इस गांव में कई लोग लगातार छह दिनों तक सोते रह गये

इस गांव में कई लोग लगातार छह दिनों तक सोते रह गये

मॉस्कोः इस गांव में लोगों के आचरण ने वैज्ञानिकों को हैरत में डाल दिया था। सबसे बड़ी

बात यह थी कि वहां के कई लोग लगातार छह दिनों तक सोते पाये गये थे। इसके अलावा

भी लोग अपनी आंखों के सामने सोते और जागते हुए अजीब किस्म के भयानक दृश्य

देखकर परेशान हो रहे थे। लगातार तीन साल तक ऐसा क्रम जारी रहने के बाद किसी तरह

यह बात बाहर आयी। यह गांव कजाखीस्तान का है। गांव का नाम है कालची। वहां के

हर उम्र के लोगों में यह बीमारी देखने को मिली। जांच प्रारंभ हुई तो पहले तो इसके कारणों

का कुछ पता ही नहीं चल पाया। वर्ष 2012 से 2015 तक इस परेशानी को झेलने वाले इस

गांव के लोगों की कुल आबादी मात्र 160 है। इस छोटे से गांव में लोगों का जीवन आचरण

भी काफी बदल गया था। कोई जागते हुए अपने सामने सफेद रंग का सांप देखता था तो

कोई अपने सामने से घोड़ा उड़ते हुए देखता था। इसके लिए लोगों में भोजन करने की

इच्छा की कमी होने लगी थी। साथ ही शारीरिक तौर पर वे कमजोर भी होते जा रहे थे।

वैज्ञानिकों ने जब इस गांव में जाकर इसकी जांच प्रारंभ की तो कोई वैसा कारण ही समझ

में नहीं आया, जिसकी वजह से पूरे गांव को ऐसा होता हो। इसी वजह से इस रोग का नाम

स्लिपी दिया गया था। काफी शोध के बाद इसके असली कारणों का खुलासा हो पाया है।

इस गांव के स्लिपी रोग का कारण वैज्ञानिको ने खोज निकाला

लगातार इस मामले को जांच रहे वैज्ञानिकों ने पाया कि गांव के पास स्थित एक यूरेनियम

की खदान का विषैला जल ही गांव के पेय जल के स्रोत से मिल गया था। इसी वजह से गांव

में कॉबन मोनो ऑक्साइड की मात्रा सामान्य से दस गुणा अधिक बढ़ गयी थी। इसी वजह

से लोग इस किस्म की परेशानियां से जूझ रहे थे। खतरे का पता चलने के बाद इस गांव के

लोगों को वहां से दूर हटा लिया गया। वहां से दूर चले जाने के बाद सारे गांव वाले धीरे धीरे

पूरी तरह स्वस्थ्य हो चुके हैं।

Spread the love

Rkhabar

... ... ...
error: Content is protected !!
Exit mobile version