Press "Enter" to skip to content

नर्क का दरवाजा बंद करना चाहता है तुर्कमेनिस्तान




आसगाबातः नर्क का दरवाजा इस क्षेत्र का नाम है। यह तुर्कमेनिस्तान का अन्यतम प्रसिद्ध पर्यटन का इलाका है। वैसे इसका नाम नर्क का दरवाजा का इलाका किसी खनन कार्य के दौरान बना था। दरअसल इस स्थान पर एक गहरे गडडे के भीतर लगातार आग जल रही है।




इसी को देखने देश विदेश के पर्यटक यहां आते रहते हैं। अब राष्ट्रपति से फिर से इसस्थान की आग को बूझाने का निर्देश जारी किया है। वैसे ऐसा प्रयास पहले भी हो चुका है लेकिन उनमें कोई सफलता नहीं मिली है।

समझा जाता है कि देश की आर्थिक हालात सुधारने के लिए तुर्कमेनिस्तान अपने गैस का निर्यात बढ़ाने केलिए ही इस आग वाले इलाके को बंद कर गैस को बचाना तथा पर्यावरण नुकसान को रोकना चाहता है। लगातार आग जलते रहने की वजह से वहां के पर्यावरण को भी काफी नुकसान होता है, ऐसा वैज्ञानिकों का आकलन है।

तुर्कमेनिस्तान में यह इलाका दरवाजा नाम से परिचित है। वहां के काराकुम रेगिस्तान के बीच नर्क का यह दरवाजा स्थित है। यह कब और कैसे बना है, इसके बारे में कोई पक्की जानकारी नहीं है। फिर भी यह देश का अन्यतम लोकप्रिय पर्यटन केंद्र अवश्य है। कहा यह भी जाता है कि वर्ष 1979 में सोवियत संघ का हिस्सा होने के दौरान एक ड्रीलिंग के दौरान यह गड्ढा बना था।




नर्क का दरवाजा शायद गैस के भंडार के ऊपर है

दूसरी तरफ वर्ष 2013 में कनाडा के वैज्ञानिक जॉर्ज कौरोनेस ने जब इसकी जांच की तो इस बात की पुष्टि नहीं हो पायी। कनाडा के वैज्ञानिक दरअसल इसकी गहराई नापना चाहते थे। अब राष्ट्रपति गुरबांगुली बेरदिमुखामेदभ इसे बंद कराना चाहते हैं।

स्थानीय लोगों के मुताबिक इस गहरे गड्डे को वर्ष 1960 में देखा गया था लेकिन इसमें आग की बात वर्ष 1980 के बाद से दर्ज की गयी है। पहले कई बार इस गहरे गड्डे की आग को बूझाने की कोशिशें हुई थी लेकिन हर बार यह सारे प्रयास विफल हो गये थे।

वैज्ञानिक अनुमान के मुताबिक नर्क का यह दरवाजा दरअसल गैस के एक विशाल भंडार के ऊपर स्थित है। अंदर से गैस निकलते रहने की वजह से ही वहां लगातार आग लगी रहती है। तुर्कमेनिस्तान के राष्ट्रपति इसी गैस के भंडार को देश की आर्थिक हालात को बेहतर करने के लिए काम में लाना चाहते है।



More from HomeMore posts in Home »
More from एक्सक्लूसिवMore posts in एक्सक्लूसिव »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from पर्यटन और यात्राMore posts in पर्यटन और यात्रा »

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.
%d bloggers like this: