fbpx

प्रखंड के बीसा पंचायत के लोग हाथियों के उत्पात से परेशान, देखें वीडियो

प्रखंड के बीसा पंचायत के लोग हाथियों के उत्पात से परेशान, देखें वीडियो

अनगड़ा : प्रखंड के बीसा पंचायत के ग्रामीण इन दिनों हाथियों के आतंक से त्रस्त हैं।

पंचायत के आधा दर्जन गांवो में हाथियों का दल पिछले एक माह से लगातार विचरण कर

रहा है। गांव से सटे जंगल इनके सेफ जोन है। यहां के ग्रामीण बताते हैं कि हाथियों के

आतंक से लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

वीडियो में देखिये हाथियों से नुकसान और कैसे खदेड़ा हाथी को

आए दिन हाथी किसानों द्वारा रोपे गए फसलों को बर्बाद कर रहे हैं। शनिवार को अहले

सुबह बेंती के पाहन टोली में हांथी ने जितभन मुंडा के घर को क्षतिग्रस्त कर दिया।

गनीमत रही कि घटना के वक्त घर में परिवार का कोई सदस्य मौजूद नहीं था। अन्यथा

कोई बड़ा हादसा हो सकता था। हालांकि ग्रामीणों ने हाथी को जंगल की ओर खदेड़ दिया है।

इधर सूचना पाकर भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष सत्यदेव मुंडा पीड़ित परिवार के घर पहुंचे।

उन्होंने हाथियों द्वारा किए गए नुकसान का जायजा लिया। साथ ही पीड़ित परिवार को

मुआवजा दिलाने का भरोसा दिया। सत्यदेव मुंडा ने बताया कि जंगली हाथियों के कहर से

बीसा, नवागढ़, व कुच्चू पंचायत में आतंक का माहौल है। हाल की कई घटनाओं में

ग्रामीणों को भारी नुकसान हुआ है। स्थानीय ग्रामीणों ने इसकी सूचना वन विभाग के

आला अधिकारियों को कई बार दी। लेकिन वन विभाग के द्वारा अब तक कोई सार्थक

पहल नहीं किया गया। कहा कि अगर वन विभाग आने वाले दिनों में कोई ठोस कदम नहीं

उठाती है, तो जान माल का भयंकर नुकसान हो सकता है। जिसके लिए वन विभाग

जिम्मेदार होगा।

प्रखंड के बीसा पंचायत को वन विभाग से सहयोग नहीं

ग्रामीणों की शिकायत है कि दिन रात कब हाथी आ जाएगा, इसकी शिकायत वन विभाग

से करने के बाद भी विभाग की तरफ से हाथियों को भगाने का कोई काम नहीं किया जाता

है। बारिश के दिनों में जब लोग अपने घरों में दुबके रहते हैं तो बार बार हाथियों का दल या

अकेला हाथी भी गांव में चला आता है। हाथियों का यह आगमन भोजन की तलाश में होता

है। इससे यह भी अजीब बात लगती है कि जंगल में बारिश की वजह से हरियाली होने के

बाद भी हाथियों का दल गांव में भोजन की तलाश करने क्यों आ रहे हैं।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
Rkhabar

Rkhabar

... ... ...
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: