Press "Enter" to skip to content

बांग्लादेश में दंगे के बाद पूर्वोत्तर के त्रिपुरा में लगी आग




गृह मंत्रालय ने पूर्वोत्तर राज्यों को किया सतर्क
त्रिपुरा में लगातार हो हैं मुसलमानों पर हमले
असम के सभी जिलों को सतर्क किया गया 
सरकार की चुप्पी पर राहुल ने किया सवाल
भूपेन गोस्वामी

गुवाहाटी : बांग्लादेश में हाल ही में हुई हिंदू मंदिरों और दुर्गा मंडपों में तोड़फोड़ और हिंसा के विरोध में विश्व हिंदू परिषद ने एक रैली का आयोजन किया था, इस दौरान त्रिपुरा जिले के चमटीला इलाके में एक मस्जिद में तोड़फोड़ की गई और दो दुकानों में आग लगा दी गई।




रैली के दौरान चमटीला इलाके में लोगों के एक समूह ने पथराव किया और एक मस्जिद के दरवाजे को क्षतिग्रस्त कर दिया। एसपी ने बताया कि सुरक्षा बल मौके पर पहुंचे और स्थिति को नियंत्रण में किया।

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि इस संबंध में एक शिकायत दर्ज कराई गई है। इस मामले में पुलिस अधीक्षक भानुपद चक्रवर्ती ने कहा कि जिले के रोवा बाजार में अल्पसंख्यक समुदाय के सदस्यों के तीन घरों को निशाना बनाया गया और कुछ दुकानों में भी तोड़फोड़ की गई।

इस घटना को देखते हुए केंद्रीय गृह मंत्रालय ने पूर्वोत्तर के सभी राज्यों को अलर्ट कर दिया है। हालांकि, भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और प्रवक्ता बैजयंत जे पांडा ने कहा कि बांग्लादेश में हिंसा के बाद कांग्रेस और टीएमसी, सीपीआई, सीपीआई-एम जैसी विपक्षी पार्टी पूर्वोत्तर में हिंदुओं और मुसलमानों के बीच लड़ने की कोशिश कर रही है।

भाजपा ने कहा है कि विपक्षी दलों ने हमेशा पूर्वोत्तर में आग लगाने की कोशिश की है। लेकिन केन्द्र सरकार ऐसा कभी नहीं होने देगी।

असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्व सरमा ने शुक्रवार को कहा कि राज्य सरकार ने सभी जिला प्रशासनों को अतिरिक्त सतर्कता बरतने और राज्य में धार्मिक अल्पसंख्यकों पर हमला नहीं होने देना सुनिश्चित करने को कहा है।

बांग्लादेश में हंगामा का असर भारत में नहीं होना चाहिए

सरमा ने यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि सभी उपायुक्तों और पुलिस अधीक्षकों को बांग्लादेश में हुई हिंसा के मद्देनजर अतिरिक्त निगरानी रखने को कहा गया है।उन्होंने कहा कि बांग्लादेश में हिंदुओं की प्रताड़ना की प्रतिक्रिया असम में नहीं होनी चाहिए और उसके लिए कानून व्यवस्था कायम रखने को लेकर पर्याप्त कदम उठाये गये हैं।

बांग्लादेश में दुर्गा पूजा उत्सव के दौरान हिंदुओं पर हुए कथित हमलों के बाद पड़ोसी राज्य त्रिपुरा में हुई हिंसा का जिक्र किये जाने पर सरमा ने कहा, ‘‘मैं दूसरे राज्य पर प्रतिक्रिया नहीं व्यक्त करूंगा। लेकिन मैं इस बात से खुश हूं कि असम में इस तरह की कोई घटना नहीं हुई है।




सरमा ने हिंसा रोकने के लिए बांग्लादेश सरकार द्वारा की गई कोशिशों की भी सराहना की। त्रिपुरा तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के अध्यक्ष आशीष लाल सिंह ने राज्य में अल्पसंख्यकों पर हालिया हमलों को लेकर राज्य भाजपा सरकार की आलोचना की है।

राज्य टीएमसी अध्यक्ष आशीष लाल सिंह ने संवाददाता से बातचीत में कहा, त्रिपुरा में लगातार हो हैं मुसलमानों पर हमले, भाजपा त्रिपुरा की संस्कृति का बलात्कार कर रही है।

सिंह ने कहा कि “त्रिपुरा, पहले कभी भी हिंदू-मुस्लिम हिंसा नहीं देखी गई। सभी समुदायों – हिंदू, मुस्लिम, ईसाई – सभी का अस्तित्व सांप्रदायिक सद्भाव और भाईचारे के साथ था लेकिन अब बीजेपी राज्य में सांप्रदायिक नफरत फैला रही है।

त्रिपुरा की हिंसा को दबा रही है राज्य सरकार

भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं पर कथित हमलों पर बोलते हुए, त्रिपुरा टीएमसी अध्यक्ष ने कहा कि भगवा पार्टी ‘गुंडागर्दी’ का सहारा ले रही है क्योंकि यह त्रिपुरा में टीएमसी के उदय से हिल गई है।

कांग्रेस के शीर्ष नेता राहुल गांधी ने त्रिपुरा में अल्पसंख्यकों पर हमलों की हालिया घटनाओं पर “बहरे और अंधे होने का नाटक” करने के लिए केंद्र और त्रिपुरा दोनों में भाजपा सरकारों की आलोचना की है।

पूर्वोत्तर राज्य त्रिपुरा में हालिया हिंसा पर सरकार की चुप्पी पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी से सवाल किया “कब तक सरकार अंधी और बहरी होने का नाटक करेगी ?

त्रिपुरा में अल्पसंख्यकों पर हो रहे हमलों की आलोचना करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि हिंदू धर्म की रक्षा के नाम पर नफरत और हिंसा फैलाने वाले असली हिंदू नहीं हैं, बल्कि पाखंडी हैं।

उन्होंने कहा कि त्रिपुरा में हमारे मुस्लिम भाइयों के साथ क्रूरता की जा रही है। राहुल गांधी ने कहा, “नफरत और हिंसा फैलाने वाले असली हिंदू नहीं, पाखंडी हैं।



More from HomeMore posts in Home »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from त्रिपुराMore posts in त्रिपुरा »

Be First to Comment

Leave a Reply

%d bloggers like this: