fbpx Press "Enter" to skip to content

मध्यप्रदेश के बड़वानी में दो तेंदुए पकड़े गये इलाका में राहत

बड़वानीः मध्यप्रदेश के बड़वानी जिले के पानसेमल वन परिक्षेत्र में आज तड़के दो अलग-अलग पिंजरों में नर तथा मादा तेंदुए गिरफ्त में आ गये।

इन्हे ग्रामीणों पर हमले के खतरे के मद्देनजर पकडा गया है।

विगत दो माह में इस क्षेत्र से 4 तेंदुए पकड़े जा चुके हैं।

सेंधवा के अनुविभागीय अधिकारी वन विजय गुप्ता ने बताया कि पानसेमल वन परिक्षेत्र के

अंतर्गत बायगोर रोड पर स्थित ग्राम भातकी के समीप स्थापित किए गए

दो पिंजरों में नर तथा मादा तेंदुआ गिरफ्त में आ गये।

उन्होंने बताया कि नर तेंदुए की उम्र करीब 8 वर्ष तथा मादा तेंदुए की उम्र 4 वर्ष है।

गुप्ता ने बताया कि दोनों तेंदुओं के पग मार्क लगातार दिखाई पड़ रहे थे।

साथ ही वे ग्राम भातकी के समीप एक मकान के आस-पास रोज आ रहे थे,

जिसके चलते ग्रामीणों पर हमला करने का खतरा बढ़ रहा था और इन्हें पकड़ना आवश्यक हो गया था।

दोनों तेंदुओं को खंडवा सर्कल के अंतर्गत ओंकारेश्वर के बखतगढ़ स्थित घने जंगलों में छोड़ा जा रहा है।

गुप्ता ने बताया कि दोनों तेंदुए क्षेत्र में लगातार जानवरों का शिकार कर रहे थे, जिससे कुछ ग्रामों के ग्रामीण चिंता ग्रस्त थे।

इसके पूर्व अगस्त तथा सितंबर माह में पानसेमल वन परिक्षेत्र के जूनापानी व बड़गोन ग्राम में

एक किशोरी व एक महिला का शिकार करने व कुछ ग्रामीणों को घायल करने वाले

दो आदमखोर तेंदुओं को गिरफ्त में लिया गया था।

मध्यप्रदेश के कई इलाकों में तेंदुओं का आतंक

बड़वानी के अलावा भी मध्यप्रदेश के जंगल से सटे इलाकों में अचानक तेंदुओं का आतंक कुछ बढ़ गया है।

अक्सर ही ऐसे तेंदुओं को आबादी के करीब देखा जा रहा है।

कुछ दिन पहले ही एक ऐसा ही तेंदुआ हमला कर कई ग्रामीणों को घायल कर चुका है।

एक अन्य मामले में एक रेस्ट हाउस के परिसर में तेंदुआ देखे जाने के बाद से सतर्कता बरती जा रही है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

2 Comments

Leave a Reply

Open chat
Powered by