fbpx Press "Enter" to skip to content

सिंचाई करने के लिए नदी खोद कर पांचकुड़ी के किसान निकाल रहे है पानी




जामताड़ाः सिंचाई करने के लिए गर्मी का मौसम आते ही एक ओर जहां विभिन्न तालाब,

नदियां, जलाशय सूखने लगती है। ऐसे में जामताड़ा जिला भी इससे अछुता नही रहता है।

आपको बता दे जामताड़ा जिला के कुंडहित प्रखंड के हिंगलो तथा कुरुली नदी भी पूर्णतः

सूख गया है। इससे आमजनों के स्नान के साथ-साथ किसानों को रबि फसल की सिंचाई

करने में भी भारी परेशानीयों का सामना करना पड़ रहा है। नदियों के साथ-साथ कुंडहित

प्रखंड में विभिन्न तालाब व जलाशय भी सूख गये है। कुंडहित प्रखंड के बिक्रमपुर गांव में

हिंगलो तथा कुरुली नदी के सूखने के साथ-साथ विभिन्न तालाब व जलाशय भी सूख गये

हैं। नदी व तालाब सुखने से सबसे ज्यादा लोगों को स्नान करने में भारी दिक्कतें हो रही है।

बता दें कि बिक्रमपुर में कुछ तालाब में पानी रहता है वह भी स्नान लायक नहीं रहता है।

पानी कीचड़युक्त हो जाता है।जिससे लोग स्नान नही कर पाते है। साथ ही पशुओं को भी

लोग इन भीषण गर्मी में नहला नहीं पाते है। लोग चापाकल के पानी से नाम मात्र गाय व

भैसों को नहला पाते है। इससे चापाकल में भीड़ लग जाती है। जिससे सभी लोग नही

नहला पाते है। नदी में लोग छोटे-छोटे कुदाली से गड्ढे खोदते है।पानी को बर्तन या छोटे

बाल्टी से साफ करते है।इसके बाद लोग एक- एक मग पानी लेते है और नहाते है।इससे

लोगों को बहुत परेशानी होती है।वही कुछ लोग चापाकल के पानी से नहाते है।इससे

चापाकल में भीड़ लग जाती है, तब दूसरी ओर लोगों को पेयजल के काफी मुश्किलें झेलनी

पड़ती है।

सिंचाई करने के अलावा भी नदी खोदकर जुटा रहे हैं पानी

नदी, तालाब व विभिन्न छोटी-बड़ी जलाशय सुख जाने से किसानों को भी रबी फसल के

सिंचाई के लिए भारी समस्याओं का सामना करना पड़ता है।गौरतलब है कि मनरेगा के

तहत दिए गये सिंचाई कूप से किसानों को सिंचाई करने में बहुत हद तक समस्याओं से

छुटकारा मिला है पर अब भी बहुत से किसानों को परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

जिसका ताजा उदाहरण बिक्रमपुर पंचायत के पांचकुड़ी गांव के कई किसान है। आज भी

पांचकुड़ी के लोग रबि फसल की सिंचाई के लिए कई किसान मिलकर संयुक्त रूप से

कुदाल से नदी खोदकर गड्ढा खोदकर फसल की सिंचाई करते है। अब्दुल हलीम,

कालाचांद खान, सलीमुद्दिन खान, याकुब खान सहित आदि किसानों ने कहा कि प्रति वर्ष

सिंचाई करने के लिए हिंगलो व कुरुली नदी खोदकर पानी की जुगाड़ करते है।



Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from कृषिMore posts in कृषि »
More from जामताड़ाMore posts in जामताड़ा »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from लाइफ स्टाइलMore posts in लाइफ स्टाइल »

Be First to Comment

... ... ...
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: