Press "Enter" to skip to content

झारखंड में त्रिस्तरीय पंचायतों की अवधि विस्तार पर विचारः आलमगीर आलम

रांचीः झारखंड में त्रिस्तरीय पंचायतों के कार्यालय की अवधि को एक बार फिर छह महीने

के लिए बढ़ाने पर विचार किया जा रहा है। राज्य के ग्रामीण विकास तथा संसदीय

कार्यमंत्री आलमगीर आलम ने रविवार को पत्रकारों से बातचीत में कहा कि पंचायतों का

कार्यकाल बढ़ाने के लिए राज्य सरकार जल्द ही अध्यादेश लाने जा रही है। ग्रामीण

विकास मंत्री ने बताया कि दिसंबर 2020 में राज्य सरकार ने कोरोना संक्रमणकाल के

कारण चुनाव नहीं होने की स्थिति के कारण त्रिस्तरीय पंचायतों का कार्यकाल छह महीने

के लिए बढ़ाने का निर्णय लिया था। यह अवधि 15 जुलाई को समाप्त हो रही है, लेकिन

अभी कोविड-19 संक्रमण के कारण चुनाव नहीं हो पाया है, इस कारण पंचायतों का विकास

बाधित ना हो और काम होता रहे, इसके लिए अध्यादेश लाकर एक बार फिर से कार्यकाल

को छह महीने के लिए बढ़ाने का निर्णय लिया जा सकता है। मंत्री आलमगीर आलम ने

उम्मीद जाहिर कि स्थिति सामान्य होने के बाद आगामी दिसंबर महीने के अंतिम सप्ताह

में राज्य में पंचायत चुनाव का कार्य संपन्न करा लिया जाएगा। उन्होंने उम्मीद जतायी

कि आगामी 20-21 दिसंबर तक त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव संपन्न हो जाने के बाद फिर से

तीसरी बार कार्यकाल को बढ़ाने की जरुरत नहीं पड़ेगी।

झारखंड में त्रिस्तरीय व्यवस्था विस्तार कोरोना की वजह से

गौरतलब है कि झारखंड में त्रिस्तरीय पंचायतों का कार्यकाल जनवरी में ही समापत हो

गया था। इसके बाद केंद्र सरकार से अनुमति लेकर पंचायतों का कार्यकाल अगले छह

महीने के लिए कमेटियों के हवाले किया गया था और अभी लॉकडाउन जारी रहने के

कारण पंचायतों का कार्यकाल बढ़ाना ही एकमात्र उपाय बचा है। मीडिया के द्वारा उठाए

गए मंत्रिमंडल के विस्तार पर उन्होंने कहा कि यह पूरा अधिकार मुख्यमंत्री के क्षेत्र में

आता है और जहां तक उन्हें मालूम है ऐसी कोई भी सुगबुगाहट दूर दूर तक नहीं है, अगर

कभी ऐसी बात होगी तो आप लोगों को जरूर बताया जाएगा।

Spread the love
More from HomeMore posts in Home »
More from चुनावMore posts in चुनाव »
More from झारखंडMore posts in झारखंड »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from बयानMore posts in बयान »

Be First to Comment

... ... ...
error: Content is protected !!