fbpx Press "Enter" to skip to content

कांग्रेस की सर्वोच्च कमेटी की बैठक में कृषि कानूनों को समाप्त करने की मांग

  • राष्ट्रीय सुरक्षा पर सरकार की चुप्पी हैरान करने वाली

  • आरोप सीधे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर लगाया

  • अर्णव गोस्वामी प्रकरण पर संसदीय जांच हो

  • गरीबों को भी देश में मुफ्त वैक्सिन मिले

दिल्ली: कांग्रेस की सर्वोच्च नीति निर्धारक संस्था कार्य समिति ने सरकार से किसान

आंदोलन खत्म करने के लिए कृषि संबंधी तीनों कानून खत्म करने, बालाकोट हवाई हमले

की सूचना लीक होने की घटना की संसद की संयुक्त समिति से जांच कराने तथा देश के

गरीब तथा कमजोर वर्ग के लोगों को निश्चित समय के भीतर निशुल्क कोविड टीका

लगाने की मांग की है। कांग्रेस के संगठन महासचिव के सी वेणुगोपाल तथा संचार विभाग

के प्रमुख रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कार्य समिति की बैठक के बाद शुक्रवार को यहां पार्टी

मुख्यालय में संवाददाता सम्मेलन में कहा कि कार्य समिति में तीन प्रस्ताव पारित किए हैं

और कहा है कि किसानों के हित में सरकार को तत्काल कृषि विरोधी तीनों कानून वापस

लेने चाहिए और दिल्ली की सीमाओं पर दो माह से चल रहे किसान आंदोलन को खत्म

करना चाहिए। समिति ने बालाकोट हवाई हमले की जानकारी लीक होने पर गहरी चिंता

जताई और कहा कि इस संवेदनशील सूचना के लीक होने से राष्ट्रीय सुरक्षा के साथ

खिलवाड़ हुआ है और इस पूरे प्रकरण की संसद की संयुक्त समिति(जेपीसी) से एक

निश्चित समय सीमा के भीतर जांच करायी जानी चाहिए और दोषियों को कड़ी सजा दी

जानी चाहिए। समिति ने इस पूरे प्रकरण पर सरकार की चुप्पी को हैरान करने वाला

बताया और कहा कि देश को खतरे में डालने की इस साजिश से हर स्थिति में पर्दा उठना

चाहिए। उन्होंने कहा कि कार्य समिति ने दो महीने से दिल्ली की सीमाओं पर चल रहे

किसानों के आंदोलन को खत्म करने के लिए कृषि विरोधी तीनों कानूनों को वापस नहीं

लेने पर गहरी निराशा जताई और कहा कि सरकार की किसान आंदोलन से जुड़े किसानों

को थकाने एवं भटकाने की कोशिश करना तथा आंदोलनकारी किसानों पर आंतकवादी

होने का आरोप लगाना निंदनीय है।

कांग्रेस की सर्वोच्च कमेटी की बैठक के बाद प्रेस वार्ता की

श्री वेणुगोपाल ने कहा कि देश का अन्नदाता तीनों कृषि कानूनों को खत्म करने की मांग

को लेकर आंदोलन कर रहा है और इस दौरान कई किसान शहीद भी हो चुके हैं लेकिन

सरकार असंवेदनशील तथा गूंगी-बहरी बनी हुई है और उनकी बात मानने को तैयार नहीं

है। किसानों के साथ वार्ता के 11 दौर हो चुके हैं और बातचीत का रास्ता निकालने के बहाने

उनको थकाया जा रहा है। कार्य समिति ने कहा कि सरकार को किसानों को गुमराह नहीं

करना चाहिए और उनकी मांग स्वीकार करके तीनों कृषि विरोधी कानून खत्म करने

चाहिए।

किसानों के साथ तो कांग्रेस पहले से ही है

श्री वेणुगोपाल ने कहा कि कांग्रेस किसानों के मुद्दे पर पहले से ही उनके साथ है। कार्य

समिति ने कहा है कि किसान विरोधी तीनों कानून देश के अन्नदाता के हितों को नकारते

हैं और चंद पूंजीपतियों को फायदा पहुंचाते हैं इसलिए पार्टी किसानों के समर्थन में अगले

माह ब्लॉक, जिला तथा प्रदेश स्तर पर प्रदर्शन करेगी तथा सरकार पर इन तीनों काले

कानूनों को खत्म करने का दबाव बनाएगी। उन्होंने कहा कि कार्य समिति में बालाकोट

हवाई हमले की सूचना लीक होने पर गहरी चिंता व्यक्त की गयी और सरकार से इस

मामले में चुप्पी साधने की कड़ी निंदा की गयी। समिति ने कहा कि यह राष्ट्रीय सुरक्षा से

जुड़ा मामला है और इसमें पूरी तरह से राष्ट्रीय सुरक्षा के विरुद्ध बड़ा षडयंत्र हुआ है। यह

साफ है कि सर्वोच्च पदों पर बैठे लोगों ने यह सूचना लीक की है और प्रथम दृष्टया यही

लगता है कि यह सूचना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा लीक की गयी है। पार्टी ने कहा कि

इस गंभीर मुद्दे की जेपीसी से जांच कराई जानी चाहिए। समिति ने कोविड टीका रिकॉर्ड

समय पर तैयार करने के लिए देश के वैज्ञानिकों की सराहना की और कहा कि सरकार इस

टीके का इस्तेमाल करने में अक्षम साबित हो रही है। यह टीका पूरे देश की आबादी को

सस्ती दर पर कैसे लगे इसकी पुख्ता व्यवस्था की जानी चाहिए और इसकी कीमत को

लेकर पारदर्शिता बरतते हुए देश के गरीब तथा कमजोर तबके के लोगों को इसे निशुल्क

लगाया जाना चाहिए।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from देशMore posts in देश »
More from बयानMore posts in बयान »
More from रक्षाMore posts in रक्षा »
More from राजनीतिMore posts in राजनीति »

2 Comments

... ... ...
%d bloggers like this: