fbpx Press "Enter" to skip to content

हजारों की संख्या में ग्रामीण पहुंचे जंगली हाथियों के झुंड देखने

  • घाघरा बुदकूटोली जंगल पहुंचा 22 जंगली हाथी

  •  शोरशराबे से तंग आकार धान की फसल को बर्बाद किया

  •  जंगली हाथी को परेशान ना करें ग्रामीणः रेंजर रामाशीष सिंह

  •  लोगों की हरकतों से नाराज हो रहा है हाथियों का यह झूंड

संवाददाता

बेड़ो: हजारों की संख्या में ग्रामीण पहुंचे बेड़ो प्रखंड के घाघरा बुदकुटोली जंगल में 22

जंगली हाथियों के झुंड पहुंचने से आसपास गांवों के लोगों में भय का माहौल उत्पन्न हो

गया है। घाघरा बुदकूटोली पहुंचे 22 जंगली हाथियों का झुंड चान्हो प्रखंड के खरता, बेयासी

के बाद करकरी, सेरो, मुड़कट्टी, पाण्डेयपारा, खुखरा जंगल होते हुए जंगली हाथियों का झुंड

शुक्रवार की सुबह 7:00 बजे के आसपास बुदकू टोली स्थित जंगल पहुंचा। इधर बुदकूटोली

जंगल के पास 22 हाथियों के झुंड पहुंचने की खबर के बाद बेड़ो प्रखंड समेत आसपास कई

गांवो के लोग 22 जंगली हाथियों के झुंड देखने को लेकर बुदकूटोली जंगल पहुंचे। अंतिम

समाचार मिलने तक जंगली हाथियों का झुंड ईटाचिल्दरी गांव पहुंच चुका था । इस दौरान

जंगली हाथियों को देखने पहुंचे ग्रामीणों के झुंड ने जंगल के चारों ओर घिरकर खूब हल्ला

गुल्ला करते हुए जंगली हाथियों को देखने का लुफ्त उठाएं। इधर 22 जंगली हाथियों के

झुंड बेड़ो प्रखंड पहुंचने की सूचना स्थानीय ग्रामीणों द्वारा वन विभाग को दी गई। 

सूचना पाकर वन विभाग ने ग्रामीणों को समझाने की कोशिश की

वन विभाग के पदाधिकारियों व कर्मचारियों तथा समाजसेवी सुरेंद्र लोहरा ने घाघरा

स्थित बूदकूटोली जंगल पहुंचकर लोगों को खूब समझाया कि ग्रामीण जितना हो सके

जंगली हाथियों से दूरी बनाकर रखें। जिससे जंगली हाथियों का झुंड बगैर किसी तरह के

हानि किए हुए गांव से दूर निकल जाए। जंगली हाथी समाचार लिखे जाने तक घाघरा के

जंगल में अपना डेरा बसाए हुए हैं। उधर प्रखंड में 22 जंगली हाथियों के झुंड पहुंचने के बाद

वन विभाग के वनपाल अधिकारी रामाशीष सिंह ने कहा कि घाघरा जंगल पहुंचे 22 जंगली

हाथियों के झुंड को गांव से दूर वन विभाग के कर्मियों द्वारा खदेड़ा जा रहा है। वन विभाग

के कर्मी दो टीम बनाकर बम फटाका से लैस होकर लगातार जंगली हाथियों पर नजर

बनाए रखे हैं। जंगली हाथियों से ग्रामीणों को डरने की कोई बात नहीं है। जंगली हाथी

जंगल में ही रहने की जीव है ग्रामीण जंगली हाथी को परेशान ना करें जंगली हाथी भी

ग्रामीणों को परेशान नहीं करेगा।

हजारों की संख्या में भीड़ देखकर हाथी भी उत्तेजित हो गये

उधर जंगली हाथियों के झुंड को देखने पहुंचे ग्रामीणों के झुंड ने जंगली हाथी को जंगल के

इधर से उधर हल्ला गुल्ला करते हुए खूब खदेड़ा। जिससे जंगली हाथियों का झुंड ग्रामीणों

के शोर शराबा से विचलित होकर जंगली हाथी बुदकूटोली जंगल से बाहर निकल कर खेत

में लगे धान के फसल को रौंदकर कर बर्बाद कर दिया। ग्रामीण जंगली हाथियों को जंगल

में ही शांत रहने देते तो जंगली हाथी जंगल में ही रहकर जंगल के रास्ते ही अपने मंजिल

तक निकल जाती। लेकिन नासमझ ग्रामीणों से परेशान जंगली हाथी जंगल से निकलकर

धान के फसल में खूब तांडव किया। जिससे मंटू उरांव नामक व्यक्ति के 1 एकड़ खेत में

लगे धान के फसल बर्बाद हो गए।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from HomeMore posts in Home »
More from झारखंडMore posts in झारखंड »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from पर्यावरणMore posts in पर्यावरण »
More from रांचीMore posts in रांची »

One Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!