fbpx

उत्तर प्रदेश के जौनपुर में मत्स्य पालन के लिए विशेष प्रबंध

जौनपुरः उत्तर प्रदेश के जौनपुर के गूजरताल में चार नर्सरी बना कर 10 लाख मत्स्य बीज

तैयार किए जाएगें जिससे मत्स्य उत्पादन में 25 प्रतिशत की वृद्धि होगी। जिला मत्स्य

अधिकारी आर के गुप्ता ने बताया कि जौनपुर में मत्स्य उत्पादन बढ़ाने के लिहाज से यह

बड़ा फैसला लिया गया है। इसके तहत गूजरताल में चार नर्सरी बनायी जाएगी। इससे

ताल में बड़े आकार के मत्स्य बीज की उपलब्धता न सिर्फ आसान हो जाएगी, बल्कि

उत्पादन भी बढ़ेगा। उन्होंने बताया कि अभी तक मत्स्य बीज सुल्तानपुर एवं गोरखपुर

सहित अन्य जिलों से मंगाया जाता रहा है, जिससे उत्पादन पर असर पड़ रहा था। नर्सरी

बनने से 10 लाख बड़े आकार के मत्स्य बीज तैयार किये जा सकेंगे। उन्होंने कहा कि

नर्सरियों को उत्तर प्रदेश मत्स्य जीवी सहकारी संघ द्वारा बनवाया जायेगा। नर्सरी की

स्थापना के लिए एक एकड़ क्षेत्र निर्धारित किया गया है। गूजरताल तकरीबन सौ एकड़

क्षेत्र में फैला है, जिसमें कुछ हिस्सा मत्स्य विभाग के अधीन है। श्री गुप्ता ने कहा कि

नर्सरी के बनने से दूसरे जिलों से मत्स्य बीज मंगाने की निर्भरता समाप्त हो जायेगी और

इसका फायदा मत्स्य पालकों को मिलेगा।

उत्तरप्रदेश के जौनपुर से पूरे राज्य में मछली पालन को बढ़ावा

इससे न सिर्फ उनके आय में बढ़ोतरी होगी बल्कि मत्स्य उत्पादन में भी वृद्धि होगी। गत

काफी समय से इसकी तैयारी की जा रही थी। उन्होंने कहा कि मौजूदा समय में गूजरताल

से 10 क्विटल प्रति हेक्टेयर मत्स्य उत्पादन होता है जो जरूरत के हिसाब से काफी कम

है। नर्सरी बनने से उत्पादन क्षमता में 25 फीसद तक इजाफा हो जाएगा। चारों नर्सरियों से

10 लाख मत्स्य बीज तैयार किये जा सकेंगे। श्री गुप्ता ने कहा कि नर्सरी स्थापित करने

की औपचारिकताओं को पूरा कर लिया गया है। इस पर छह लाख रुपये का खर्च आएगा।

निर्माण मार्च महीने तक पूरा करने का प्रयास किया जा रहा है। विभाग के लोग यह मानते

हैं कि इस किस्म के प्रयास से उत्तर प्रदेश के जौनपुर के अलावा भी अन्य इलाकों में

किसान और पशुपालक मछली पालन की संभावनाओं को बेहतर तरीके से समझ सकेंगे।

मछली पालन का कारोबार बेहतर होने के साथ साथ इसके माध्यम से जल संरक्षण का

काम भी पूरा होगा। साथ ही इसके माध्यम से राज्य में रोजगार के नये अवसरों का सृजन

भी होगा और मछली पालकों की आमदनी में बढ़ोत्तरी होगी

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
Rkhabar
Rkhabar

1 Comment

Write a Reply or Comment




कोरोना समाचार

कोरोना




विश्व




देश

झारखंड
Open chat
Powered by