fbpx Press "Enter" to skip to content

अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियों ने कहा चीन जानकारी नहीं दे रहा

वाशिंगटनः अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने चीन पर कोरोना वायरस

(कोविड-19) के संक्रमण के प्रसार की जानकारी छिपाने का आरोप लगाते हुए कहा है कि

इसके कारण दुनिया भर में हजारों लोगों की मौत हो गयी और वैश्विक अर्थव्यवस्था को

भारी क्षति हुई है जिससे महामंदी की आशंका गहरा गयी है। श्री पोम्पियो ने बुधवार को

संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा,‘‘ चीन को इसकी जानकारी थी। वह

दुनिया भर में हजारों लोगों की मौत होने से रोक सकते थे। चीन दुनिया को वैश्विक

आर्थिक संकट की स्थिति में पहुंचने से बचा सकता था। उनके पास एक विकल्प था,

लेकिन इसके बजाय चीन ने वुहान में कोविड-19 के संक्रमण के प्रसार के संबंध में

जानकारी छिपाई। चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने तीन जनवरी को वायरस के नमूनों

को नष्ट करने के निर्देश दिए थे। चीन ने उन साहसी लोगों को लापता कर दिया जिन्होंने

कोरोना वायरस के संबंध में चेतावनी दी थी। अमेरिकी विदेश मंत्री ने कोरोना वायरस के

संबंध में जानकारी साझा नहीं किए जाने को लेकर उसकी आलोचना करते हुए कहा कि

चीन अभी भी वायरस से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारी साझा नहीं कर रहा है जिससे लोगों

को बचाया जा सके। चीन ने दिसंबर 2019 में कोविड-19 के मरीजों के क्लीनिकल नमूनों

और अन्य जानकारियां साझा नहीं की हैं।

अमेरिकी विदेश मंत्री ने कहा कि इस महामारी से चीन जिस तरह से निपटा है, उसे लेकर

कई सवाल खड़े किए जा सकते हैं। कोविड-19 से निपटने के लिए अपनाये गये तौर-तरीकों

के कारण विश्व भर में चीन की साख में कमी आई है। कई देश चीन के साथ व्यापार करने

के खतरों को समझ रहे हैं और अन्य विकल्पों पर विचार कर रहे हैं।

अमेरिकी विदेश मंत्री ने कहा यह विचार कई देशों का है

हाल के कुछ सप्ताह में नाईजीरिया, कजाखस्तान और फ्रांस ने झूठ बोलने और गलत

कार्यों के आरोप में चीनी राजदूतों के प्रति कड़ा रवैया अपनाया है। स्पेन ने चीन में बनी

कोविड-19 जांच किट की गुणवत्ता पर सवाल खड़े करते हुए उसे वापस कर दिया था।

इसके अलावा चेक गणराज्य और अन्य देशों ने चीन पर घटिया किस्म के निजी सुरक्षा

उपकरण (पीपीई) देने का आरोप लगाया था। श्री पोम्पियो ने अंतरराष्ट्रीय समुदाय से 17

मई से शुरू होने वाली विश्व स्वास्थ्य सभा (डब्ल्यूएचए) में ताईवान के हिस्सा लेने का

समर्थन करने की अपील की है। उन्होंने कहा,‘‘ आज मैं यूरोप समेत सभी देशों से ताईवान

के विश्व स्वास्थ्य सभा और संयुक्त राष्ट्र की अन्य सभाओं में हिस्सा लेने का समर्थन

करने की अपील करता हूं। मैं विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के महानिदेशक जी

ट्रेडोस से ताईवान को इस माह आयोजित होने वाली (डब्ल्यूएचए) की बैठक में हिस्सा लेने

के लिए आमंत्रित करने की अपील करता हूं। उनके पास इसकी आधिकारिक शक्ति है।’’

गौरतलब है कि वैश्विक महामारी कोरोना वायरस (कोविड-19) से गंभीर रूप से जूझ रहे

अमेरिका में इसके संक्रमण से 73 हजार से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। अमेरिका में

यह महामारी विकराल रूप ले चुकी है और अब तक 12 लाख से अधिक लोग इससे

संक्रमित हो चुके हैं। जॉन हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के विज्ञान एवं इंजीनियरिंग केन्द्र

(सीएसएसई) की ओर से जारी किए गए ताजा आंकड़ों के मुताबिक अमेरिका में कोरोना

वायरस से मरने वालों की संख्या 73 हजार को पार कर 73431 पहुंच गयी है जबकि

संक्रमितों की संख्या 12 लाख का आंकड़ा पार कर 1228609 हो गयी है।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

2 Comments

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Open chat