fbpx Press "Enter" to skip to content

ट्रैक्टर परेड प्रारंभ कई स्थानों पर टकराव की नौबत

नईदिल्लीः ट्रैक्टर परेड अपने निर्धारित समय पर प्रारंभ होने के बाद ही किसानों और

पुलिस के बीच कई स्थानों पर टकराव की नौबत बनी है। मिली जानकारी के मुताबिक

दिल्ली के मुकरबा चौक पर पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े हैं। इसके जबाव में बस में

तोड़फोड़ की भी सूचना है। इसके चलते दिल्ली के बॉर्डर सील हो गए हैं। सिंघु बॉर्डर पर

पुलिस बैरिकेड्स टूटने के बाद तनाव बना हुआ है, वहीं अन्य जगहों पर भी हंगामे के

आसार हैं। तीन कृषि कानूनों के विरोध में गणतंत्र दिवस के मौके पर किसानों की आज

ट्रैक्टर परेड हो रही है। दिए गए समय से पहले ही किसानों ने सिंघु और टिकरी बॉर्डर पर

बैरिकेड्स तोड़ दिए, जिसके कारण हंगामा मचा हुआ है। पुलिस ने इससे पहले दावा किया

था कि दिल्ली आने वाले सभी बॉर्डर सील है, लेकिन किसानों के हंगामे के चलते पुलिस के

सामने भी शांति बनाए रखना एक चैलेंज ही है। इससे पहले पुलिस ने जानकारी दी थी कि

परेड के चलते गाजियाबाद से दिल्ली में एंट्री करने वाले सभी बॉर्डर सील कर दिए गए हैं।

किसी भी बॉर्डर से दिल्ली में दाखिल होने की इजाजत नहीं होगी। वहीं किसानों के एक

समूह ने परेड के रूट पर असहमति जताते हुए अलग रूट से टैक्टर परेड निकालने की बात

कही है। इसके अलावा आनंद विहार, सूर्य नगर, अप्सरा बॉर्डर और भोपुरा बॉर्डर पूरी तरह

से सील कर दिए गए हैं। दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने किसानों के प्रदर्शन को देखते हुए

एडवाइजरी जारी की है। दिल्ली पुलिस के अनुसार वजीराबाद रोड, आईएसबीटी रोड, जीटी

रोड, पुश्ता रोड, विकास मार्ग, एन एच 24, रोड नंबर 57 और नोएडा लिंक रोड पर भारी

जाम है।

ट्रैक्टर परेड की वजह से अधिकांश मार्गों पर जाम लगा

वहीं ट्रैक्टर परेड से एक दिन पहले किसान मजदूर संघर्ष समिति ने घोषणा की है कि वह

संयुक्त किसान मोर्चा और पुलिस द्वारा तय किए गए ट्रैक्टर परेड के रूट को लेकर

सहमत नहीं है। इस समूह ने कहा है कि वे दिल्ली के बाहरी रिंग रोड पर जाएंगे। इससे

उनके पुलिस के साथ संघर्ष होने की आशंका बढ़ गई है। पुलिस ने किसानों के समूहों के

साथ बैठकों के सिलसिले के बाद सीमा पर तीन स्थानों पर मार्गों को चाक-चौबंद कर दिया

है। दिल्ली पुलिस के प्रमुख एसएन श्रीवास्तव ने कहा कि “कुछ ऐसे राष्ट्र विरोधी तत्व हैं

जो उकसाने का काम कर रहे हैं। कुछ लोग हैं जो इस किसान परेड का लाभ उठाना चाहते

हैं।” सिंघु सीमा पर किसानों ने शुक्रवार को एक युवक को हिरासत में लिया और बाद में

उसे पुलिस को सौंप दिया। उस व्यक्ति ने दावा किया कि उसे एक पुलिसकर्मी ने ट्रैक्टर

परेड को बाधित करने और विरोध प्रदर्शन को तोड़ने के लिए प्रशिक्षित किया गया था।

परेड के लिए भारी सुरक्षा इंतजाम किए गए हैं।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from कृषिMore posts in कृषि »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from दिल्लीMore posts in दिल्ली »
More from राजनीतिMore posts in राजनीति »
More from विधि व्यवस्थाMore posts in विधि व्यवस्था »

Be First to Comment

... ... ...
%d bloggers like this: