fbpx Press "Enter" to skip to content

कुटे से सांडी तक के जर्जर पथ को ग्रामीणों ने श्रमदान से सुधारा

प्रतिनिधि

ओरमांझीः  कुटे से सांडी तक सिकिदिरी-ओरमांझी पथ में एक किलोमीटर सड़क काफी

जर्जर हो गयी थी। इसको देखते हुए आसपास के ग्रामीणों ने सोमवार को श्रमदान कर

सड़क की मरम्मत किया और वाहनों के आवागमन के लायक बनाया। गौरतलब है कि

अति व्यस्त इस पथ में जगह- जगह गड्ढा बन गया है और गड्ढों में पानी भर जाता है।

इस कारण आए दिन दुर्घटनाएं होती रहती है। ग्रामीणों ने बताया कि इस पथ से होकर

गोला होते हुए लोग बोकारो,धनबाद सहित अन्य शहर जाते हैं।इस का कारण कम दूरी का

होना तथा टोल टैक्स बचाना है।विदित हो कि इसी पथ से होकर सूबे के मंत्री,सांसद और

विधायकों का भी आना- जाना है। इस के बाद भी किसी ने इस जर्जर पथ की मरम्मत

कराने की दिशा में कोई रूचि नहीं दिखाई। इसी के मद्देनजर ग्रामीणों ने स्वंय मरम्मत

करने का बीड़ा उठाया। मौके पर समाजसेवी नाजिम खान ने बताया कि इस सड़क से

हजारों गाड़ियों का आवागमन प्रतिदिन होता है कई कई बार इस जर्जर सड़क के चलते

छोटी बड़ी दुर्घटनाएं हो चुकी हैं मगर इस सड़क को देखकर सरकार की नींद नहीं खुल रही

है जिसके चलते ग्रामीणों ने रोड की मरम्मत करने का बीड़ा उठाया ।श्रमदान करने वालों

में नाजिर खान,अनवर अंसारी,करमु पाहन,सेवालाल महतो,साबिर खान,फारूक खान

सहित अन्य ग्रामीण शामिल हैं।

कुटे से सांडी तक की सड़क के अलावा भी श्रमदान

रांची और आस पास के कई इलाकों में ग्रामीणों द्वारा इस तरीके से श्रमदान कर सड़क 

बनाने की खबरें आयी हैं। इस बार शायद अधिक बारिश की वजह से ग्रामीण इलाकों में

सड़कों के टूटने और क्षतिग्रस्त होने की घटनाएं अधिक प्रकाश में आयी हैं। अपनी अपनी

परेशानी को समझते हुए सरकार के भरोसे न रहते हुए ग्रामीण खुद ही अपनी समस्या को

हल करने में जुट गये हैं। 


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from झारखंडMore posts in झारखंड »
More from रांचीMore posts in रांची »

Be First to Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!