fbpx Press "Enter" to skip to content

उलगड्डा पंचायत की दो नाबालिग बच्चियों के अपहरण की कोशिश

  • पुलिस की घेराबंदी देख भाग निकले अपहरण कर्ता

  • नीले रंग का कपड़ा पहना था मोटरसाइकिल चालक

  • बच्चियों को उसने एक होटल में सिंघाड़ा खिलाया

  • उसकी मोटरसाइकिल का रंग भी नीला ही था

राष्ट्रीय खबर

तेनुघाटः उलगड्डा पंचायत के दो नाबालिग बच्चियों के अपहरण की कोशिश हुई थी।

लेकिन यह साजिश विफल हो गयी। दरअसल इन दोनों बच्चियों को एक अज्ञात मोटर

साइकिल सवार द्वारा सिंघाड़ा खिलाने के नाम से अगवा करने का कोशिश की गयी थी।

वीडियो में जानिये क्या था मामला

वह मोटरसाइकिल चालक इसी क्रम में ग्रामीणों की नजर में आ गया था। ग्रामीणों ने संदेह

के आधार पर एक दूसरे को मोबाइल से आगाह करने के साथ साथ पुलिस को भी इसकी

सूचना दे दी थी। इसी सूचना पर तेनुघाट ओपी प्रभारी विजय प्रसाद सिंह सक्रिय हुए थे।

उनकी सक्रियता की वजह से पूरे इलाके की तुरंत ही नाकाबंदी भी कर दी गयी थी। समझा

जाता है कि इस नाकाबंदी की भनक अज्ञात अपहरणकर्ता को हो गयी थी। इसी वजह से

वह दोनों बच्चियों को बीच रास्ते में ही छोड़कर भाग निकला। मालूम हो कि उलगड्डा गांव

में 10 साल और 8 साल के दो बच्चियों को अपहरण कर लिया गया लेकिन पुलिस को

सूचना मिलते ही पुलिस के द्वारा चारो ओर नाकेबंदी कर वाहन की जाँच शुरू कर दी गई

जिससे अपरहण करता को मौका नहीं मिल सका जिससे बच्चे को छोड़ कर अपहरण कर्ता

भाग गया। लेकिन अपरहण करता के द्वारा बच्चे को चिनियागड्डा के एक होटल में इन

दोनों बच्चियों को सिंघाड़ा भी खिलाया गया। पुलिस द्वारा सकुशल बरामद होने के बाद

दोनों बच्चियों ने घटनाक्रम की भी जानकारी पुलिस को दी है। उनके मुताबिक

मोटरसाइकिल पर उन्हें ले जाने वाला नीले रंग का कपड़ा पहने हुए थ। उसकी

मोटरसाइकिल भी नीले रंग की ही थी।

उलगड्डा पंचायत में फैल गयी थी अपहरण की सूचना

बच्चियों को मोटरसाइकिल पर बैठाकर ले जाते वक्त जिन ग्रामीणो की नजर पड़ी थी,

उन्होंने सभी रास्तों पर नजर रखी थी ताकि कोई मोटरसाइकिल चालक दो बच्चियों के

साथ जाता दिखे तो लोगों को उसकी जानकारी हो। लेकिन इसके बीच ही शायद

मोटरसाइकिल चालक को पुलिस द्वारा नाकाबंदी किये जाने की भनक मिल गयी थी।

इसी वजह से वह दोनों बच्चियों को बीच सड़क पर छोड़कर चुपचाप अकेला ही भाग

निकला। बच्चियों की तलाश में सक्रिय पुलिस को यह दोनों बच्चियां सड़क पर मिली।

उनसे प्रारंभिक पूछताछ से उस व्यक्ति के बारे में यथासंभव जानकारी हासिल की गयी है।

अपहरण की सूचना पाकर गोमिया इंस्पेक्टर विनय कुमार, पेटरवार थाना प्रभारी विपिन

कुमार भी आनन फानन में घटनास्थल तक पहुंचे थे। वरीय अधिकारियों ने भी पूरी

स्थिति का जायजा लिया तथा दोनों बच्चियों से भी पूरी घटना की जानकारी हासिल की।

[subscribe2]

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from अपराधMore posts in अपराध »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from बोकारोMore posts in बोकारो »
More from राज काजMore posts in राज काज »
More from वीडियोMore posts in वीडियो »

One Comment

Leave a Reply

... ... ...
%d bloggers like this: