fbpx Press "Enter" to skip to content

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भव्य स्वागत से अभिभूत

  • भारत देश का हमारे दिल में अति विशेष स्थान

  • भारत को अपना स्थायी और स्वाभाविक मित्र बताया

  • आतंकवाद के खिलाफ पाकिस्तान के साथ काम जारी

एजेंसियां

अहमदाबाद : अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अपने दो दिवसीय भारत यात्रा के पहले दिन

स्वागत से अभिभूत नजर आये। अहमदाबाद के बाद वह यात्रा के पहले दिन आगरा भी

पहुंचे। इन दोनों ही स्थानों पर अपने स्वागत की तैयारियों का मानसिक प्रभाव श्री ट्रंप पर

जोरदार पड़ा। उन्होंने आने के पहले ही जोरदार स्वागत की बात कही थी। लेकिन शायद

वह खुद भी इस बात के लिए तैयार नहीं थे कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनके लिए इतना

विशाल और भव्य इंतजाम कर रखा है।

स्टेडियम पर स्वागत में मौजूद थे लाखों लोग

श्री ट्रंप ने दुनिया के सबसे बड़े किकेट स्टेडियम सरदार पटेल स्टेडियम में एक लाख से

अधिक लोगों की मौजूदगी में उनके स्वागत में आयोजित ‘नमस्ते ट्रंप’ में श्री मोदी और

भारत की खूब तारीफ भी की और दोनो देशों के रिश्तों तथा भविष्य की योजनाओं पर भी

चर्चा की। उन्होंने आतंकवाद, रक्षा सहयोग, अंतरिक्ष कार्यक्रमों समेत कई विषयों का जिक्र

किया और नयी दिल्ली में दोनो देशों के बीच होने वाले अत्याधुनिक अमेरिकी हेलीकॉप्टर

और अन्य रक्षा उपकरणों के चार अरब डॉलर से अधिक के सौदे की भी चर्चा की। उन्होंने

अपने संबोधन में बॉलीवुड तथा क्रिकेट का भी जिक्र किया तथा शोले ओर डीडीएलजे जैसी

फिल्मों और सचिन तेंदुलकर तथा विराट कोहली जैसे महान क्रिकेटरों का भी नाम लिया।

अपने भव्य स्वागत से अभिभूत दिख रहे अमेरिकी राष्ट्रपति ने मंच पर श्री मोदी की

मौजूदगी में लगभग 26 मिनट लंबे अपने संबोधन की शुरूआत में कहा कि वह और उनकी

पत्नी मेलेनिया 8000 मील की दूरी तय करते हुए हरेक भारतवासी को यह संदेश देने के

लिए आये हैं कि अमेरिका भारत का सम्मान करता है और इसे प्यार करता है तथा यह

हमेशा एक विश्वासी मित्र बना रहेगा।

अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा यह मित्रता बनी रहेगी

श्री मोदी की पांच माह पूर्व हुई अमेरिकी यात्रा के दौरान हाउडी मोदी कार्यक्रम की याद

करते हुए श्री ट्रंप ने कहा कि पांच माह पहले हमने श्री मोदी का विशालकाय फुटबॉल

स्टेडियम में स्वागत किया था और आज भारत ने हमारा स्वागत दुनिया के सबसे बड़े

क्रिकेट स्टेडियम में किया है जो बहुत ही शानदार है। उन्होंने कहा कि इस स्वागत और

सम्मान को उनका देश और उनका परिवार हमेशा याद रखेगा। उन्होंने अपने विशेष लहजे

में कहा, आज से भारत हमेशा हमारे दिलों में एक विशेष स्थान रखेगा।

श्री ट्रंप ने प्रधानमंत्री मोदी की भी खूब तारीफ की और उनके चाय बेचने वाले से लेकर

प्रधानमंत्री बनने तक का उदाहरण देते हुए कहा कि उनके जीवन की कहानी भारतीयों की

सीमारहित क्षमताओं को रेखांकित करती है। उन्होंने कहा कि श्री मोदी ने अपने जीवन की

शुरूआत अपने पिता के बगल में खड़े होकर चाय बेचने वाले के तौर पर की। श्री मोदी को

हर कोई प्यार करता है और उन्होंने 60 करोड़ से अधिक लोगों की भागीदारी वाले दुनिया

के सबसे बड़े लोकतांत्रित चुनाव में पिछले साल शानदार जीत हासिल की थी। वह बहुत ही

मजबूत हैं। दोनो देशों में कई मतांतर भी है पर दोनो आत्मा और दैवीय चीजों, ऊंचे लक्ष्य

