fbpx Press "Enter" to skip to content

बेमौसम बारिश से पानी बढ़ा तो तेनुघाट डैम के गेट खोले गये

मिथलेश कुमार

तेनुघाटः बेमौसम बारिश का प्रभाव तेनुघाट डैम पर भी पड़ा है। आम तौर पर गर्मी के इस

मौसम में डैम में पानी का स्तर नीचे आ जाता है। लेकिन इस बार स्थिति उल्टी है। डैम में

पानी अधिक होने की वजह से इस डैम का एक गेट गर्मी के मौसम में भी खोलना पड़ा है।

वीडियो में देखें डैम और खोले जाने की जानकारी

मिली जानकारी के मुताबिक बेरमो अनुमंडल मुख्यालय स्थित तेनुघाट जलाशय का एक

फाटक खोला गया जिससे 16090 क्यूसेक प्रति सेकेंड के हिसाब से नदी में पानी का बहाव

हो रहा है। वहीं नदी में आने-जाने को लेकर सभी जगह सूचित कर दिया गया है। तेनुघाट

सिंचाई विभाग के कार्यपालक अभियंता श्याम किशोर प्रसाद सिंह ने बताया कि मानसून

को देखते हुए तेनुघाट जलाशय का पानी 840 से 845 फीट रखना है जबकि पानी रखने की

क्षमता 852 फीट तक है लेकिन अभी निवर्तमान में लगभग 853.5 फीट पानी है।

बेमौसम बारिश अधिक हुई तो अधिक परेशानी होगी

इसी स्थिति को देखते हुए बेमौसम बारिश के डैम पर पड़ने वाले प्रभाव को देखते हुए पानी

की निकासी की गयी है। ऐसा समझा जाता है कि डैम में यदि पानी को कम कर नही रखा

गया तो पानी बढ़ जाने के बाद गेट खोलने से नदी में पानी बढ़ जाएगा। डैम से अचानक

ज्यादा पानी छोड़े जाने की स्थिति में निचले इलाकों में बाढ़ की स्थिति पैदा हो सकती है।

इसी खतरे से बचने के लिए डैम का एक गेट खोलकर पानी छोड़ा जा रहा है। इससे नदी में

पानी का प्रवाह सामान्य स्तर पर ही बना रहेगा। दूसरी तरफ गेट खोलने से डैम का

जलस्तर पर नियंत्रित रखने में मदद मिलेगी। इस संबंध में तेनुघाट बांध प्रमंडल के

कार्यपालक अभियंता श्याम किशोर प्रसाद सिंह ने संवाददाता को डैम का गेट खोलने और

उससे जल प्रवाह के साथ साथ अन्य तमाम मुद्दों की विस्तार से जानकारी दी।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

One Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!