fbpx Press "Enter" to skip to content

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा इस जंग में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे

  • सरकार सशक्त भारत के लिए योजना बना रही है
  • आरबीआई द्वारा आज उठाए गए कदम
  • पीएम मोदी के विजन को और मजबूत करते हैं

नयी दिल्ली : केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने शुक्रवार को कहा कि मोदी सरकार कोरोना महामारी के खिलाफ जंग में

कोई कसर नहीं छोड़ रही और देश को मजबूत बनाने की योजना में लगी है।

भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा आज उठाये

गये कदमों का स्वागत करते हुए उन्होंने कहा कि अर्थव्यवस्था को मजबूत बनाने के लिए

किये गये इन उपायों से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के दृष्टिकोण को बल मिलता है।

सिलसिलेवार ट्वीट में उन्होंने कहा, ‘‘ कोरोना के खिलाफ

जंग में मोदी सरकार कोई कसर नहीं छोड़ रही है। लोगों के जीवन में कम से कम व्यवधान सुनिश्चित करते हुए वह

आने वाले दिनों में सशक्त भारत के लिए योजना बना रही है। केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि अर्थव्यवस्था की मजबूती

के लिए रिजर्व बैंक द्वारा उठाये गये कदमों से प्रधानमंत्री के दृष्टिकोण को बल मिलता है।’’ एक अन्य ट्वीट में

उन्होंने कहा,‘‘ नाबार्ड के लिए 25000 करोड़ रुपये के प्रावधान से किसानों को मदद मिलेगी, सिडबी को 15000

करोड़ रुपये के प्रावधान से एमएसएमई और स्टार्टअप को वित्तीय स्थिरता मिलेगी और मेक इन इंडिया को बल

मिलेगा। एनएचबी को 10000 करोड़ की मदद और बैंकों के लिए तरलता उपायों से भी सहायता मिलेगी।’’

उल्लेखनीय है कि रिजर्व बैंक ने शुक्रवार को रिवर्स रेपो दर में कमी करते हुए अर्थव्यवस्था में तेजी लाने के लिए कई

उपायों की घोषणा की है।

केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा मोदी सरकार हर संभव प्रयास कर रही है

अमित शाह ने कहा कि मोदी सरकार कोरोना के खिलाफ इस लड़ाई में कोई कसर नहीं छोड़ रही है, जिससे आने

वाले दिनों में एक मजबूत और स्थिर भारत को बनाते समय लोगों के जीवन में कम से कम व्यवधान सुनिश्चित हो

सके। भारतीय अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के लिए आरबीआई द्वारा आज उठाए गए कदम, पीएम मोदी के विजन

को और मजबूत करते हैं। गृह मंत्री अमित शाह ने कहा, ‘मेक इन इंडिया कार्यक्रम को बढ़ावा देने के लिए

आरबीआई ने नाबार्ड को 20,0001 क्रेडिट सुविधा देने का फैसला किया, एसआईडीबीआई को 15,0001 करने से

हमारे किसानों को बहुत मदद मिलेगी एमएसएमईएस और स्टार्ट अप्स कोबहुत आवश्यक वित्तीय स्थिरता

मिलेगी।

नेशनल बैंक फॉर एग्रीकल्चर एंड रूरल डेवलमेंट को 25 हजार करोड़

स्मॉल इंडस्ट्री डेवलमेंट बैंक ऑफ इंडिया को 15 हजार करोड़ रुपये और नेशनल हाउंसिंग बैंक को 10 हजार करोड़

की राहत मिलेगी। बैंकों पर दवाब कम करने के लिए डिविडेंड देने पर रोक भी लगा दी गई है। इतना ही नहीं एनपीए

नियमों में बैंकों को 90 दिन की राहत दी है। अमित शाह ने कहा कि मोदी सरकार कोरोना के खिलाफ इस लड़ाई में

कोई कसर नहीं छोड़ रही है, जिससे आने वाले दिनों में एक मजबूत और स्थिर भारत को बनाते समय लोगों के

जीवन में कम से कम व्यवधान सुनिश्चित हो सके। भारतीय अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के लिए आरबीआई द्वारा

आज उठाए गए कदम, पीएम मोदी के विजन को और मजबूत करते हैं।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from दिल्लीMore posts in दिल्ली »
More from नेताMore posts in नेता »
More from बयानMore posts in बयान »

Be First to Comment

Leave a Reply

... ... ...
%d bloggers like this: