Press "Enter" to skip to content

उक्रेन के ग्रामीणों को लगता है कि शीघ्र ही युद्ध प्रारंभ होगा




नेविस्कीः उक्रेन के ग्रामीण इलाकों में अजीब किस्म की बेचैनी है। दरअसल वहां के अधिकांश लोग हाल के घटनाक्रमों को देखकर यह मान रहे हैं कि इस इलाके में शीघ्र ही बड़ा युद्ध प्रारंभ होने वाला है। स्थानीय महिला लुइडमाइला मोमोट अपने आंसू पोछते हुए इस युद्ध की आशंका को जाहिर करती हैं। दरअसल वह रुस समर्थक लोगों द्वारा उनके घर को तोड़ दिये जाने के बाद मलवे को संभालते हुए बचे खुचे सामान एकत्रित कर रही थी।




उसका गांव रुस समर्थकों के कब्जे में गये शहर डोनेटस्क के उत्तर पश्चिम में है। यह गांव शहर से करीब तीन किलोमीटर की दूरी पर है। इसी तरह अन्य इलाकों के ग्रामीण भी वहां रुस समर्थकों के आक्रामक रुख और सैनिक गतिविधियों को देख समझ रहे हैं।

इसी आधार पर वह मानकर चल रहे हैं कि शीघ्र ही उक्रेन की तरफ रुस की सेना आगे बढ़ेगी और युद्ध प्रारंभ हो जाएगा। वैसे भी इस इलाके में पहले भी युद्ध हो चुका है। वैसे रुस समर्थकों ने यहां के पांच शहरों पर कब्जा कर रखा है जबकि शेष पर अभी उक्रेन की सेना का नियंत्रण है। अनेक लोग युद्ध की आशंका की वजह से दूर चले गये हैं।




नेविस्की में भी अब सिर्फ पांच लोग बच गये हैं। उक्रेन की आजादी का समर्थन करने वालों का कहना है कि रुस समर्थक विद्रोही अक्सर ही दूसरे इलाकों पर गोलीबारी कर रहे हैं। दूसरी तरफ खबर है कि सीमा पार भी रुस की सेना बड़े वाहन और टैंक लेकर खड़ी है। वह शायद खास मौके और ऊपर के आदेश का इंतजार कर रही है।

उक्रेन के ग्रामीण इलाकों में दिन रात फायरिंग का शोर

इन सारे इलाकों में दिन के उजाले में राइफलों की फायरिंग और शाम होने के बाद तोप के गोले के चलने की आवाज सुनाई पड़ती है। तोप के गोलों की वजह से ग्रामीण इलाकों के अनेक घर ध्वस्त हो चुके हैं। इन गांवों में अब चंद लोग ही रह गये थे। शेष लोग जान बचाने के लिए अन्यत्र भाग गये हैं।

गांवों में जो लोग बच गये हैं वे भी तोप के गोलों से तबाह हुए घरों से ठंड के लिए जरूरत के सामान एकत्रित कर रहे हैं क्योंकि अब इस इलाके में भी कड़ाके की ठंड पड़ने लगी है। अप्रैल 2014 से प्रारंभ हुए तनाव में अब तक इस इलाके में चौदह हजार से अधिक लोग मारे गये हैं जबकि बीस लाख लोगों को घर छोड़कर अन्यत्र भाग जाना पड़ा है।



More from HomeMore posts in Home »
More from उक्रेनMore posts in उक्रेन »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »

One Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.
%d bloggers like this: