fbpx Press "Enter" to skip to content

दो कैदियों के दीवार फांदकर फरार होने के बाद जांच जारी

  • बेडशीट को रस्सी बनाकर लांघी दीवार

  • सुरक्षा व्यवस्था पर उठ रहे सवाल

  • सभी थाना को किया गया अलर्ट

  • शातिर अंदाज में भागे हैं कैदी

लातेहार : दो कैदियों के भाग जाने के बाद लातेहार मंडल कारा की सुरक्षा व्यवस्था को

भेदकर जेल में बंद दो कैदी शनिवार को जेल की ऊंची दीवारों को फांदकर भाग गए। जेल

से फरार होने वाले कैदियों में बालूमाथ के मासियातू निवासी दिलशाद अंसारी एवं

छतीसगढ़ निवासी विक्की कुमार राम का नाम शामिल है। जानकारी के अनुसार दोनों

कैदी बेडशीट को रस्सीनुमा बनाकर उसकी मदद से जेल की ऊंची दीवार को फांदकर फरार

हो गए। दोपहर बाद हुई इस वारदात की जानकारी मिलते ही पुलिस महकमे में हड़कंप मच

गया। जेल समेत आसपास की जानकारी के लिए एएसपी विपुल पाण्डेय के नेतृत्व में

पुलिस पदाधिकारियों की टीम मौके पर पहुंची चारों तरफ की घेराबंदी कर आवश्यक जांच

की गई, लेकिन कैदियों के बारे में कुछ भी पता नहीं चल सका।

लातेहार जेल परिसर की चारों तरफ से ऊंची-ऊंची दीवारें हैं, जिसे सामान्य ढंग से लांघने

की बात तो दूर उस पर चढ़ा भी नहीं जा सकता। साथ ही दीवार के बाहर का हिस्सा ओपेन

होने के कारण बाहर से गुजरने वालों की नजर सहज रूप से दीवार पर पड़ती रहती है।

इसका बखूबी अहसास कैदियों को रहा होगा तभी उन लोगों ने दीवार लांघने के लिए

पश्चिम दिशा की ओर रेडक्रास भवन के पीछे वाले हिस्से को चुना। ताकि यहां से भागने के

दौरान किसी राहगीर की नजर नहीं पड़ सके। इसका फायदा उठाकर यहां दोपहर के तुरंत

बाद दीवार को लांघकर दिलशाद अंसारी व विक्की राम फरार हो गए।

पुलिस पदाधिकारियों ने बताया कि भागने के लिए कैदी दिलशाद एवं विक्की ने जेल के

अंदर मौजूद बेडशीट को रस्सीनुमा बनाया और उसकी मदद से दीवार पर चढ़ने के बाद

पश्चिमी दिशा की ओर से भाग निकले।

दो कैदियों के फरार होने के बाद छापामारी तेज

लातेहार जेल से दो कैदियों के फरार होने की सूचना पर लातेहार में छापेमारी तेज कर दी

गई। इसके अलावा जिले के सभी थाना, पुलिस पिकेट और समीपवर्ती जिलों की पुलिस को

भी अर्लट किया गया। पुलिस की ओर से रेलवे स्टेशन रोड, डीही-मुरूप रोड, बस स्टैंड

समेत आसपास के इलाकों में कैदियों की धर पकड़ के लिए अभियान चलाया जा रहा था।

लातेहार जेल की सुरक्षा को लेकर पूर्व में कई बार बैठक हो चुकी है। एक पखवारा पूर्व

लातेहार उपायुक्त जिशान कमर ने बैठक की थी। बैठक में एसपी, जेल अधीक्षक,

एसडीएम समेत कारा सुरक्षा समिति के कई सदस्य उपस्थित थे। जिसमें अधूरे वाच टावर

का निर्माण अविलंब कराने का निर्देश जारी किया गया था। अब जेल से दो कैदियों के

फरार होने के बाद लोगों की ओर से सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल खड़े किए जा रहे हैं। इसमें

से एक कैदी को पकड़ लिया गया है। दरअसल दीवार फांदने के क्रम में उसे चोट लग गयी

थी। पैर टूट जाने की वजह से वह गायब नहीं हो पाया था।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from राज काजMore posts in राज काज »
More from लातेहारMore posts in लातेहार »

Be First to Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!