fbpx Press "Enter" to skip to content

आबादी में घुस गया जंगली भैंसा खूब मचाया तोड़-फोड़

अलीपुरदुआरः आबादी में अचानक आज सुबह जंगली भैंसा देखकर लोग भी हैरान हो

गये। जब तक लोग कुछ समझ पाते लोगों को देखकर जंगली भैंसा भड़क उठा। वैसे भी

जिन्हें जंगली जानवरों की जानकारी हैं, उन्हें पता है कि जंगली भैसा आम तौर पर किसी

हमलावर प्राणी को करीब देखकर अचानक ही अधिक हमलावर हो जाता है। अफ्रीका के

जंगलों में कई बार सिंहों के झूंड पर जंगली भैसों के जवाबी हमले में शेरों के मारे जाने के

वीडियो भी मौजूद हैं।

इस वीडियो में देखिये कैसे जंगली भैसा ने शेर को मार डाला

अपनी मजबूत सीग की वजह से वह किसी भी जानवर को हवा में उछाल देते हैं और

जमीन पर पटकने के बाद सींग के मार डालते हैं। ऐसे ही प्राणी का सुबह होते ही आबादी में

नजर आना हैरानी की बात थी। वैसे आबादी में जंगली भैंसा घुस जाने की एक मात्र घटना

नहीं है। बाद में इस बात की जानकारी मिली कि बक्सा टाईगर प्रोजेक्ट के जंगल से तीन

जंगली भैंसा, जिन्हें बाइसन कहा जाता है, अचानक कस्बाई इलाकों तक चले आये। आज

सुबह शामुकतला ग्राम पंचायत के गाडोकोटाल और लोहारडांगी इलाके के लोगों को जागने

पर अपने अपने इलाके में यह जंगली भैंसे नजर आये। अचानक से लोगों की भीड़ नजर

आने के बाद यह जंगली जानवर उत्तेजित हो गये। इस वजह से इन तीनों ने अलग अलग

स्थानों पर घरों में काफी तोड़ फोड़ की।

आबादी में इनके रहने तक घरों मे दुबके रहे लोग

कुछ घरों के बाहर ही बाइसन मौजूद होने की वजह से घरों के लोग अंदर ही दुबके रहे।

काफी देर बाद सूचना पाकर वन विभाग के लोग वहां पहुंचे। तीनों जंगली भैसा को नींद के

इंजेक्शन वाली गोली से काबू में किया गया। वन विभाग के लोग उन्हें अपने साथ ले गये

हैं। उनकी जांच के बाद उन्हें फिर से जंगल में छोड़ दिया जाएगा। इसके पहले भी कई

अवसरों पर जंगली भैसे चरते हुए अथवा रास्ता भटककर भी आबादी के इलाके में चले

आते हैं। कुछ मामलों में भी नाराज भैसों के आगे पड़ने वाले लोग घायल भी हुए हैं। हर बार

उन्हें बेहोश करने वाली दवा की गोली मारकर बेहोश करने के बाद फिर से चंगा कर जंगलों

में छोड़ दिया जाता है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from अजब गजबMore posts in अजब गजब »
More from एक्सक्लूसिवMore posts in एक्सक्लूसिव »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from पर्यावरणMore posts in पर्यावरण »

4 Comments

... ... ...
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: