fbpx Press "Enter" to skip to content

असम और उत्तर पूर्व में कोविड-19 का कहर जारी

  • एक सांसद और दो भाजपा के विधायक भी संक्रमित

  • संक्रमण के कुल 22,287 मामले सामने आए

  • अब बड़े लोगों को पकड़ रहा है अदृश्य शत्रु

  • मरने वालों की संख्या बढ़कर 48 हो गई

भूपेन गोस्वामी

गुवाहाटी : असम और उत्तर पूर्व भारत में कोरोना वायरस संक्रमण के कुल 22,287

मामले सामने आए हैं।पूर्वोत्तर भारत में असम में सबसे अधिक कोविड -19 मामले हैं,

जिसके बाद त्रिपुरा का स्थान है। असम में अब कोविड-19 से मरने वालों की कुल संख्या

36 हो गई  है। असम के स्वास्थ्य मंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने एक ट्वीट में लिखा है कि

“असम में पिछले 24 घंटों में कोविड-19 के 735 नए मामले सामने आये हैं जिनमें 400

मामले गुवाहाटी के हैं. इस समय राज्य में कोरोना संक्रमित मरीज़ों की कुल संख्या

16,806 है। असम में सोमवार को कोविड-19 से एक पुलिसकर्मी समेत आठ लोगों की मौत

हो गई जिसके बाद राज्य में इस महामारी से मरने वालों की संख्या बढ़कर 37 हो गई है।

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री हेमंत विश्व सरमा ने यह जानकारी दी। उन्होंने कहा

कि गुवाहाटी मेडिकल कालेज और अस्पताल में सात मरीजों की मौत हो गई और

आईआईटी- गुवाहाटी में स्थापित कोविड-19 केंद्र में एक मरीज ने दम तोड़ दिया। उल्लेख

है कि,स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट के अनुसार असम में एक सांसद और दो विधायक भी

कोरोनो वायरस से संक्रमित हुए हैं। जेल में बंद असमिया आरटीआई कार्यकर्ता, कृषक

मुक्ति संग्राम समिति के दो नेताओं के साथ अखिल गोगोई और लोकसभा सांसद और

ऑल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट के राष्ट्रीय अध्यक्ष मौलाना बदरुद्दीन अजमल और

उनके छोटे भाई सिराजुद्दीन अजमल, जो पूर्व सांसद थे, कोरोनोवायरस से संक्रमित हुए हैं।

असम भाजपा के विधायकों बोलिन चेतिया और कृष्णेंदु पॉल ने भी कोरोनोवायरस से

संक्रमित हुए हैं। इससे पहले दिन की शुरुआत में सरमा ने कोविड-19 से चार मरीजों की

मौत होने की जानकारी दी थी। असम में अब तक कोरोना वायरस संक्रमण के कुल

16,806 मामले सामने आ चुके हैं जिनमें से 5,700 मामले गुवाहाटी से सामने आए हैं।

असम और उत्तर पूर्व में कई स्थानों पर पूर्ण लॉक डाउन

असम के गुवाहाटी में कोरोनो वायरस के बढ़ते प्रभाव के मद्देनजर 12 जुलाई से 19 जुलाई

तक लॉकडाउन लगाया गया है। इस बाबत असम के मुख्य सचिव कुमार संजय ने ट्वीट

कर कहा कि कामरूप जिले में कोविड 19 के बड़े पैमाने पर प्रसार के कारण पूर्ण रूप से

लॉकडाउन लगाई जा रही है। यहां के लिए नए दिशानिर्देश 12 जुलाई से 19 जुलाई के बीच

के लिए जारी कर दिए गए हैं। पूर्वोत्तर के अन्य राज्यों मिज़ोरम, मणिपुर और अरुणाचल

प्रदेश ने भी कोरोना से निपटने में काफी अच्छी भूमिका निभा रहे हैं। इन राज्यों में कोरोना

मरीज़ों की संख्या देश के अन्य राज्यों की तुलना में बहुत कम है। यहां संक्रमित लोगों में

करीब सभी बाहरी राज्यों से लौटे हैं।बता दें कि असम के स्वास्थ्य मंत्री हिमंत बिस्वा

सरमा ने कहा था कि स्वास्थ्य विभाग ने एक सप्ताह के लिए गुवाहाटी में पूर्ण लॉकडाउन

के विस्तार की मांग की थी। राज्य सरकार ने नागरिक समिति के साथ चर्चा की। इस

दौरान तालाबंदी का प्रस्ताव रखा गया था ।असम में 38,अरूणाचल प्रदेश तथा मेघालय में

दो-दो व्यक्ति की, त्रिपुरा में एक-एक व्यक्ति की मौत कोरोना वायरस संक्रमण के कारण

हुई. स्वास्थ्य मंत्रालय का कहना है कि संक्रमण के कारण मरने वाले लोगों में से 70

फीसदी से अधिक मरीज अन्य बीमारियों से भी पीड़ित थे। असम में संक्रमण के 16,806

मामले,त्रिपुरा में, 1,582 मामले मणिपुर में, 1,272 मामले ,नगालैंड में कोविड-19 के 732

मामले, अरूणाचल प्रदेश में 335 मामले, मिजोरम में 226 मामले, मेघालय में 207 मामले

और सिक्किम में संक्रमण के 134 मामले अब तक सामने आए हैं।

संक्रमण की चपेट मे आने वाले अधिकांश दूसरे राज्यों से

मिजोरम में कोरोना वायरस के कुल 186 मामले सामने आए हैं, जिनमें 130 मरीज पूरी

तरह ठीक हो चुके हैं। नए मरीजों में असम, बिहार, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, पंजाब, जम्मू एंड

कश्मीर, केरल, मणिपुर और झारखंड से लौटे हैं। मणिपुर में अब तक 1325 मामले दर्ज

किए गए हैं। जबकि 667 मरीज ठीक हुए हैं। असम से सटे मणिपुर के जिरीबाम जिले में

सरकार ने 15 जुलाई तक लॉकडाउन घोषित कर दिया है। अरुणाचल प्रदेश में भी 6 जुलाई

से राजधानी ईटानगर और नाहरलागुन शहर में एक हप्ते तक के लिए लॉकडाउन की

घोषणा की गई है।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from असमMore posts in असम »
More from कोरोनाMore posts in कोरोना »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »

Be First to Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!