fbpx Press "Enter" to skip to content

तृणमूल के प्रत्याशी उदयन गुहा पर हुआ दिनदहाड़े हमला

कूचबिहारः तृणमूल के प्रत्याशी रहे उदयन गुहा पर अपराधियों ने दिनहाटा शहर में बीच

सड़क पर जानलेवा हमला किया। लोगों की भीड़ के जुट जाने से अपराधी भाग निकले।

इस हमले में श्री गुहा का हाथ टूट गया है। स्वाभाविक तौर पर इस हमले के पीछे भाजपा

का हाथ होने का आरोप भी लगा है। गुरुवार की दोपहर बीच सड़क पर हुए इस हमले में

उनके दो सुरक्षा कर्मी और गाड़ी का ड्राइवर भी घायल हुआ है। खबर के प्रसारित होने के

बाद स्वाभाविक तौर पर इलाके में फिर से तनाव का माहौल बन गया है। मिली जानकारी

के मुताबिक तृणमूल के प्रत्याशी रहे उदयन गुहा अपनी गाड़ी से 4 नंबर वार्ड के व्यायज

क्लब के इलाका से गुजर रहे थे। इसी दौरान अचानक उनकी गाड़ी पर यह हमला हुआ है।

उन्हें बचाने में दोनों सुरक्षाकर्मियों के सर भी फट गये हैं। इस खबर के फैलने के बाद आस

पास के तृणमूल समर्थक भागे भागे वहां पहुंचे।श्री गुहा को दिनहाटा अस्पताल ले आने के

बाद उनका ईलाज प्रारंभ हुआ। बाकी घायलों का ईलाज भी इसी अस्पताल में चल रहा है।

यहीं पता चला कि हमले में श्री गुहा का हाथ टूट गया है। तृणमूल के प्रत्याशी पर हमले की

खबर पाकर टीएमसी नेता रविंद्र नाथ घोष भी वहां पहुचे। श्री घोष ने कहा कि इस हमले

की खबर मुख्यमंत्री तक पहुंची है और उन्होंने तृणमूल प्रत्याशी के स्वास्थ्य की जानकारी

ली है। श्री घोष ने कहा कि हमलोग शुरु से ही कह रहे थे कि दरअसल भाजपा ने अपराधियों

की जमात को एकत्रित कर रखा है। अब धीरे धीरे भाजपा का यह चरित्र लोगों के सामने आ

रहा है।

तृणमूल के प्रत्याशी के हाथ की दो हड्डी टूटी है

डाक्टरों ने बताया है कि तृणमूल प्रत्याशी रहे उदयन गुहा के दाहिने हाथ की दो हड्डी टूटी

है। इसके अलावा उनके शरीर के अन्य हिस्सों में भी चोट लगी है। उन्हें हार्ट की बीमारी है।

इसलिए अब उन्हें बेहोश कर हाथ का ऑपरेशन किया जाएगा लेकिन बेहतर चिकित्सा

सुविधा के लिहाज से उन्हें कोलकाता ले जाने पर भी विचार किया जा रहा है। तृणमूल

कांग्रेस के कूचबिहार जिलाध्यक्ष पार्थप्रतिम राय ने कहा कि पहले से ही भाजपा के खेमे में

किस किस्म के अपराधी जुट रहे हैं, यह दिखने लगा था। अब वोट होने के बाद भाजपा का

यही चेहरा खुलकर सामने आ रहा है। इसके पहले ही शीतलकूचि और चिड़ियाखाना इलाके

में दो तृणमूल समर्थकों की हत्या की गयी है। इसके अलावा भाजपा के अपराधी पूरे इलाके

में बार बार दंगा लगाने की पुरजोर कोशिश कर रहे हैं। दूसरी तरफ भाजपा की जिलाध्यक्ष

मालती राभा ने इन सारे आरोपों को खारिज कर दिया है। उन्होंने कहा है कि किसी भी

हिंसा के साथ भाजपा का कोई रिश्ता नहीं है। चुनाव परिणामों से स्पष्ट हो गया है कि

तृणमूल प्रत्याशी उदयन गुहा काफी अधिक मतों से पराजित हुए हैं। इसलिए यह हो

सकता है कि यह पूरा घटनाक्रम ही तृणमूल की आपसी गुटबाजी का परिणाम हो।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from अपराधMore posts in अपराध »
More from एक्सक्लूसिवMore posts in एक्सक्लूसिव »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »

Be First to Comment

... ... ...
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: