fbpx Press "Enter" to skip to content

दूसरे राज्यों में फंसे लोगों को गृह मंत्रालय ने दी राहत

  • इसके लिए गाइडलाइन जारी कर दी गई है
  • प्रवासी नागरिकों के लिए लांच हुआ पोर्टल
  • कोरोना वायरस की चेन तोड़ना प्राथमिकता

नई दिल्ली: दूसरे राज्यों में फंसे लोगों को अपने घर भेजने के लिए केंद्रीय गृह मंत्रालय ने

बड़ी राहत का एलान किया है। लेकिन गृह मंत्रालय ने इस एलान के साथ साथ ही स्पष्ट

कर दिया है कि उसकी प्राथमिकता अब भी देश में कोरोना वायरस की चेन तोड़ना ही है।

इसी संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए ही आगामी तीन मई तक लॉकडाउन का एलान

किया गया है। वहीं अब लॉकडाउन के दौरान देश के विभिन्नं हिस्सों में फंसे प्रवासी

मजदूरों, पर्यटकों, छात्रों और अन्यी लोगों को गृह मंत्रालय ने बड़ी राहत दी है। राज्य

सरकार सशर्त अपने लोगों को दूसरे राज्यों में फंसे अपने लोगों को वापस ला सकती हैं।

इसके लिए गाइडलाइन जारी कर दी गई है। केंद्र से निर्देश मिलते ही कई राज्यों ने प्रवासी

नागरिकों के लिए पोर्टल लांच कर दिया है। जिस पर दूसरे राज्यों में फंसे लोग रजिस्ट्रेशन

कर सकते हैं। इसके बाद उन्हें निकालने की व्यवस्था राज्य सरकार करेगी। हालांकि कई

राज्य ऐसे हैं, जिनका पोर्टल बन रहा है, जो जल्द ही लांच हो जाएगा। आइए जानते हैं कि

क्या है ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया- फंसे हुए नागरिकों को ये जानकारी देनी जरूरी

1- नाम और स्थानीय पता 2, मोबाइल नंबर और घर पर संपर्क सूत्र, 3. किस राज्य में कहां

पर फंसे हैं 4. आधार कार्ड या अन्य कोई पहचान पत्र, जिसमें आपका पूरा पता स्पष्ट रूप

से लिखा हो 5, सरकार आपको वापस लाने के लिए वाहन की व्यवस्था करेगी लेकिन चाहें

तो आप अपने वाहन का ऑप्शन भी फार्म में चुन सकते हैं। इन शर्तों के साथ होगी घर

वापसी दूसरे राज्य से आपको निकालने से पहले आपकी पूरी तरह से जांच की जाएगी।

दूसरे राज्यो में फंसे लोगों का कोरोना मुक्त होना जरूरी है

अगर आप में कोरोना के लक्षण पाए गए तो आपको वापस आने की अनुमति नहीं दी

जाएगी। वहीं आपके फोन में अरोग्य सेतू ऐप होना आनिवार्य है। आपको वापस लाते

समय राज्य सरकार जो व्यवस्था करेगी आपको उसी से आना पड़ेगा। इस दौरान सोशल

डिस्टेंसिंग का पालन करना और मास्क पहनना अनिवार्य होगा। गंतव्य तक पहुंचने के

बाद स्थानीय स्वास्थ्य विभाग की टीम आपकी जांच करेगी। इसके बाद आपको होम

क्वारंटाइन किया जाएगा। वहीं अगर आप रजिस्ट्रेशन के वक्त कोई जानकारी छिपाते या

गलत बताते हैं तो आपके ऊपर कार्रवाई की जाएगी। इस ऐप के जरिए आपको सहायता

मिलेगी। दरअसल बुधवार को ही गृह मंत्रालय ने दूसरे राज्यों में फंसे लोगों को लाने के

निर्देश जारी किए थे। ऐसे में अभी कई राज्य पोर्टल पर काम कर रहे हैं। जल्द ही अन्य

राज्य भी लॉकडाउन में फंसे लोगों के लिए पोर्टल लांच कर देंगे।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from दिल्लीMore posts in दिल्ली »
More from लाइफ स्टाइलMore posts in लाइफ स्टाइल »

2 Comments

Leave a Reply