fbpx Press "Enter" to skip to content

बांग्लादेश सीमा के करीब ढेर सारे गेंद बम बरामद होने से सनसनी

  • स्कूल के पास के बमों को निष्क्रिय किया गया

राष्ट्रीय खबर

मालदाः बांग्लादेश सीमा के करीब नये किस्म के गेंद बम बरामद किया गया है। इस

किस्म के बमों का पता चलने के बाद इलाके में सनसनी फैल गयी थी। यह गेंद बम

मालदा के वैष्णवनगर विधानसभा क्षेत्र के आकंदबाड़िया इलाके में मिले हैं। वहां के एक

स्कूल के बगल में जंगल में इन्हें रखा गया था। इसकी सूचना मिलते ही स्थानीय लोगों ने

भी वहां भीड़ लगायी थी। सूचना पाकर पहले वहां पुलिस और दमकल के लोग पहुंचे थे। पूरे

इलाके की घेराबंदी करने के बाद वहां बम स्क्वायड के लोग भी पहुंचे। इन्हीं लोगों ने बाद

में इन बमों को निष्क्रिय किया।

पुलिस के मुताबिक कोरोना काल के समय से ही यह स्कूल बंद है। पाकाटोला के इस स्कूल

के बंद होने की वजह से ही शायद इसे अपना ठिकानाबना रखा था। वहां के जंगल झाड़ से

आते जाते लोगों की नजर अचानक ही इस बड़े आकार के जार की तरफ पड़ी थी। जार के

अंदर नारंगी रंग के गेंद की शक्ल में रखे सामानों को पहचान नहीं पाने की वजह से लोगों

को संदेह हुआ था। शक के आधार पर ही लोगों ने इसकी सूचना पुलिस को दी थी। पुलिस

ने देखते ही इन जारों के अंदर बम होन का अंदाजा लगाया था। इसके बाद पूरे इलाके को

खाली कराने के बीच ही बम स्क्वायड को बुलाया गया था। बमों को निष्क्रिय करने वाले

विशेषज्ञों के पहुंचने के बाद सावधानी से उन्हें निष्क्रिय किया गया है।

बांग्लादेश सीमा के पास मिले बम के पास का स्कूल बंद है

वैसे विधानसभा चुनाव के पूर्व यहां बम बरामद होने को चुनावी तैयारियों से जोड़कर देखा

जा रहा है। बम बरामद होने के बाद भी लोगों ने चुनाव के दौरान व्यापक हिंसा होने का

अंदेशा भी फैलने लगा है। स्थानीय निवासी एनामूल शेख ने कहा कि बांग्लादेश सीमा के

इतने करीब कभी भी इतने सारे बम एक साथ बरामद नहीं किये गये हैं। जाहिर है कि

चुनाव के लिए ही इन्हें यहां एकत्रित किया गया था। इससे यह भी स्पष्ट है कि कुछ लोग

चुनाव के दौरान आतंक फैलाना चाहते हैं। प्रशासन को इस पर अधिक ध्यान देना चाहिए।

आकंदबाड़िया ग्राम पंचायत के युवा तृणमूल अध्यक्ष सीतेश मंडल ने आरोप लगाया कि

विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा की तरफ से ऐसा आतंक फैलाने की साजिश रची जा

रही है। वे किसी भी तरह आम मतदाताओं को डरा धमकाकर यह चुनाव जीतना चाहते हैं।

उनकी तरफ से चुनाव आयोग को पूरी घटना की जानकारी दी गयी है। इलाके के संसदीय

क्षेत्र यानी उत्तर मालदा के भाजपा सांसद खगेन मुर्मू ने कहा कि यह सत्तारूढ़ दल के

अपराधियों का काम है। स्थानीय स्तर पर यह राज्य सरकार कोई रोजगार तो नहीं दे पायी

है। इसलिए युवकों में बम बनाने का रोजगार बांट रही है। पिछले पंचायत चुनाव में भी

तृणमूल ने इसी तरीके से आतंक फैलाया था। उन्होंने भी इसकी शिकायत चुनाव आयोग

से करने की बात कही है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from अपराधMore posts in अपराध »
More from चुनाव 2021More posts in चुनाव 2021 »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from पश्चिम बंगालMore posts in पश्चिम बंगाल »
More from राजनीतिMore posts in राजनीति »

Be First to Comment

... ... ...
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: