तीन संदिग्ध कश्मीरियों को पुलिस ने लिया हिरासत में

तीन संदिग्ध कश्मीरियों को पुलिस ने लिया हिरासत में
Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  • मुख्यालय के निर्देश पर विशेष शाखा के अधिकारी हुए सतर्क

  • आईबी के अफसरों की टीम भी पूछताछ के लिए पहुंची

दीपक नारंगी

भागलपुर : तीन संदिग्ध कश्मीरियों के पकड़े जाने के बाद बिहार का पुलिस मुख्यालय तक सतर्क हो गया है।

भागलपुर कोतवाली पुलिस ने बाइक चेकिंग के दौरान इन तीनों को हिरासत में लिया है।

पुलिस खुफिया विभाग के अधिकारी और स्पेशल ब्रांच के अधिकारी तीनों से कोतवाली थाने में पूछताछ की है।

पूछताछ के दौरान एक कश्मीरी ने बताया कि गाजियाबाद गोलंबर यूनिवर्सिटी से उन्होंने पढ़ाई की है।

पुलिस ने श्रीनगर के अनंतनाग जिले के असमुकाम थाना क्षेत्र के एमआर के सलिया इलाके के यासिर रसूल शेख व उसके बड़े भाई शबसार अहमद शेख और मनीग्राम सिरकालीन, अनंतनाग निवासी इत्तेफाक आलम शेख को पकड़ा है।

पूरे मामले को लेकर आईबी के डीएसपी और पुलिस इस्पेक्टर और स्पेशल ब्रांच के सीनियर अधिकारी कोतवाली थाना पुलिस इस्पेक्टर केदारनाथ सिंह और डीएसपी राजवंश सिंह ने तीनों से पूछताछ की है।

कोतवाली पुलिस इस्पेक्टर केदारनाथ सिंह तीनों को सीनियर एसपी आशीष भारती के कार्यालय लेकर गए जहां तीनों संदिग्ध कश्मीरियों से पूछताछ की गई।

तीन युवकों के मोबाइल से मिला हैं कई संदिग्ध फोटो

पूछताछ के दौरान पुलिस और खुफिया विभाग ने तीनों का मोबाइल जांच के लिए लिया है।

मोबाइल में कई संदिग्ध फोटो पुलिस और खुफिया विभाग को मिली है।

जिसमें कई युवक कश्मीर के क्षेत्र में एके-47, एके-57 सहित अत्याधुनिक हथियारों से लैस होकर खड़े हैं।

पुलिस और खुफिया विभाग के अधिकारियों ने फोटो के सत्यता जानने का प्रयास शुरू कर दिया है।

वे लोग कश्मीर एवं अन्य जिलों से भी कश्मीरियों की गतिविधि को लेकर इनपुट इकट्ठा कर रहे हैं।

ततारपुर के निजी लॉज में लिए हुए हैं शरण

यासिर रसूल अपने साथियों के साथ ततारपुर के एक निजी लॉज में रुका हुआ है।

अफरोज लॉज का मालिक है। उसने पुलिस को बताया है कि वे लोग पिछले कई वर्षों से कंबल व शॉल बेचने भागलपुर आते रहे हैं।

जिस मोटरसाइकिल से वे पकड़े गये, वह सुभाष मिश्र की है।

सुभाष ने बताया कि कश्मीरी कंबल देने के लिए पिछले कई वर्षों से उनके यहां आ रहे हैं।

वह ठंड के कपड़े इन से खरीदते थे और उनसे कोई ताल्लुकात नहीं है

सुभाष मिश्रा ने बताया कि मोटरसाइकिल उनकी खराब थी जिसके कारण अपने मित्र संजीत सुमन की मोटरसाइकिल इन लोगों को इसलिए दिए

उन्होंने कहा कि रेलवे स्टेशन से हावड़ा ट्रेन से एक महिला से बाकी की रकम लेकर आनी है।

जैसे ही रेलवे स्टेशन गए तो मोटरसाइकिल को नो पार्किंग में लगा दिया गया।

जिसके कारण जीआरपी रेल की पुलिस मोटरसाइकिल को नो पार्किंग लगाने के लिए जुर्माना कर दिया।

थाना के सब इंस्पेक्टर भूपेंद्र को हुआ था शक

जिसका जुर्माना कोतवाली थाना में देना था कोतवाली थाना में 2009 बैच के सब इंस्पेक्टर भूपेंद्र कुमार को शक हुआ।

उसके बाद उसके मोबाइल की जांच हुआ जिसमें आधुनिक हथियार की तीन फोटो थी।

उसके बाद तुरंत सीनियर एसपी आशीष भारती को इसकी सूचना दी गई।

सीनियर एसपी आशीष भारती ने तुरंत इसकी सूचना पुलिस मुख्यालय को दी उसके बाद से जांच शुरू हो गई।

हिरासत में लिये गये लोगों ने बताया है कि एक विधायक से करीब आठ सालों से संपर्क है।

उसके यहां ठंड के कपड़े और कमल दिया करते हैं।

एसडीपीओ समेत कई अधिकारी पदाधिकारियों को भी कंबल देते हैं।

उन लोगों का यही पेशा है।

वे लोग हर वर्ष ठंड के मौसम में भागलपुर में कारोबार के सिलसिले में आते हैं।

यहां रहकर भी कश्मीर से कंबल मंगा कर बेचते हैं।

मुख्यालय कश्मीरियों से पूछताछ को लेकर अलर्ट है।

कश्मीरियों से पूछताछ का अपडेट ले रहा है।

खुफिया विभाग, स्पेशल ब्रांच और पुलिस ने मुख्यालय को प्रारंभिक रिपोर्ट भेज दी है।

खुफिया अधिकारियों के मुताबिक अभी तक कश्मीरियों का कोई आतंकी कनेक्शन नहीं मिला है।

पुलिस और सभी खुफिया विभाग के अधिकारी आतंकी कनेक्शन के बिंदुओं पर जांच कर रहे हैं।

व्हाट्सएप पर तस्वीरों के फोन रिकॉर्ड चेक किए जा रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.