। स्थानीय संस्था ने बैरिकेडिंग द्वारा प्रवेश रोका हुआ था,

वीआईएल टीम ने उनसे अनुमति लेकर किसी तरह समस्या का समाधान किया और सुनिश्चित किया कि इस

मुश्किल समय में लोग एक दूसरे के साथ जुड़े रहें।

काफी दूरी तय कर समस्या का समाधान

इसी तरह पुपरी नगर में नेटवर्क की समस्या आने पर वीआईएल के एक फील्ड इंजीनियर प्रकाश कुमार सीतामढ़ी

से 35 किलोमीटर की दूरी तय कर वहां पहुंचे और तुरंत समस्या का समाधान किया। लॉकडाउन के दौरान उपयोग

बढ़ने के चलते सिवान के मुख्य नगर में नेटवर्क कंजेशन की शिकायत आई, फील्ड इंजीनियर संतोष यादव और

नीरज सिंह ने दो घण्टों के अंदर जरूरी रिप्लेसमेन्ट कर स्पीड को बहाल किया। वोडाफोन आइडिया ने अपने डेटा

सेंटर लोकेशनों पर रूकने के लिए अस्थायी इंतजाम किए हैं, महत्वपूर्ण स्थानों पर भोजन और राशन उपलब्ध

कराया जा रहा है। साथ ही टेकनिकल स्टाफ द्वारा साईट विजिट के लिए वाहन की सुविधा भी उपलब्ध कराई जा

रही है। वोडाफोन आइडिया लिमिटेड के इंजीनियर सोशल डिस्टेंसिंग प्रोटोकॉल का पालन करते हुए पूरी सतर्कता के

साथ काम कर रहे हैं।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

2 Comments

Leave a Reply

error: Content is protected !!