fbpx Press "Enter" to skip to content

वीडियो वायरल हुआ तो आनन फानन में पीछे हट गया प्रशासन

  • धार्मिक मुद्दे पर हस्तक्षेप किया तो पूजा नहीं करेंगे

  • साफ कर दिया कि दबाव डालेंगे तो पूजा नहीं होगी

  • समन्वय समिति की बैठक में चर्चा के बाद फैसला

  • कोरोना जांच की अनिवार्य शर्त को प्रशासन ने हटाया

राष्ट्रीय खबर

सिमडेगाः वीडियो वायरल हुआ तो सारे समीकरण आनन फानन में बदल गये। सिमडेगा

में पूजा के नाम पर प्रशासन के दबाव के आगे झूकने से इंकार कर दिया था पूजा के

आयोजकों ने। इसके बाद तेवर और स्थिति को भांपते हुए प्रशासन थोड़ा पीछे हटा।

देखिये वह वायरल वीडियो जिससे मामला गरमाया

पिछले दो दिनों से वहां पूजा पर कौन से कानून लागू होंगे, इस पर जिला प्रशासन की

तरफ से वीडियो वायरल होने के पहले तक पूजा समिति को नसीहत दी जा रही थी।

पूजा के आयोजकों ने भी कोरोना संकट को देखते हुए सभी नियमों का मानना स्वीकार कर

लिया था। बात-चीत में अचानक ही हर पूजा पंडाल पर एक एक सौ लोगों की कोरोना जांच

की शर्त से बात बिगड़ी तो बिगड़ती ही चली गयी। वहां से निकलने के बाद सिमडेगा के

पूजा के आयोजकों ने अपनी समन्वय समिति के तहत अलग से बैठक की। इस बैठक में

अंदर की नाराजगी खुलकर सामने आ गयी। वहां भी यही मुद्दा उठा कि जब किसी को

माइक से लगातार प्रचार करने की अनुमति दी गयी है तो दुर्गा पूजा के दौरान माइक बजने

से कौन सा गुनाह हो रहा है। और क्या इस किस्म के माइक बजने से कोरोना संक्रमण

फैलता है। 

माइक बजाने पर पाबंदी पर भी श्रद्धालुओं का नाराजगी

इस बैठक की अध्यक्षता समन्वय समिति के अध्यक्ष ओम प्रकाश साहू ने तब सदस्यों की

सहमति से कड़ा फैसला लेते हुए यह एलान कर दिया कि इस तरीके से हिंदुओं को अगर

दबाने की कोशिश की जाएगी तो पूजा का आयोजन ही नहीं किया जाएगा। उल्लेखनीय है

कि इसी समन्वय समिति के निर्देश पर सिमडेगा के 10 पूजा पंडालों के अलावा इलाके के

सभी गांवों की पूजा भी होती है। उनके इस एलान की सूचना जिला प्रशासन तक पहुंचने के

बाद आनन फानन में सुलह की कोशिशें प्रारंभ की गयी। उपायुक्त सुशांत गौरव की पहल

पर वहां फिर से बैठक हुई।

वीडियो वायरल हुआ तो उपायुक्त ने फिर बैठक बुलायी

इस बैठक में श्री साहू के अलावा रिंकू अग्रवाल, अनूप केसरी, राकेश सरगुजा, अमित

अग्रवाल सहित सभी पूजा पंडाल के अध्यक्ष और सचिव उपस्थित हुए। बैठक में डीसी ने

सफाई दी कि प्रशासन दुर्गा पूजा आयोजन में किसी प्रकार का अड़चन नहीं डाल रहा है बस

सभी लोगों को कोविड-19 के निर्देशों का पालन करवाने का आग्रह किया गया है। डीसी से

सकारात्मक वार्ता के बाद समिति ने सभी पूजा समिति के लोगों से स्वेच्छा से कोरोना

जांच कराते हुए कोविड-19 के नियमों का पालन करते हुए आस्था और उल्लास के साथ

दुर्गा पूजा आयोजन करने का निर्णय लिया है। समिति के अध्यक्ष ओम प्रकाश साहू ने

कहा कि दुर्गा पूजा सभी लोगों की आस्था और भावना के साथ जुड़ा हुआ है। पूरे वर्ष भर लो

इस पूजा का इंतजार करते हैं। इसीलिए समिति ने सभी लोगों की भावनाओं को ध्यान में

रखते हुए पंडालों में पूजा आयोजन करने का निर्णय लिया है।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from धर्मMore posts in धर्म »
More from विवादMore posts in विवाद »
More from वीडियोMore posts in वीडियो »

Be First to Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!