Press "Enter" to skip to content

उत्तराखंड की बर्फ से ढकी में सिखों के पवित्र तीर्थ स्थल हेमकुंड साहिब के कपाट खुले




चमोलीः उत्तराखंड की बर्फ से ढकी पर्वत श्रंखलाओं में स्थित सिखों के पवित्र तीर्थ स्थल

हेमकुंड साहिब के कपाट शनिवार को सबद-कीर्तन के साथ खोल दिये गये।

लोकपाल लक्ष्मण मन्दिर के कपाट भी आज वैदिक मन्त्रोच्चारण के साथ खोल दिये गए।

गोविंदघाट गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के वरिष्ठ प्रबंधक सेवा सिंह ने बताया कि

श्रद्धालुओं का पहला जत्था शनिवार सुबह घांघरिया से चलकर हेमकुंड साहिब पहुंचा।

उन्होंने बताया कि प्रात: लगभग नौ बजे हेमकुंड साहिब के कपाट खोले गये।

इसके बाद नौ बजकर 15 मिनट पर पंच प्यारों की अगुवाई में गुरुग्रंथ साहिब को

साहिब में लाया गया। 10 बजे से सुखमणी पाठ शुरू किया गया,

जबकि 11 बजे से सबद-कीर्तन शुरू होने के बाद, 12.30 बजे

पहली अरदास की गई। इसके बाद 12.45 बजे हुक्मनामा का पाठ किया गया।

इन पवित्र कार्यक्रमों में आठ हजार से अधिक श्रद्वालुओं ने हिस्सा लिया।

मंडलायुक्त वीवीआरसी पुरुषोत्तम ने हेमकुंड साहिब की यात्रा की

तैयारियों के संबंध में बताया कि इस बार भारी बर्फबारी के चलते पैदल मार्ग पर बर्फ जमी है।

इसके बावजूद सेना की मदद से यात्रा को सुगम बनाने की सभी तैयारियां की गई हैं।

साथ ही, लोकपाल लक्ष्मण मन्दिर के कपाट भी वैदिक मंत्रोच्चार के साथ

श्रद्वालुओं के दर्शन के लिये खोल दिये गए।

उत्तराखंड के अन्य धार्मिक तीर्थ स्थल भी इसी तरीके से हाल ही में खोले गये हैं

शीतकाल में बर्फ से ढक जाने की वजह से तथा रास्ता दुर्गम होने के कारण

इन तीर्थस्थलों के कपाट बंद कर दिये जाते हैं।

इनमें से कई तो जाड़े के दिनों में पूरी तरह बर्फ से ढक जाते हैं।

बाद में मौसम में बदलाव होने के बाद उनपर लदा बर्फ गलने के बाद

फिर से उन्हें विधिवत और पूरी श्रद्धा के साथ नये सिरे से खोला जाता है।

अभी हाल ही में इसी तरीके से केदारनाथ और बदरीनाथ के भी कपाट खोले जा चुके हैं।



Rashtriya Khabar


Be First to Comment

Leave a Reply

WP2FB Auto Publish Powered By : XYZScripts.com