fbpx Press "Enter" to skip to content

रिम्स निदेशक के बंगले में होगा लालू यादव का इलाज, जल्द ही किये जायेंगे शिफ्ट

  • तीन संतरी और पेइंग वार्ड के कैंटीन कर्मी मिले पॉजिटिव

रांची : रिम्स के पेइंग वार्ड से जल्द ही राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव को रिम्स

निदेशक के बंगले में शिफ्ट किया जायेगा। उसके बाद लालू का इलाज रिम्स निदेशक

के बंगले में ही किया जायेगा। बता दें कि लालू प्रसाद यादव के चिकित्सक डॉ उमेश

प्रसाद ने रिम्स प्रबंधन को सुरक्षा की दृष्टि से लालू को कहीं दूसरी जगह में शिफ्ट करने

को लेकर आवेदन किया था, जिसके बाद रिम्स प्रबंधन ने इसकी सूचना जेल प्रशासन

को दी है। जेल प्रशासन से अनुमति मिलने के बाद लालू यादव को रिम्स निदेशक के

बंगले में शिफ्ट कर दिया जायेगा। डॉ डीके सिंह के जाने के बाद से निदेशक का बंगला

खाली है। अभी लालू यादव जिस पेइंग वार्ड में है उसके पहले तल्ले को छोड़कर सभी

में कोविड वार्ड बना दिया गया है। इसके अलावा जहां लालू टहलते हैं उधर भी कोविड

मरीजों को रखा गया है। लालू प्रसाद यादव की सेवा में लगे तीन संतरी पहले ही

पॉजिटिव निकल चुके हैं। लालू प्रसाद यादव जिस पेंइंग वार्ड में हैं वहां के कैंटीन कर्मी

भी पॉजिटिव मिले हैं। जिससे लालू यादव पहले ही डरे हुए है। इससे पहले कि लालू

यादव तक संक्रमण पहुंचे, रिम्स प्रबंधन उन्हें पेइंग वार्ड से शिफ्ट करना चाहता है।

रिम्स निदेशक का बंगला अबतक है खाली

रिम्स के पूर्व निदेशक डॉ डीके सिंह के जाने के बाद से रिम्स के निदेशक का बंगला

खाली है। वर्तमान की प्रभारी निदेशक डॉ मंजू गाड़ी अपने पुराने आवास में ही रहती

हैं। अब रिम्स प्रबंधन निदेशक के खाली बंगले में लालू यादव को शिफ्ट कराने की पूरी

तैयारी कर चुका है जहां लालू यादव का अच्छे से इलाज किया जा सके। बता दें कि जब

लालू यादव के तीन सेवादार पॉजिटिव मिले थे, उस वक्त लालू यादव के भी कोरोना

टेस्ट के लिए सैंपल लिया गया था। जांच में उन सबकी रिपोर्ट निगेटिव आयी थी।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
More from झारखंडMore posts in झारखंड »
More from ताजा समाचारMore posts in ताजा समाचार »
More from देशMore posts in देश »
More from नेताMore posts in नेता »
More from रक्षाMore posts in रक्षा »
More from रांचीMore posts in रांची »
More from राज काजMore posts in राज काज »
More from विधि व्यवस्थाMore posts in विधि व्यवस्था »

Be First to Comment

Leave a Reply

error: Content is protected !!