के लिए जन्म लेने जैसे मौलिक सत्य में विश्वास करते हैं। अमेरिकी राष्ट्रपति ने इस

संदर्भ में स्वामी विवेकानंद की भी चर्चा की।

अपने भाषण में स्वामी विवेकानंद की चर्चा की

अमेरिकी राष्ट्रपति ने सरदार पटेल और उनकी सबसे ऊंची प्रतिमा स्टेच्यू ऑफ यूनिटी

तथा दीवाली और होली जैसे भारतीय त्यौहारों की भी चर्चा की। उन्होंने कहा कि भारत

जहां लाखों हिन्दू, मुस्लिम, सिख, ईसाई, बौद्ध, जैन और यहूदी आदि सब साथ रहते और

उपसना करते हैं तथा जहां एक सौ से अधिक भाषायें बोली जाती हैं और जहां स्वतंत्रता,

कानून का शासन और हर मानव का सम्मान किया जाता है उसकी दुनिया भर में सराहना

होती है और सह सबके लिए एक प्रेरणा है। श्री ट्रंप ने कहा कि उन्हें भारत के बारे में यह

सब जानकारी वहां रहने वाले 40 लाख अमेरिकी भारतीयों से मिलती है जो तकनीक

विज्ञान समेत हर क्षेत्र में काफी योगदान भी दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि इनमें से हर चार में

से एक गुजरात का है और इसलिए हमारे लिए गुजरात का भी एक विशेष स्थान है।

श्री ट्रंप का विमान यहां सरदार वल्लभभाई पटेल अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर पूर्व निर्धारित

कार्यक्रम के अनुसार अपराह्न 11 बज कर 40 मिनट पर उतरा। उनकी अगवानी के लिए

स्वयं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी वहां मौजूद थे। उन्होंने श्री ट्रंप और उनकी पत्नी मेलेनिया से

हाथ मिला कर गर्मजोशी से स्वागत किया। पारंपरिक संगीत और नृत्य के साथ श्री ट्रंप का

लाल गलीचे पर स्वागत किया गया। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भारत और

अमेरिका को एक स्वाभाविक मित्र बताया और भारत की अभूतपूर्व प्रगति और इसके

मूल्यों की भरपूर सराहना की।

तीन अरब डॉलर के रक्षा सौदों पर हस्ताक्षर होगा

भारत एवं अमेरिका की इस्लामिक आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में साझी प्रतिबद्धता

व्यक्त करते हुए अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने यहां घोषणा की कि नयी दिल्ली में

उनका देश भारत को तीन अरब डॉलर के शस्त्र विक्रय करार पर दस्तखत करेगा। उन्होंने

भारत एवं अमेरिका के बीच तीनों सेनाओं के संयुक्त सैन्य अभ्यास टाइगर एंड ट्राइम्फ

का जिक्र किया और कहा कि दोनों देश अपने नागरिकों को कट्टरपंथी इस्लामिक

आतंकवाद के खतरे से बचाने के लिए एकजुट हैं। उन्होंने कहा, भारत और अमेरिका

आतंकवादियों को रोकने और आतंक की विचारधारा से लड़ने के लिए साथ साथ काम

करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार पाकिस्तान की जमीन पर काम

करने वाले आतंकवादी संगठनों और आतंकवादियों को नष्ट करने के लिए पाकिस्तान

सरकार के साथ मिलकर सकारात्मक ढंग से काम कर रही है। उनके प्रशासन में हम

अमेरिकी सेना को खून के प्यासे आईएसआईएस के खिलाफ पूरी ताकत से लड़ने की

क्षमता मुहैया करा रहे हैं। आज की तारीख में आईएसआईएस का खिलाफत शत प्रतिशत

नष्ट हो चुकी है। उसका सरगना अल बगदादी मारा जा चुका है। अमेरिकी राष्ट्रपति अपने

करीब बीस मिनट के भाषण में अहमदाबाद में अपने अभूतपूर्व स्वागत से अभिभूत नजर

आये। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के व्यक्तित्व एवं उपलब्धियों का उल्लेख किया

