fbpx Press "Enter" to skip to content

सारा इलाका पानी पानी, पर बिन पानी प्यासे है गेतलसूद बस्ती के लोग

अनगड़ा : सारा इलाका पानी पानी, प्रखंड के गेतलसूद पंचायत में लघु ग्रामीण जलापूर्ति

योजना के तहत बने 8000 लीटर पानी क्षमता वाला जलमीनार अब शोभा की वस्तु बन

कर रह गया है। करीब 5 वर्ष पूर्व लोगों को स्वच्छ व साफ पानी मुहैया कराने के उद्देश्य से

लाखों रुपए की लागत से उक्त जल मीनार का निर्माण कराया गया था। 6 माह तक तो

सब कुछ ठीक-ठाक रहा। इस दरम्यान लोगों को पानी भी सुचारू रूप से मिल रहा था।

परंतु विगत 4 वर्षों से पेयजल व स्वच्छता विभाग की लापरवाही के कारण जलमीनार

स्वयं पानी के लिए तरस रहा है। ग्रामीणों की माने तो जलमीनार में आने वाले छोटे मोटे

खर्चे को वे लोग आपस में ही पैसा इकट्ठा कर ठीक कराते रहें है। ग्रामीण छोटे गोस्वामी

नोगेंन गोस्वामी बाल्मीकि गोस्वामी आदि ने बताया कि पेयजल विभाग को जलमीनार

ठीक करा कर पानी की सप्लाई चालू कराने के लिए आवेदन भी दिया। जलमीनार

ठीक कराने के नाम पर विभागीय अधिकारियों द्वारा सिर्फ आश्वासन की घुट्टी ही पिलाई

जाती रही है। मुखिया के प्रति खासा गुस्सा – जानकारी के बावजूद जलमीनार ठीक कराने

को लेकर मुखिया हेमंत महतो द्वारा पहल नहीं किया जा रहा है। इससे ग्रामीण बेहद

नाराज है। ग्रामीणों द्वारा समस्या से कई बार अवगत कराने के बावजूद उनका ध्यान इस

ओर नहीं गया। ऐसा प्रतीत हो रहा है जैसे उन्हें अब जन समस्याओं से कोई मतलब नहीं

रह गया। केवल अपनी सुविधा अनुसार ही काम करने में उन्हें दिलचस्पी है।

सारा इलाका जलमीनार में गड़बड़झाला की बू आने लगी है

क्या कहते है मुखिया – संवाददाता द्वारा पूछे जाने पर मुखिया हेमंत महतो ने कहा कि

नये जेई ने पदभार नही लिया है। इस वजह से दिक्कत हो रही है। जहां तक ग्रामीणों की

बात है तो उनका गुस्सा होना जायज है। जलमीनार ठीक कराने को लेकर वे खुद लगे हुए

है। बहुत जल्द जलमीनार को ठीक कर लिया जाएगा।


गड़बड़झाला का जलमीनार – बने जलमीनार में गड़बड़झाला की बू आने लगी है। सौर ऊर्जा

से संचालित जलमीनार से लोगों को पेयजल मुहैया कराना उद्देश्य है। परंतु गांव में

जलमीनार अपने इस उद्देश्य से फेल हो गई है। कारण चाहे जो भी हो कहीं सोलर तो कहीं

नल तो कहीं टंकी मीनार से गायब है। ग्रामीणों के मुताबिक कई जगह नल व अन्य

सामानों में गुणवत्ता का घोर अभाव है।


 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from झारखंडMore posts in झारखंड »
More from रांचीMore posts in रांची »

Be First to Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!