fbpx Press "Enter" to skip to content

भाजपा के तीन मुख्यमंत्री बतायें कि जनहित में क्या कियाः कांग्रेस

  • जनादेश पांच साल का है इसलिए दोनों सीटें जीत रहे हैं

राष्ट्रीय खबर

रांचीः भाजपा के तीन मुख्यमंत्री इस विधानसभा उपचुनाव में सक्रिय नजर आये हैं।

इनलोगों ने अनेक किस्म की बातें कही हैं। लेकिन इन तीनों को यह बताना चाहिए कि

अपने मुख्यमंत्री रहते हुए उन्होंने झारखंड के फायदे में क्या किया है। झारखंड प्रदेश

कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे, लाल किशोर नाथ शाहदेव,डा राजेश गुप्ता

छोटू एवं निरंजन पासवान ने कहा है कि बेरमो और दुमका विधानसभा उपचुनाव में यूपीए

प्रत्याशियों की जीत का दावा किया है एवं कहा कि चुनाव का परिणाम महज एक

औपचारिकता है,क्योंकि पिछले वर्ष 2019 में संपन्न हुए विधानसभा चुनाव में क्षेत्र की

जनता ने पांच सालों के लिए जनादेश दिया था, लेकिन इस बीच दिवंगत राजेंद्र प्रसाद सिंह

के आकस्मिक निधन के कारण बेरमो में उपचुनाव कराना पड़ा,वहीं संवैधानिक बाध्यता

के कारण दुमका सीट को मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन द्वारा छोड़ना पड़ा था। चुनाव संपन्न

होने के बाद कांग्रेस भवन में आयोजित संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए प्रदेश

कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे ने कहा कि कोरोना संक्रमणकाल में राज्य

सरकार के कामकाज पर उठाने वाले प्रदेश भाजपा के तीन वरिष्ठ नेता और पूर्व मुख्यमंत्री

बाबूलाल मरांडी, रघुवर दास और अर्जुन मुंडा ने जनता के हित के लिए क्या काम

किया,पहले उन्हें यह बताना चाहिए। बाबूलाल मरांडी और रघुवर दास समेत अन्य भाजपा

नेता जहां पूरे लॉकडाउन में अपने घर में बंद रहे और उपचुनाव में बाहर निकल कर गाली-

गलौज तथा असंसदीय भाषा का प्रयोग करना छोड़ कर कोई दूसरा काम नहीं किया। वहीं

भाजपा के तीसरे पूर्व मुख्यमंत्री इन दिनों केंद्र में मंत्री है,लेकिन वे भी समय-समय पर

झारखंड में घूमने आते है और फिर वापस दिल्ली लौट जाते है।

भाजपा के तीन सीएम में से एक तो केंद्र में भी मंत्री हैं

यहां तक तक उनके मंत्रालय की ओर से भी राज्य के आदिवासियों के विकास के लिए कोई

ऐसा काम नहीं किया गया, जिससे लोगों को फायदा मिल सके। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता लाल

किशोरनाथ शाहदेव ने कहा कि उपचुनाव में दुमका और बेरमो की जनता ने अपने घरों से

निकल कर देश की लोकतांत्रिक व्यवस्था को मजबूत करने का काम किया है, पार्टी इसके

लिए तमाम मतदाताओं के प्रति आभार व्यक्त करती है।किशोर शाहदेव ने तीनों पूर्व

मुख्यमंत्री नकारे जाने के बाद जनता के बीच किस मुंह से जायेंगे यह भी सुनिश्चित कर

लें। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता राजेश गुप्ता छोटू ने कहा कि यह उपचुनाव महज दो विधानसभा

सीटों के लिए हुआ, लेकिन यह चुनाव पूरे राज्य के मतदाताओं के मिजाज को दर्शाता है।

जिस तरह से भाजपा नेताओं-कार्यकर्त्ताओं में मतदान के अंतिम समय तक बौखलाहट

देखी गयी, उससे यह साफ हो जाता है कि दोनों ही सीटों पर झारखंड मुक्ति मोर्चा और

कांग्रेस उम्मीदवार की जीत होगी।

[subscribe2]

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from नेताMore posts in नेता »

2 Comments

... ... ...
%d bloggers like this: