Press "Enter" to skip to content

इस साल झारखंड में हजारों शिक्षकों की नियुक्तियां होगीं

  • शिक्षकों के पद सृजन का प्रस्ताव बनकर तैयार

  • पहली बार झारखंड में नये शिक्षकों की बहाली

  • दूसरे विभागों के भी रिक्त पदों को भरने की तैयारी

राष्ट्रीय खबर

रांचीः इस साल झारखंड में सिर्फ शिक्षकों की ही हजारों नियुक्तियां होने वाली हैं। सरकारी

स्कूल में शिक्षकों के 26 हजार पद बढ़ाये जाएंगे। इसके तहत 13 हजार नये शिक्षकों की

बहाली भी होगी। लिहाजा यह माना जा सकता है कि हेमंत सोरेन की घोषणा के मुताबिक

वाकई यह वर्ष झारखंड के लिए बहालियों का ही वर्ष होगा। मिली जानकारी के मुताबिक

छठी से आठवीं तक के शिक्षकों के पद सृजन का प्रस्ताव बनकर तैयार हो चुका है। शिक्षा

विभाग की कोशिश है कि अपर प्राइमरी स्कूलों के पदों को 40 हजार तक ले जाया जाए।

इस साल राज्य सरकार छठी से आठवीं कक्षाओं के लिए 26 हजार शिक्षकों के पद बढ़ाने

की तैयारी कर रही है। इनमें से 13 हजार पद प्राइमरी स्कूलों के शिक्षकों की प्रोन्नति से भरे

जाएंगे जबकि शेष 13 हजार पदों पर नई नियुक्ति होगी। झारखंड बनने के बाद पहली बार

अपर प्राइमरी स्कूलों के शिक्षकों के पद बढ़ाने की कार्रवाई शुरू हुई है। स्कूली शिक्षा एवं

साक्षरता विभाग ने यह प्रस्ताव तैयार कर लिया है। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन भी कह चुके हैं

कि इस साल राज्य के लिए नियुक्तियों का वर्ष होगा। प्रस्ताव में कहा गया है कि अपर

प्राइमरी स्कूलों में 10 हजार पद हैं। सरकार इन्हें 36 हजार तक ले जाना चाहती है, क्योंकि

ऐसे स्कूलों की संख्या 12 हजार हैं। हर स्कूल में 3 विषयों भाषा, विज्ञान, समाज अध्ययन

के शिक्षकों का होना अनिवार्य है। ऐसे में 36 हजार शिक्षक हाेने चाहिए। शिक्षा विभाग इसे

ध्यान में रख शिक्षकों के पद बढ़ाने की कार्रवाई कर रहा है। प्राइमरी स्कूलों के उत्क्रमण के

बाद यहां पर छात्रों की संख्या तो बढ़ी, लेकिन शिक्षकों की संख्या जस की तस रही।

शिक्षकों की संख्या बढ़ाने का प्रस्ताव बनकर तैयार

रिटायरमेंट के कारण भी शिक्षकों की संख्या घटती गई। शिक्षा विभाग की कोशिश है कि

अपर प्राइमरी स्कूलों के पदों को 40 हजार तक ले जाया जाए। अगर पदवर्ग समिति ने इस

पर सहमति नहीं दी तो प्राइमरी स्कूलों के पदों में कटौती की सिफारिश भी की जा सकती

है। ये पद अपर प्राइमरी में जोड़े जा सकते हैं। शिक्षा विभाग को उम्मीद है कि इस प्रस्ताव

को दो महीने के अंदर मंजूरी मिल जाएगी। फिर इसके बाद नियुक्ति और प्रोन्नति की

प्रक्रिया शुरू की जाएगी।

इस साल की संयुक्त रक्षा सेवा की परीक्षा हुए 13 केंद्रों पर

रांचीः रांची के 13 केंद्रों में सीडीएस (संयुक्त रक्षा सेवा) परीक्षा आयोजित की गई।

यूपीएससी द्वारा आयोजित यह परीक्षा तीन पालियों में हुई। प्रथम पाली की परीक्षा 9 से

11 बजे तक चली। वहीं, द्वितीय पाली दोपहर 12 से 2 बजे व तृतीय पाली की परीक्षा

दोपहर 3 से शाम 5 बजे हुई। बता दें कि इस दौरान कोविड नियमों का पालन करना

अनिवार्य है। इन परीक्षा केंद्रों पर कदाचार मुक्त वातावरण में परीक्षा के आयोजन को

लेकर पुलिस बल एवं पुलिस पदाधिकारियों के साथ दंडाधिकारियों की प्रतिनियुक्ति की

गई है। साथ ही विधि व्यवस्था भंग ना हो इसके लिए अनुमंडल दंडाधिकारी सदर रांची

द्वारा परीक्षा केंद्रों के 200 मीटर की परिधि में निषेधाज्ञा जारी की गई थी।

Spread the love
More from HomeMore posts in Home »
More from कामMore posts in काम »
More from झारखंडMore posts in झारखंड »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from राज काजMore posts in राज काज »
More from शिक्षाMore posts in शिक्षा »

Be First to Comment

... ... ...
Exit mobile version