fbpx Press "Enter" to skip to content

भारत- म्यांमार सीमा के पास आतंकवादी हमले में तीन जवान शहीद

  • उग्रवादियों ने घात लगातार किया हमला छह अन्य घायल

भूपेन गोस्वामी

गुवाहाटी: भारत-म्यांमार सीमा के पास मणिपुर में सेना के जवानों पर घात लगाकर

हमला किया गया है। इस हमले में सेना के तीन जवान शहीद हो गए, जबकि 8 जवान

गंभीर रूप से घायल हो गए हैं। घटना बुधवार रात करीब सवा एक बजे राजधानी इंफाल से

करीब 95 किलोमीटर की दूरी पर चंदेल जिले में हुई। यह पहाड़ी इलाका है। भारत-म्यांमार

सीमा पर उग्रवादी समूहों के खिलाफ ऑपरेशन के दौरान 4 असम राइफल्स के तीन जवान

शहीद हो गए। जवानों पर घात लगाकर उग्रवादियों ने हमला बोला था। इस हमले में 6

जवान की हालत गंभीर हैं। जिन्हें इंफाल पश्चिम जिले के मिलिट्री अस्पताल में भर्ती

कराया गया है। सूत्रों का कहना है कि मणिपुर के स्थानीय उग्रवादी समूह पीपुल्स

लिबरेशन आर्मी ने हमले को अंजाम दिया है। सेना की ओर से उग्रवादियों की तलाश में

सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है। इसके साथ ही भारत-म्यांमार सीमा पर चौकसी बढ़ा दी

गई है। पिछले साल नवंबर में चंदेल जिले में ही असम राइफल्स के कैंप पर उग्रवादियों ने

हमला किया था। उग्रवादियों ने सैन्य कैंप में बम फेंके थे। इसके बाद दोनों ओर से

गोलीबारी हुई थी. इसके बाद उग्रवादी नजदीक की पहाड़ी में भाग गए थे। इस हमले में

सेना का कोई भी जवान हताहत नहीं हुआ था।चाकपिकारोंग के एक पुलिस अधिकारी ने

बताया कि असम राइफल्स की टीम अपने खोंगताल स्थित अपने बेस पर लौट रही थी।

भारत-म्यांमार सीमा पर आइईडी विस्फोट से हमला

तभी एक जोरदार आइईडी धमाका हुआ और भयंकर आग लग गई।जान गंवाने वाले

जवानों की पहचान असम निवासी हवलदार प्रणय कालिता, नागालैंड निवासी राइफलमैन

मेथा कोन्याक और मणिपुर के रहने वाले राइफलमैन रतन सलाम के रूप में हुई है।

मणिपुर में पिछले तीन सालों में हुआ यह सबसे बड़ा हमला है।घात लगाकर हमला करने

के बाद हमलावर मौके से फरार हो गए। हमलावरों को पकड़ने के पूरे इलाके में सर्च

ऑपरेशन चालू कर दिया।पूरे इलाके को सील कर दिया गया है और तलाशी ली जा रही है।

इसके साथ ही सुरक्षा के मद्देनजर भारत-म्यांमार सीमा पर भी चौकसी बढ़ा दी गई है।

अधिकारियों ने बताया कि आतंकियों ने आइईडी ब्लास्ट करने के बाद जवानों पर

फायरिंग भी की थी। दूसरी ओर, मिजुरम में चंपई जिले में जोखावतार से असम राइफल्स

द्वारा एक तलाशी अभियान में भारी मात्रा में अवैध एयर राइफल का स्कोप बरामद किया

गया। असम राइफल्स की रिपोर्ट के अनुसार, अवैध एयर राइफल स्कोप विदेशी मूल के थे,

जिसमें बुशनेल, ल्यूपोल्ड और मार्कोल शामिल थे, जिनकी कीमत लगभग 50 लाख रुपये

थी। असम राइफल्स ने 29 जुलाई को एक तलाशी अभियान में, चंबाई जिले में सामान्य

क्षेत्र जोखावतार से लगभग 50 लाख रुपये मूल्य की बुशनेल, ल्यूपोल्ड और मार्कोल को

शामिल करने के लिए विदेशी मूल के अवैध एयर राइफल स्कोप की भारी मात्रा में बरामद

किया, “असम राइफल्स ने देर से बुधवार रात को कहा कि इलाके का नाकेबंदी और तलाशी

अभी जारी है।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from आतंकवादMore posts in आतंकवाद »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from मणिपुरMore posts in मणिपुर »
More from म्यांमारMore posts in म्यांमार »
More from रक्षाMore posts in रक्षा »

Be First to Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!