fbpx Press "Enter" to skip to content

खाली हुए कई पद, सेवानिवृत हुए कई कर्मचारी

  • खाली हुई कई पदों पर क्या निर्णय लेगा बीएसएनएल, यह अभी तय नहीं

रांची : बेरोजगारी का स्तर इस कदर बढ़ गया है कि मांगने से नौकरी नहीं मिल रही।

जिसपर सरकार ध्यान ना देकर मंदिर-मस्जिद और धर्म-अधर्म मामलों को उछाल कर ओछी राजनीति कर रहे है।

जिसका असर ऐसा है कि बेरोजगारो को रोजगार की जगह सिर्फ आश्वासन दिये जा रहे है।

बता दें कि सरकार के कई विभागों में रिक्त पदों पर नौकरियाँ उत्पन्न नहीं हो पा रही है।

जबकि कई जगह अब भी रिक्त पड़ी है पर उसपर कोई कार्यवाई नहीं की जा रही है।

बता दें कि झारखंड में बीएसएनएल के कुल 796 अधिकारी व कर्मचारी शुक्रवार को एक साथ रिटायर हुए।

जबकि उन्ही में एक कर्मचारी ऐसे भी है जो वीआरएस ले चुके है और उनकी मृत्यु काफी पहले हो चुकी है।

अधिकारियों में जहां आने वाले भविष्य के युवाओं के लिए खुशी है तो वहीं सेवानिवृत्त होनेवालों कर्मियों के लिए उदासी भी।

चूंकि अधिकारियों का मानना है कि नए युवा वर्ग जब इन रिक्त पदों पर आएंगे

तो उन्हे काम सिखाने में काफी वक्त लग जाएगा।

पर पुराने रेगुलर कर्मियों में डिजिटल रूप से खासा जानकारी नहीं थी पर उनके जैसे अनुभवी लोग भी मिलना मुश्किल है।

कंपनी के अधिकारियों ने बताया कि पहली बार ऐसा हो रहा है कि एक साथ इतनी बड़ी संख्या में कर्मी रिटायर हुए है।

हालांकि इन रिक्त पदों पर जल्द भर्ती का कोई फिलहाल निर्णय नहीं लिया गया है।

चूंकि जियो के आने के बाद से टेलीकॉम सैक्टर की स्थिति डूबती चली जा रही है

जहां कर्मचारियों को वेतन देने का अतिरिक्त बोझ भी सरकार के मत्थे आ गया है।

पर युवाओं व बेरोजगारों की नज़रे तो इन्ही रिक्त पदों पर अटकी पड़ी है जो खाली हो रहे है।

फिलहाल सरकार अगली कार्यवाई आउटसोर्सिंग मॉडल पर करेगा।

जहां बीएसएनएल, झारखंड सर्किल के सीजीएम केके ठाकुर ने कहा है कि काम को सुचारू ढंग से चलाने के लिए आनेवाले दिनों में आउटसोर्सिंग मॉडल पर काम होगा।

इसके लिए कॉरपोरेट लेबल पर बात चल रही है और खर्चों का स्तर न बढ़े इसपर भी ध्यान दिया जा रहा है।

ऐसे कर्मचारियों व उनके क्षेत्र जहां से हुई कर्मचारियों की रिटायरमेंट।

रिटायर होनेवालों में सर्किल ऑफिस के 40 अधिकारी-कर्मचारी शामिल रहे।

तो रांची दूरसंचार जिला में 141, जमशेदपुर में 229, हजारीबाग में 74, दुमका में 110, धनबाद में 177 और डालटेनगंज दूरसंचार जिला में 25 अधिकारी-कर्मचारी शामिल थे।

झारखंड में कुल कर्मियों की संख्या 1893 थे।

इनके रिटायर होने के बाद बीएसएनएल के झारखंड में 1096 अधिकारी व कर्मचारी लगभग बचे है।

बीएसएनएल, रांची के महाप्रबंधक अरबिंद प्रसाद ने गुरुवार को मुख्य दूरभाष केंद्र परिसर में आयोजित समारोह में कही।

श्री प्रसाद रांची दूरसंचार जिला के 151 अधिकारी व कर्मचारियों के विदाई सह सम्मान समारोह में बोल रहे थे।

रिटायर होने वाले सभी 151 कर्मियों को महाप्रबंधक ने मोमेंटो और शॉल देकर सम्मानित किया।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

3 Comments

Leave a Reply