fbpx Press "Enter" to skip to content

पश्चिम बंगाल की माध्यमिक परीक्षा में जुड़वा बहनों के एक बराबर नंबर

  • अलग अलग कमरे में बैठकर परीक्षा दी थी

  • अलग अलग विषयों में नंबरों का हेरफेर है

  • बड़ा होकर दोनों की इच्छा डाक्टर बनेंगे

प्रतिनिधि

मालदाः पश्चिम बंगाल की माध्यमिक परीक्षा में यहां की दो जुड़वा बहनों ने सभी को

हैरान कर दिया है। दोनों जुड़वा बहनों को परीक्षा में भी बराबर नंबर आये हैं। दोनों ने

इंटरनेट के जरिए जब अपने अपने परीक्षा परिणामों की जांच की तो पता चला कि दोनों

को 538 अंक ही आये हैं। घर और पास पड़ोस के लोगों को भी इसकी कोई वजह समझ में

नहीं आ रही है। यहां तक कि स्कूल प्रबंधन भी इस घटना से पूरी तरह हैरान है।

स्कूल की तरफ से बताया गया कि दोनों जुड़वा बहनों ने अलग अलग कमरे में बैठकर

परीक्षा दी थी। लेकिन दोनों बहनों का मानना है कि शायद दिल से एक दूसरे से बहुत करीब

होने की वजह से ऐसा हुआ है। मालदा के सिंगातला इलाके के निवासी प्रणव घोष दस्तीदार

एक सरकारी कर्मचारी हैं। वह अभी मालदा के महिला कॉलेज के हेड क्लर्क के पद पर हैं।

उनकी दोनों जुड़वा बेटियां प्राप्ति और प्रीचि मालदा गर्ल्स हाई स्कूल की छात्रा हैं। इस बार

दोनों का परीक्षा केंद्र स्थानीय कृष्णमोहन बालिका विद्यालय में था। वहां से मिली

जानकारी के मुताबिक एक बहन की सीट दोतल्ले के कमरे में थी जबकि दूसरी ने नीचे

बैठकर परीक्षा दी थी। वैसे अलग अलग विषयों में दोनों के नंबरों में अंतर होने के बाद भी

कुल अंकों का जोड़ 538 ही है। वैसे दोनों ही भविष्य में डाक्टर बनना चाहती हैं।

पश्चिम बंगाल की माध्यमिक परीक्षा के परिणाम से हैरान हैं पड़ोसी

इस घटना को लेकर पिता प्रणव घोष दस्तीदार ने कहा कि सारा जीवन दोनों इसी तरह

एक दूसरे के करीब रहें, इससे बड़ी बात और क्या हो सकती है। दोनों जुड़वा बहनों की मां

अर्चना घोष दस्तीदार इस सफलता और समानता से बहुत खुश हैं। इस समान परीक्षा

परिणाम को लेकर उनके स्कूल की प्रधानाध्यापिका सुतपा चटर्जी भी हैरान हैं। उनके

मुताबिक जुड़वा बहन होने के बाद और अलग अलग कमरों में बैठकर परीक्षा देने के बाद

एक समान अंक आना अपने आप में अजीब घटना है।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from अजब गजबMore posts in अजब गजब »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from पश्चिम बंगालMore posts in पश्चिम बंगाल »
More from शिक्षाMore posts in शिक्षा »

One Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!