और माना कि भारत का कद श्री मोदी के नेतृत्व में तेजी से बढ़ रहा है। उन्होंने कहा कि हम

इस अद्भुत स्वागत सत्कार को हमेशा याद रखेंगे। आज के बाद से भारत का हमारे दिल में

एक खास स्थान रहेगा।

ताज की खूबसूरती का दीदार करने आगरा पहुंचे अमेरिकी राष्ट्रपति

दुनिया को मोहब्बत को पैगाम देती अनूठी धरोहर ताजमहल की खूबसूरती का दीदार

करने अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप सोमवार को परिवार संग आगरा पहुंचे। हवाई

अड्डे पर उनका स्वागत राज्यपाल आनंदी बेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने

किया। इस मौके पर मोरपंख लगाये कलाकारों ने ढोल और नगाड़ों की थाप पर विशेष

मेहमान का इस्तकबाल सांस्कृतिक प्रस्तुति देकर किया और उन्हे भारत की विविधता का

अहसास कराया। स्वागत से अभिभूत अमेरिकी राष्ट्रपति और उनकी पत्नी मलेनिया ने

ताली बजाकर कलाकारों का उत्साहवर्धन किया। बाद में उनका काफिला शिल्पग्राम के

रास्ते होटल अमर विलास के लिये रवाना हो गया। फूलों से सजे करीब 12 किमी के रास्ते

के दोनो ओर हजारों स्कूली बच्चे हाथों में अमेरिका-भारत का ध्वज फहरा रहे थे जबकि

अमेरिकी राष्ट्रपति और उनकी पत्नी मलेनिया के स्वागत से संबधित बड़े होर्डिंग और

कटआउट आकर्षक का केन्द्र बने हुये थे। श्री ट्रंप और उनकी पत्नी ताजमहल से करीब

500 मीटर पहले अपनी विशेष कार बीस्ट से उतर गये और इलेक्ट्रिक वाहन पर सवार

होकर ताज की सुंदरता को निहारने चल पड़े। श्री ट्रंप अमेरिका के दूसरे राष्ट्रपति है जो

ताज का दीदार करेंगे। इसके पहले राष्ट्रपति के तौर पर श्री बिल क्लिंटन ने ताज का दीदार

किया था।

एक घंटे से अधिक समय तक चला ट्रंप-मोदी का रोड शो

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अपनी दो दिवसीय भारत यात्रा के तहत यहां पहुंच गये

और हवाई अड्डे पर भव्य स्वागत के बाद उनका काफिला प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के

काफिले के साथ लगभग 22 किमी लंबे रोड शो इंडिया रोड शो पर निकल पड़ा । एक घंटे से

अधिक समय तक चले रोड शो के दौरान श्री ट्रंप ने महात्मा गांधी के साबरमती आश्रम में

भी लगभग 15 मिनट का समय गुजारा। उन्होंने वहां आगंतुक पुस्तिका में लिखा, मेरे

दोस्त प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को इस शानदार दौरे के लिए धन्यवाद। श्री मोदी इस मौके

पर श्री ट्रंप और उनकी पत्नी मेलेनिया के साथ लगातार मौजूद रहे। उन्होंने दोनो को

महात्मा गांधी आश्रम स्थित निवास हृदय कुंज दिखाया और इसके बारे में जानकारी दी।

इस मौके पर श्री ट्रंप ने वहां बरामदे में रखे चरखे पर भी हाथ आजमाया। इस आश्रम मे श्री

ट्रंप और उनकी पत्नी का स्वागत पारपंरिक तौर पर सूत की माला पहना कर किया गया।

इस अवसर पर गांधी जी के प्रिय भजन भी बजाये गये। श्री मोदी और ट्रंप दंपति ने हृदय

कुंज के बरामदे में बैठ कर एक साथ तस्वीर भी खिंचायी। यहां आने वाले हर राष्ट्राध्यक्ष

का दौरा पारंपरिक तौर पर साबरमती आश्रम से ही शुरू होता है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

5 Comments

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Open chat